श्रमिकों को शत्-प्रतिशत मजदूरी भुगतान समय पर करने में ये जिला प्रदेश में पहले नंबर पर

महासमुंद।प्रदेश के वाणिज्य कर, आबकारी, उद्योग एवं जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा द्वारा कल वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना (नरेगा) के तहत् जिले में चल रहे विभिन्न कार्यों एवं श्रमिकों की जानकारी ली गई। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ. रवि मित्तल द्वारा बताया गया कि महासमुंद जिले के सभी ग्राम पंचायतों में आवश्यकतानुसार कार्य प्रारम्भ किए गए है। जिले में पहली बार एक लाख 50 हजार से अधिक श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराया गया हैं, जो कि देश में दूसरे स्थान पर हैं।  मनरेगा के अंतर्गत वर्तमान में जिले में एक लाख 52 हजार 263 श्रमिक कार्यरत है। इनमें बागबाहरा विकासखंड मेें 31 हजार 443 श्रमिक कार्यरत् है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

इसी प्रकार बसना विकासखंड के अंतर्गत 30 हजार 170 श्रमिक, महासमुंद में 29 हजार 33 श्रमिक, पिथौरा में 29 हजार 834 श्रमिक एवं सरायपाली विकासखंड में 32 हजार 483 श्रमिक कार्यरत् हैं।उन्होंने बताया कि जिले के श्रमिकों को शत्-प्रतिशत मजदूरी भुगतान समय पर करने में महासमुंद जिला प्रदेश में पहले स्थान पर हैं। प्रत्येक ग्राम पंचायत में 07 मई को रोजगार दिवस का आयोजन किया गया। जिसमें पंाच सूत्र के पालन कर रोजगार दिवस का आयोजन किया गया। जिले में मनरेगा का कार्य प्रगति पर है एवं रोजगार दिवस के आयोजन पर चार हजार से अधिक कार्य स्वीकृत कर रोजगार प्रदान किए जाने के लिए रखे गए।

रोजगार दिवस आयोजन में आगामी सप्ताह के लिए 60 हजार से अधिक मांग-पत्र प्राप्त हुए है। लोगों के आवश्कतानुरूप नए जाॅब कार्ड के लिए आवेदन किए हैं, उन्हें 15 दिवस के भीतर उन्हें जाॅब कार्ड बनाकर प्रदाय किया जाएगा।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...