प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष अटल ने कहा.. आंशिक राहत से जनजीवन को मिली संजीवनी..लेकिन रहना होगा सावधान

प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव
बिलासपुर–प्रदेश उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने लॉक डाउन  में ढील आशिंक राहत दिए जाने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को धन्यवाद दिया है। कांग्रेस कार्यालय से जारी प्रेस नोट में अटल श्रीवास्तव ने बताया कि मुख्यमंत्री ने प्रशासन , स्वास्थ्य सेवा से जुड़े सभी स्टॉप, सामाजिक संस्थाओं को और छत्तीसगढ़ की जनता को भी धन्यवाद दिया है।
 
               लाकडाउन मे आशिक राहत दिए जाने पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने सीएम के प्रति आभार जाहिर किया है। अटल ने कहा कि सीएम और सरकार की सजकता से कोरोना वायरस महामारी के दौरान बेहतर व्यवस्था के चलते छत्तीसगढ़ में किसी भी प्रकार की जन हानि नही हुई। शासन प्रशासन  और जनता के प्रयास से विषम परिस्थितियों का सामना करते हुए हमें हालत से  बाहर निकलने में आशातीत सफलता मिली है। जिसके कारण शासन ने 20 अप्रैल से लॉक डाउन में ढील देने  की घोषणा की है। 
 
          अटल ने कहा कि लाकडाउन के चलते गांव और शहरी क्षेत्रों में छोटे छोटे व्यवसायियो ,लघु ,कुटीर,मध्यम उद्योगों को,मजदूर , फल सब्जी के कारोबारियों और किसानों को  मनरेगा में काम करने वाले,बिजली,कूलर रिपेयरिंग,जैसे कामो में जुड़े लोगों को आर्थिक क्षति हो रही थी। रबी फसल को भारी क्षति हो रही थी । 
 
                 छत्तीसगढ़ में कोरबा ज़िले को छोड़कर शेष सभी ज़िले में हालात धीरे धीरे सामान्य हो रहे हैं। सब कुछ केंद्र सरकार की गाइड लाइन के अनुसार है। इस बात को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ सरकार ने सोशल डिस्टेंसिनग का पालन करते हुए लॉक डाउन में ढील देकर बड़ी राहत दी है। ग्रामीण क्षेत्रो में मनरेगा , ईंट भट्ठे , निर्माण  कार्य, वनोत्पाद संग्रहण ,बिक्री, दूध, फल, सब्जी जैसे ग्रामीण संसाधनों में काम करने की अनुमति दी गयी है।
 
                 इसीप्रकार शहरी क्षेत्रों में भी किराना दुकान,राशन दुकान,डेयरी, पोल्ट्री,मछली पालन,चारा ,एलेक्ट्रिसियन,आई टी ,मोटर पार्ट्स, जैसे अनेक कार्यो को खोलने की अनुमति दी गई है।  जिससे लोगो को काम मिलेगा,उद्योगों में उत्पादन शुरू हो जाएगा। निश्चित रूप से छत्तीसगढ़ को आर्थिक रूप से मजबूती मिलेगी ।
 
             अटल ने कहा  इस छूट के साथ हम सब की जिम्मेदारी है कि शासन के गाइड लाइन का पालन सख्ती से करें। क्योकि अभी भी कोरोना वायरस की संकट के बादल मंडरा रहे हैं। थोड़ी सी भी लापरवाही घातक साबित हो सकती है।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...