लोको पायलट समूह ने किया जंग का एलान

बिलासपुर– आल इंडिया लोको रनिंग स्टाफ एसोसिएशन जोनल इकाई ने सातवें वेतनमान को लेकर अपना विरोध प्रदर्शन किया है। लोको पायलट एसोसिएशन के अनुसार यदि केन्द्र सरकार सातवें वेतनमान में विसंगतियों को दूर नहीं करती है तो इसका गंभीर परिणाम भुगतना होगा। लोकोपायलट प्रदर्शनकारियों ने आज लिखित शिकायत महाप्रबंधक के सामने पेश कर अपना आक्रोश जाहिर किया है।

                         केन्द्र सरकार के सातवें वेतनमान को लेकर धीरे-धीरे विरोध के सुर फूटने लगे हैं। लोको पायलट एसोसिएशन के नेताओं ने बताया कि उनके वेतन में जितना इजाफा किया गया है वह अपर्याप्त है। उन्होंने बताया कि वेतन में  14 प्रतिशत की बढ़ोतरी कोई मायने नहीं रखती है।

                   एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी वी. के. तिवारी ने बताया कि केन्द्र ने जो सातवां वेतनमान का खाका तैयार किया है वह तर्कसंगत नहीं है। इसमें वरिष्ठता और वेतन को एक ही प्लेटफार्म लाकर खड़ा करने का प्रयास किया गया है। तिवारी ने बताया कि अलग-अलग केटेगरी के चालकों, सहायक-चालकों को एक ही समूह का वेतन और भत्ता दिया जाना उचित नहीं है।

                 तिवारी ने बताया कि यदि केन्द्र सरकार इन खामियों को दूर नहीं करती है। या हमारी मांगो को नजरअंदाज करती है। तो हम लोग आंदोलन के रास्ते पर चलने को मजबूर होंगे। तिवारी ने बताया कि यदि आवेदन प्रतिवेदन के बाद भी सरकार अपने निर्णय से हटने को तैयार नहीं है तो लोको पायलट एसोसिएशन 14 दिसम्बर से दिल्ली में भूख हड़ताल पर बैठेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *