अब कैसे चलेगी मध्यान्ह भोजन योजना: जानिए प्रधानपाठकों के लिए नया क्या….? शिक्षा विभाग का आदेश जारी


रायपुर । छत्तीसगढ़ राज्य के सभी विकासखंडों में मध्यान्ह भोजन योजना से प्रधानपाठकों को पूर्णतः मुक्त रखने एवं योजना का संचालन महिला स्व-सहायता समूह के माध्यम से ही किये जाने का आदेश राज्य शासन द्वारा पारित किया गया है।

इस प्रकार का आदेश जारी कर राज्य शासन ने सभी जिलाधीशों और जिला शिक्षा अधिकारीयों से यह भी कहा है कि राज्य में पूर्व में इस आशय का जो निर्देश दिया गया था, उसका भी कड़ाई के पालन नहीं किया जा रहा है। राज्य शासन को अपने मध्यान भोजन सम्बंधित निर्देशों का पालन नहीं किये जाने की जानकारी अपने राज्य स्तरीय सॉफ्टवेयर के माध्यम से मिली है। प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य द्वारा पूर्व में सभी स्कूलों के माध्यम से संचालित मध्यान्ह भोजन योजना से प्रधानपाठकों को मुक्त कर योजना का संचालन महिला स्व-सहायता समूह के माध्यम से करने का निर्देश जारी किया गया था, परन्तु अब भी राज्य के अधिकांश स्कूलों में यह योजना प्रधान पाठकों के द्वारा संचालित की जा रही थी। हालाँकि यह भी उल्लेखनीय है कि जिन विकासखंडों में महिला स्व-सहायता समूह उपलब्ध नहीं हैं वहां किसी अन्य एजेंसी द्वारा भी कार्य कराया जाना भी राज्य शासन द्वारा अधिकृत किया गया है। राज्य शासन के उक्त आदेश का पालन 15 जून तक पूर्ण कर राज्य शासन को सूचित करने के लिए निर्देशित किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *