एल बी संवर्ग शिक्षकों को प्रधान पाठक पद पर मिले प्रमोशन, टीचर्स एसोसिएशन ने कहा – 22 हजार प्राइमरी स्कूलों में हेड मास्टर पद 15 साल से खाली

राज्य शासन ,संतान पालन अवकाश,प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा,छत्तीसगढ़ पंचायत न नि शिक्षक संघ,

बिलासपुर।छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा ने बताया है कि रायपुर संभाग में 5072, बिलासपुर संभाग में 4690, दुर्ग संभाग में 4269, बस्तर संभाग में 3648, सरगुजा संभाग में 4032 के करीब शासकीय प्राथमिक शाला में प्रधान पाठक नही है।विडम्बना यह भी है कि की इन स्कूलो में 15 वर्षो से प्रधान पाठक नही है, पूर्व के शासकीय शिक्षको के पदोन्नति के बाद शिक्षा विभाग ने इन पदों को भरने गंभीरता से प्रयास ही नही किया।इन शालाओ में सहायक शिक्षक ही प्रधान पाठक के दायित्व का निर्वहन कर रहे है, इससे प्राथमिक शाला के अध्यापन व प्रशासनिक व्यवस्था भी कमजोर हुआ है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

2009 में तत्कालीन राजपत्र के आधार पर पद पूर्ति का प्रयास किया गया, किन्तु भर्ती की पेचीदगी के कारण रायगढ़ व बलौदाबाजार में भर्ती के बाद मामला न्यायालय में विवादित हुआ।दरअसल पूर्व में प्रधान पाठक का पद 100% पदोन्नति का ही होता था, जिसमे सहायक शिक्षको को वरिष्ठता के आधार पर जिला शिक्षा अधिकारी पदोन्नति करते थे, 2009 में फीडर केडर की अस्पष्टता से विवाद बढ़ा, जिससे मामला विवादित हुआ है।वर्तमान भर्ती व पदोन्नति नियम 2019 में भी प्रधान पाठक प्राथमिक शाला के पद 100% पदोन्नति से ही भरा जाना है, जिसमे सहायक शिक्षक एल बी संवर्ग की ही पदोन्नति होगी, क्योकि पूर्व के सहायक शिक्षक शेष नही है।

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन ने प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा व संचालक लोक शिक्षण संचालनालय रायपुर को ज्ञापन प्रेषित कर कहा है कि भर्ती व पदोन्नत्ति हेतु प्रकाशित राजपत्र में पदोन्नत्ति हेतु 05 वर्ष का अनुभव अनिवार्य किया गया है, एल बी संवर्ग का संविलियन 01 जुलाई 2018 से हुआ है, चूंकि शिक्षक, पंचायत/ नगरीय निकाय में रहते हुए शासकीय शालाओ में कार्यरत थे, अतः पंचायत/ नगरीय निकाय के कार्य अनुभव को जोड़कर कुल सेवा अवधि की गणना करते हुए जुलाई 2018 से संविलियन हुए एल बी संवर्ग के सहायक शिक्षकों को पदोन्नत्ति के लिए पात्र मानते हुए जिला शिक्षा अधिकारियो द्वारा नियमानुसार पदोन्नति किया जा सकता है।

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा, प्रदेश संयोजक सुधीर प्रधान, वाजीद खान, प्रदेश उपाध्यक्ष हरेंद्र सिंह, देवनाथ साहू, बसंत चतुर्वेदी, प्रवीण श्रीवास्तव, विनोद गुप्ता, प्रदेश सचिव मनोज सनाढ्य, प्रदेश कोषाध्यक्ष शैलेंद्र पारीक, प्रदेश पदाधिकारी प्रहलाद सिंह ,संजय उपाध्याय शैलेंद्र यदु, हेमेंद्र साहसी, श्रीमती शोभा सिंह देव, रंजय सिंह, गुरुदेव राठौर, ओम प्रकाश पांडेय, शैलेश सिंह, श्रीमती अंजुम शेख, ऋषिकेश उपाध्याय, विनोद सिन्हा, चंद्रकांत ठाकुर, श्रीमती सपना दुबे, श्रीमती सरस्वती गिरिया,पूर्णानंद मिश्रा, एल डी बंजारा,बाबूलाल लाडे, प्रमोद राजपूत, श्रीमती नीलम श्रीवास्तव, योगेश सिंह ठाकुर, विकास तिवारी,प्रदीप साहू, जयेश सौरभ टोपनो, शिव चंदेल, कुलदीप सिंह चौहान, अजय सिंह, गंगेश्वर सिंह उइके, राकेश शर्मा, आयुष पिल्ले, यशवंत बघेल, हेमेंद्र साहसी, गणेश सिंह, श्रीमती तनु सिंह ठाकुर, श्री कन्हैया लाल देवांगन, श्री केशव साहू, श्री उमेन्द्र गोटी, श्री देवेश वर्मा, श्री दिलेश्वर संगम, श्री उमेश रावत,
*‼जिलाध्यक्ष गण‼*
मनोज वर्मा जिला अध्यक्ष
सरगुजा ,संतोष सिंह जिला अध्यक्ष बिलासपुर, पवन सिंह जिला अध्यक्ष बलरामपुर, दिलीप साहू जिला अध्यक्ष बालोद, विजय डेहरे जिला अध्यक्ष बेमेतरा, राजेश गुप्ता जिला अध्यक्ष बस्तर, डा. भूषण चंद्राकर जिला अध्यक्ष धमतरी,शत्रुहन साहू जिला अध्यक्ष दुर्ग,उदय शुक्ला जिला अध्यक्ष दंतेवाड़ा,आरिफ मेमन जिला अध्यक्ष गरियाबंद, अनिल श्रीवास्तव जिला अध्यक्ष जशपुर, सत्येंद्र सिंह जिला अध्यक्ष जांजगीर चांपा, उदय प्रताप सिंह जिला अध्यक्ष कोरिया, मनोज चौबे जिला अध्यक्ष कोरबा, रमेश चंद्रवंशी जिला अध्यक्ष कबीरधाम, स्वदेश शुक्ला जिला अध्यक्ष कांकेर, ऋषिदेव सिंह जिला अध्यक्ष कोंडागांव, बलराज सिंह जिला अध्यक्ष मुंगेली, नारायण चौधरी जिला अध्यक्ष महासमुंद, अजय तिवारी जिलाध्यक्ष नारायणपुर नेतराम साहू जिला अध्यक्ष रायगढ़, ओमप्रकाश सोनकला जिला अध्यक्ष रायपुर, गोपी वर्मा जिला अध्यक्ष राजनांदगांव, भूपेश सिंह जिला अध्यक्ष सुरजपुर, आशीष राम जिला अध्यक्ष सुकमा, उमेश्वर वर्मा जिलाध्यक्ष बलौदाबाजार, अब्दुल अली रिजवी जिलाध्यक्ष बीजापुर, बृज भूषण सिंह बनाफर जिलाध्यक्ष सक्ती, मुकेश कोरी जिलाध्यक्ष गौरेला पेंड्रा मरवाही ने कहा है कि एल बी संवर्ग के सहायक शिक्षकों की प्रधान पाठक प्राथमिक शाला के पदों पर पदोन्नति जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा किया जाना है, अतः शिक्षा विभाग व संचालक द्वारा पदोन्नति हेतु निर्देश जारी किया जावे, जिससे आगामी शिक्षा सत्र में शाला में अध्यापन व प्रशासकीय व्यवस्था सुनिश्चित हो, साथ ही पात्र हजारो एल बी संवर्ग के सहायक शिक्षको की पदोन्नति हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *