कोविड-19 में ड्यूटी कर रहे शिक्षकों को मिले 50 लाख रुपए का बीमा कवर व अन्य सुविधाएं

रायपुर-प्रवासी मजदूरों के देखरेख में काम कर रहे प्रदेश के शिक्षकों को पूर्णा वारियर की तरह 50 लाख का बीमा कवर व अन्य सुविधाएं मिलना चाहिए उपरोक्त मांग छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष मनीष मिश्रा ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से राज्य सरकार से की है मनीष मिश्रा ने कहा कि विभिन्न प्रदेश से छत्तीसगढ़ पहुंच रहे प्रवासी मजदूरों जिनकी संख्या हजारों में है उनको ग्राम पंचायत स्तर पर क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाकर क्वॉरेंटाइन किया जा रहा है जिसमें देखरेख के लिए स्थानीय शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई है तथा बार्डर चेक पोस्ट पर भी शिक्षक लगातार ड्यूटी कर रहे हैं जो सरकार के साथ हर परिस्थिति में कदम से कदम मिलाकर काम कर रहे हैं।वहीं महाराष्ट्र,गुजरात,दिल्ली,आंध्रप्रदेश सहित देश के विभिन्न राज्यों से पहुंच रहे प्रवासी मजदूरों में कोविड-19 का खतरा बना हुआ है. सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

जिनकी देखरेख का काम शिक्षकों को सौंपा गया है जिसे संक्रमण का खतरा शिक्षकों में फैलने का खतरा है वहीं प्रदेश के जितने भी कर्मचारियों की ड्यूटी कोरेंटाइन सेंटर में लगाई गई है उनके लिए सरकार 50 लाख रुपये का बीमा कवर तथा मास्क,सैनिटाइजर व हैंड ग्लोब जैसे बुनियादी सुविधा उपलब्ध कराया जाए तथा इसमें महिला कर्मचारियों को मुक्त रखा जाए।

छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष मनीष मिश्रा प्रदेश उपाध्यक्ष शिव मिश्रा प्रदेश सचिव सुखनंदन यादव प्रदेश कोषाध्यक्ष अजय गुप्ता अनुशासित प्रभारी सीडी भट्ट अश्वनी कुर्रे कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष बलराम यादव सिराज बॉक्स महासचिव कौशल अवस्थी दिलीप पटेल श्रीमती प्रेमलता शर्मा प्रदेश प्रवक्ता श्रीमती उमा पांडे हुलेश चंद्राकर बसंत कौशिक विकास मानिकपुरी प्रदेश संगठन प्रभारी चंद्र प्रकाश तिवारी प्रदेश महामंत्री छोटे लाल साहू गौरव साहू राजकुमार यादव जलज थवाईत ने ड्यूटी कर रहे कर्मचारियों को 50 लाख रुपये का बीमा कवर तथा अन्य सुविधाएं प्रदान करने की अपील की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *