आरोपी को बचाने की साजिश–सियाराम

IMG-20151203-WA0004बिलासपुर—  राजेन्द्र तिवारी आत्महत्या काण्ड के खिलाफ दसवें दिन क्रमिक अनशन पर बैठे स्थानीय विधायक सियाराम कौशिक ने आज तहसीलदार उर्वशा को अपनी मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा। बिल्हा विधायक ने लिखित शिकायत में प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि राजेन्द्र को आत्महत्या के लिए मजबूर करने वाले तात्कालीन एसडीएम अर्जुन सिंह सिंसोदिया पर आपराधिक मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाए।

                                  बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक ने आज एसडीएम की अनुपस्थित में बिल्हा तहसीलदार उर्वशा को राजेन्द्र तिवारी आत्महत्या मामले में ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर सियाराम कौशिक के समर्थक भी उपस्थित थे।बिल्हा विधायक ने तहसीलदार को लिखित शिकायत में प्रशासन से दिए गए आश्वासन को पूरा करने और तात्कालीन एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

        सीजी वाल को बिल्हा विधायक ने बताया कि आत्महत्या काण्ड के बाद अपने लिखित वादे में जिला प्रशासन ने पन्द्रह दिन के भीतर जांच रिपोर्ट पेश करने का आश्वासन दिया था। आज मामला एक महीने से ऊपर हो गया है। लेकिन जांच की कार्रवाई अभी तक पूरी नहीं हुई है। सियाराम ने बताया कि पुलिस जांच का भी अभी तक कोई अता-पता नहीं है।

                सियाराम ने बताया कि घटना के तीसरे दिन चक्काजाम के दौरान जिला कलेक्टर ने सिसोदियों को निलम्बन कार्रवाई बात कही थी। लेकिन पांच दिन बाद मिली भगत कर प्रशासन ने गुपचुप तरीके से सम्मान के साथ सिसोदियो को विदा कर दिया। जांच कार्रवाई के दौरान तात्कालीन एसडीएम को बचाने के लिए जांच अधिकारी का स्थानांतरण कर दिया। जिससे जाहिर होता है कि सिसोदिया को प्रशासन और सरकार दोनो ही बचाना चाहती है।

                        कौशिक के अनुसार सिसोदिया अपनी रसूख के दम पर जांच को प्रभावित कर रहा है। उन्होने तहसीलदार को सौंप ज्ञापन में कहा है कि जब तक सरकार पुख्ता आश्वासन या आरोपी के खइलाफ कार्रवाई नहीं करती है तब तक वह क्रमिक अनशन जारी रखेंगे।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...