कोरोना प्रकोप पर SECL की चिंता.. बताया..प्रबंधन पीड़ितों के साथ..अब तक 21 करोड़ से अधिक का योगदान..

बिलासपुर— छत्तीसगढ़ में कोविड-19 के खिलाफ एसईसीएल प्रबंधन ने अलग अलग कार्य क्षेत्रों में कुल 21.01 करोड़ रूपए का योगदान दिया है। एसईसीएल ने प्रदेश में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए चिंता जाहिर की है। साथ ही आपदा को देखते हुए हर स्तर पर पीड़ितों के साथ प्रबंधन ने खड़े होने का फैसला किया है।
 
                 एसईसीएल प्रबंधन ने एलान किया है कि वह कोरोना पीड़ितों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। प्रबंधन अपनी जिम्मेदारियो को इस दौरान ना कवल निभा रहा है बल्कि यथा संभव मदद करते हुए कोरोना के खिलाफ अभियान भी चला रहा है। प्रबंधन से मिली जानकारी के अनुसा एसईसीएल ने अलग-अलग कार्यों और क्षेत्रों में अब तक कुल 21.01 करोड रुपयों की वित्तीय सहायता दी है। इसमें छत्तीसगढ़ राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को कोविड-19 के उन्मुलन के लिए दिए गए 10 करोड़ रूपए भी शामिल हैं। इसके अलावा बिलासपुर और अंबिकापुर में कोविड चिकित्सा केंद्र स्थापित करने 8.27 करोड रुपए का योगदान जु़ड़ा है।
 
           एसईसीएल प्रबंधन से मिली जानकारी के अनुसार एसईसीएल ने कोरबा, सूरजपुर, बलरामपुर, अनूपपुर, शहडोल, उमरिया और बिलासपुर जिला प्रशासन को कुल 1.75 करोड रुपए का अनुदान दिया है। इसमें हर जिला प्रशासन को 25 लाख रुपए का वित्तीय सहयोग भी दिया गया था। साथ ही, बिलासपुर में कोविड-19 क्वॉरेंटाइन सेंटर निर्माण के लिए 24.34 लाख का अतिरिक्त वित्तीय सहयोग भी दिया गया।
 
                 कोरबा जिले में कोविड-19 के मरीजों के उपचार के लिए दीपका, कोरबा, कुसमुंडा क्षेत्र के सीएसआर मद से क्षेत्रवार 25-25 लाख रूपए  दिए हैं। एसईसीएल ने संकल्प लिया है कि कोविड-19 के रोकथाम और उपचार में  शासन और पीड़ितों के साथ खड़ा रहेगा है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...