मुंगेली क्वॉरेंटाइन सेंटर में प्रवासी मजदूर की तबीयत बिगड़ी,ऑटो से अस्पताल लाते समय रास्ते में मौत, सुध नहीं ली स्वास्थ्य विभाग ने

मुंगेली।देश भर में कोरोना की रोकथाम के लिए अनेक बंदोबस्त किये जा रहे हैं। इसी क्रम में संक्रमण रोकने के लिए कोरोना के संदिग्ध मरीजों को क्वारेंटाइन सेंटर्स में क्वारेंटाइन किया जा रहा है। लेकिन देश भर के क्वारेंटाइन सेंटर्स से लापरवाही की खबरें आ रही है। ऐसा ही एक मामला मुंगेली के क्वारेंटाइन सेंटर से सामने आया है, जहां क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे प्रवासी मजदूर की मौत हो गई। यह मामला कोतवाली थाना क्षेत्र के छीतापुर का मामला है। जानकारी के मुताबिक क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे युवक की तबीयत खराब होने पर ऑटो से अस्पताल लाया जा रहा था। इस वक्त युवक ने रास्ते में दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि क्वारेंटाइन सेंटर में मजदूर ही मृतक को लेकर अस्पताल पहुंचे। मृतक को 2 दिनों से तेज बुखार था स्वास्थ्य विभाग को जानकारी होने के बावजूद सुध नहीं ली गई। जानकारी के मुताबिक 22 वर्षीय मजदूर हैदराबाद से लौटा था, जिसे प्रशासन ने क्वारेंटाइन कर दिया था। आज युवक के क्वारेंटाइन का आखिरी दिन था। सीजीवालडॉटकॉम NEWS के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए

प्रदेश अब तक जो मौतें दर्ज हुई हैं उउनपर एक नजर डाले तो—
1-14 मई 2020: सारंगढ़ क्वारंटिन सेंटर-अर्जुन निषाद, 27 साल, फांसी से मौत.
2-17 मई 2020: किरना, मुंगेली क्वारंटिन सेंटर-पुणे से पैदल लौटे 31 साल के योगेश वर्मा की सांप काटने से मौत.
3-18 मई 2020: परसवानी क्वारंटिन सेंटर, बालोद-सूरज यादव,29 साल, फांसी से मौत.
4-18 मई 2020: सीताकसा क्वारंटिन सेंटर, राजनांदगांव-बुधारु राम, 28 साल, सांप काटने से मौत
5- 19 मई 2020: सेमली लेंजुवा पारा क्वारंटिन सेंटर, बलरामपुर-ड्यूटी कर रहे शिक्षक सियारत भगत की मौत
6- 20 मई 2020: सेमरिया क्वारंटिन सेंटर, बेमेतरा- राजू ध्रुव 35 साल की मौत.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *