कोषालयीन कर्मचारियों की सहमति के बिना ना हो एक दिन के वेतन की कटौती , संघ ने सौंपा ज्ञापन

रायपुर।छत्तीसगढ़ प्रदेश कोषालयीन कर्मचारी संघ ने जबरदस्ती कोषालय कर्मचारियों के मई महीने के 1 दिन का वेतन काटने का विरोध करते हुए बिना कर्मचारियों की सहमति के कोषालय कर्मचारियों का 1 दिन का वेतन नहीं काटने संचालक कोष लेखा एवं पेंशन महादेव कावरे को ज्ञापन सौंपा है। संघ के प्रांत अध्यक्ष और प्रांतीय महामंत्री दीपक देवांगन ने बताया कि जिलों से कोषालय कर्मचारियों द्वारा प्रांतीय पदाधिकारी को अवगत कराया गया है कि जिला कोषालय अधिकारी द्वारा जबरदस्ती मई महीने में भी 1 दिन का वेतन काटने जिला कोषालय में नोट शीट चलाकर और दबाव बनाकर इस महीने का 1 दिन का वेतन काटने कर्मचारी पर दबाव बनाया गया है।जो कि अनुचित है.सीजीवालडॉटकॉम NEWS के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए

जिसका कोषालय कर्मचारी संघ विरोध करता है। ज्ञापन में कर्मचारियों की सहमति लेकर 1 दिन का वेतन काटने की कार्रवाई हो। इस तरह से जबरदस्ती किसी अल्प वेतन कर्मचारी का दो बार बिना उनकी सहमति से 1 दिन का वेतन नहीं काटने की मांग करते हुए पत्र सौंपा है। कोरोना वायरस की महामारी के दौरान सभी कोषालय कर्मचारी प्रतिदिन कार्यालयों में जाकर अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर रहे हैं। कोषालय को अति आवश्यक सेवाओं में रखा गया है।और माह मार्च में कोषालय कर्मचारियों द्वारा एक दिवस का वेतन कटौती कराया जा चुका है। और छत्तीसगढ़ शासन द्वारा उक्त संबंध में किसी भी प्रकार का निर्देश प्राप्त नहीं हुआ है।ज्ञापन सौंपने वालों में प्रमुख रूप से संघ के प्रांत अध्यक्ष डॉ जितेंद्र सिंह ठाकुर, प्रांतीय महामंत्री दीपक देवांगन, कोषाध्यक्ष रामाधार साहू, जी आर बसोने, एसके झा,रुपेंद्र साहू ,बीरेंद्र राठौर और अन्य कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *