कॉफी विद मदर– जब पुलिस कप्तान ने खुद परोसा..कोरोना काल में अलहदा प्रयास की चर्चा..गणमान्य परिवार की बुजुर्ग महिलाओँ की भर आयी आंख

दुर्ग— कोई शक नहीं…पुलिस कुछ करे और चर्चा ना हो। कुछ ऐसा ही हुआ दुर्ग में..जिसकी चर्चा इन दिनों जिले की सीमा को पार प्रदेश के कोने कोने में हो रही है। दुर्ग के वरिष्ठ पुलिस कप्तान अजय कुमार यादव के मदर्स डे में किए गए प्रयास को जिसने भी सुना  वह मुरीद हो गया। लोगों को कहना पड़ा कि कोरोना काल में पुलिस का यह रूप दिल को ठंडक पहुंचाने वाली है। ऐसा प्रयास हमेशा होते रहना चाहिए। जैसा पुलिस कप्तान अजय यादव ने किया है।..खासकर इस प्रयास को हम कभी भुलेंगे।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

                 बताते चलें कि कोरोना काल पूरे देश के लिए बहुत तनाव भरा साबित हो रहा है। अपने बच्चों से दूर घर में कैद लोगों पर कोरोना काल भारी साबित होते नजर आ रहा है। यहां वहां बिखरे अपने परिजनों को लेकर लोग व्याकुल हैं। ऐसे समय में बुजुर्ग माता पिता के तनाव को दूर करने अजय यादव ने जो कदम उठाया..उसे लम्बे समय तक याद किया जाएगा। बहरहाल कार्यक्रम को लेकर अभी से प्रदेश में चर्चा शुरू हो गयी है। लोगों ने प्रयास को पसंद भी किया है।

काफी विद् मदर्ड एण्ड एसएसपी

              दुर्ग पुलिस ने आम जनता और खासकर ऐसी माताओं जिनके बच्चे लाकडाउन के चलते उनसे दूर हैं। ऐसे बच्चों के माताओं से मिलकर कोरोना के तनाव को करने मदर्स डे पर विशेष अभियान चलाया। दुर्ग पुलिस कप्तान अजय यादव ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि इन विपरीत परिस्थितियों में बच्चों से दूर रहने वाली माताओं और खासकर बुजुर्ग माताओं के साथ बातचीत करना चाहते हैं। उनके साथ काफी पीते हुए दर्द को साझा करना चाहते हैं। बताना चाहते हैं उनके बच्चे सुरक्षित हैं। और वह सभी लोग आपकी सुरक्षा को लेकर चिंतित है। उन्हें यह भी बताना चाहते हैं कि किस तरह की थोड़ी सी सावधानी रखते हुए हम सब कोरोना से जंग जीत सकते हैं। 

कप्तान ने मांगा आशीर्वाद और परोसा काफी

             पुलिस कप्तान के निर्देश के बाद अधिकारियों ने मातृ दिवस पर बृद्धाआश्रम में  कार्यक्रम का आयोजन किया गया। बच्चों से दूर बुजुर्ग माताओं के साथ काफी विद मदर कार्यक्रम में जिले के गणमान्य परिवार की बुजुर्ग माताओं ने भी हिस्सा लिया। काफी विद मदर्स एण्ड एसएसपी अजय कार्यक्रम में सभी ने शासन के दिशा निर्देशों का मुस्तैदी से पालन किया। खुद वरिष्ठ पुलिस कप्तान ने सभी बुजुर्ग मताओं को काफी परोसा। इस मंजर को देखकर लोगों की आंखे भर आयीं

लड़ रहे कोरोना से जंग 

                  वरिष्ठ पुलिस कप्तान आश्रम के बुजुर्ग माताओं के साथ खुलकर दिल छूने वाला संवाद किया। उन्होने बताया कि पूरी दुनिया इस समय कोरोना से जंग लड़ रही है। सबसे ज्यादा खतरा बच्चों और बुजुर्गों को है। हमारी थोड़ी सी सावधानी से खतरा हमेशा के लिए टल जाएगा। और हम सब मिलकर ऐसा कर भी रहे हैं।

पुलिस कप्तान ने मांगा आशीर्वाद

             इस दौरान अजय यादव ने वुजुर्गों से आशीर्वाद लिया। वरिष्ठ पुलिस कप्तान ने बताया कि सरकार सबकी सुरक्षा को लेकर संजीदा है। जो जहां है…खाने पीने से लेकर उनकी जरूरतों को पूरा ध्यान रखा जा रहा है। इसलिए किसी को परेशान होने की जरूरत नहीं है। हम सब मिलकर कोरोना को हराएंगे। लेकिन हमें इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के अलावा फेसमास्क के महत्व जोर देना होगा। 

             पुलिस कप्तान ने बुजुर्ग माताओं के साथ काफी पीने के दौरान हंसी मजाक भी किया। उन्होने कहा हम सब आपके बच्चें हैं। आपकी सुरक्षा हमारी जिम्मेदारी है। यदि किसी का बच्चा इस समय उनसे दूर है तो किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। क्योंकि सरकार उनके साथ है।

गणमान्य परिवार की बुजुर्ग माताएं भी शामिल

       काफी विद् मदर और वरिष्ठ कप्तान कार्यक्रम में जिले के सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी, थाना प्रभारी, स्वास्थ्य कर्मी, डॉक्टर परिवार, एम्स में कार्यरत डॉकटर और सभी चिकित्सा कर्मियों  की माताओं ने भी शिरकत किया। कार्यक्रम में ऐसी बुजुर्ग माताएं भी शामिल हुई जिनके बच्चे लॉक डाउन के कारण साथ नहीं है। पुलिस कप्तान ने बातों ही बातों में सबका दिल जीतते हुए कहा कि हम भी अपने माता पिता से दूर हैं। लेकिन आप लोगों के बीच पाकर हमें अपने पर संतोष के साथ गर्व महसूस हो रहा है। हमें आशीर्वाद दें कि जिला और प्रदेश की जनता को सुरक्षित रखने में कामयाब हों। 

         कार्यक्रम में करीब 100 से अधिक माताओं से हिस्सा लिया। इसमें आलाधिकारियों समेत नगर के गणमान्य परिवार की महिलाएं भी शामिल थीं। सभी ने वरिष्ठ पुलिस कप्तान को दिल से आशीर्वाद दिया। सभी ने कहा कि हमारे बच्चे  बेशक हमसे दूर हैं..लेकिन आप भी हमारे बच्चे हैं। मां बाप से दूर रहकर कोरोना से लोगों को बचाने के लिए लड़ रहे सभी इंजीनियर, डाक्टर,पुलिस अधिकारी,चिकित्सा कर्मचारी उनके ही बेटे है। हमारा आशीर्वाद सबके साथ है। हमें पूरा विश्वास है कि जंग में हमारी ही जीत होगी। कोरोना से बचने के लिए हम शासन के निर्देशों का पालन भी करेंगे।बहरहाल कार्यक्रम को लेकर जिले में जमकर चर्चा है। चर्चा का दायरा जिला सरहद के पार प्रदेश के कोने तक फैल गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *