शिकार करने वाले ही शिकार हो गए..8 मछुआरों पर गिरी लाकडाउन की गाज.. नदी में घुसकर पकड़ रहे थे मछली

बिलासपुर—- अजब संयोग है..गए थे मछली का शिकार करने..और खुद पुलिस का शिकार हो गए। खबर कुछ इस तरह है कि गुरूवारी की दोपहर 8- 9 लोग मछली का शिकार करने अरपा नदी गए। लेकिन सरकंडा पुलिस की निगाहों से नहीं बच पाए। मतलब सभी मछुआरे पुलिस का शिकार हो गए। सरकंडा पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर 188 के तहत कार्रवाई की है। कार्रवाई के बाद शहर में जमकर चर्चा है कि अब किसी प्रकार की  नाफरमानी बर्दास्त नहीं की जाएगी। सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्एप (NEWS)ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

                 सरकंडा पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गुरूवार की दोपहर कुछ 8-9 लोग अलग अलग स्थानों में मछली मारने नदी में घुसे। इस दौरान किसी भी मछुआरे के मुंह मास्क नहीं लगाना पाया गया। सभी लोग बिना जानकारी दिए घर से मछली मारने नदी आए थे। जबकि निर्देश के अनुसार जरूरत पड़़ने पर ही घर से निकलने की छूट है। 

               इसके बाद पुलिस ने अलग स्थानों से कुल 8 लोगों को गिरफ्तार कर महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई की है। पकड़े गए आरोपियों के नाम तीजराम पिता कुशल राम जबड़ापारा, गोपी कश्यप पिता रामअवतार कश्यप जबड़ापारा, भुवनेश्वर पिता भगोला बंसोड़ा मोहल्ला लिंगियाडीह, राजकुमार पिता बाबूलाल जबड़ापारा,नारायण पिता जनक राम जबड़ापारा, परदेशी पिता शिवचरण बंसोड़ मोहल्ला लिंगियाडीह, सुखदेव साहू पिता बलीराम साहू चांटीडीह, मनहरण लाल पिता जनकराम निवासी जबड़ापारा है। 

             सरकंडा थानेदार ने बताया कि सभी लोगों ने शासन के निर्देशों की अनदेखी की है। इससे कोरोना वायरस फैलने की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है। सभी आरोपियों के खिलाफ महामारी एक्ट के तहत अपराध दर्ज कि गया है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...