लोगों ने क्यों घेरा मंत्री का बंगला..

AMAR_GHERAO

                         रेलवे प्रशासन के आतंक से परेशान झोपड़ापारा के निवासियों ने निकाय मंत्री अमर अग्रवाल के बंगले का घेराव किया। आक्रोशित नागरिकों ने रेलवे प्रशासन के खिलाफ जमकर नारे लगाए। रेलवे आतंक से परेशान हजारों परिवार ने कलेक्टर और मंत्री के खिलाफ जमकर जहर उगला।

             रेलवे प्रशासन के आतंक से परेशान हजारों परिवार के लोग आज कलेक्टर कार्यालय के बाद मंत्री अमर अग्रवाल के बंगले का घेराव किया। झोपड़ापारा के हजारो लोगों ने रेलवे प्रशासन के आतंक के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए निकाय मंत्री से न्याय की गुहार लगाई। मालूम हो कि पिछले पन्द्रह दिनों में रेल प्रशासन ने अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई करते हुए हजारों परिवार के आशियाने को नेस्तनाबू कर दिया है। रेल प्रशासन का कहना है कि खाली जमीन पर इलेक्ट्रिक लोको स्थापित किया जाएगा। चूंकि जमीन रेलवे की है इसलिए वह अपनी जमीन को खाली कर रहा है।

               झोपड़ापारा निवासियों के अनुसार पिछले कई सालों से वे लोग यहां रह रहे हैं। उन्हें रेलवे ने ही बसाया है। उनके पास अब सिर छिपाने के लिए कोई जगह नहीं है। ऐसे में हम कहां जाएं। आक्रोशित नागरिकों ने बताया कि हमने अपनी झोपड़ी बचाने के लिए कलेक्टर से कई बार गुहार लगाई लेकिन वहीं भी उनका सुनवाई नहीं हुई। पीड़ितों ने बताया कि चुनाव के समय नेता हाथ जोड़कर घर पहुंच जाते हैं लेकिन अब उनका कहीं अता पता नहीं है।

             भारी भीड़ को नियंत्रित करने में पुलिस को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। करीब पन्द्रह मिनट बाद निकाय मंत्री प्रदर्शनकारियों से मिले और आश्वासन दिया कि इस मामले में रेल प्रशासन से बातचीत होगी। मंत्री ने कहा कि रेल प्रशासन को निर्देश दिया गया है विस्थापन के इंतजाम के पहले किसी भी परिवार को वर्तमान स्थित से बेदखल नहीं किया जाए।

                 अमर अग्रवाल के आश्वासन के बाद हजारों परिवार घर वापस लौट गया। इस उम्मीद के साथ कि उनके साथ न्याय होगा। वहीं मंत्री का दावा है कि मामले का हल निकाल लिया जाएगा। देखने वाली बात होगी कि विकास का दावा करने वाले मंत्री महोदय रेलवे प्रशासन पर कितना दबाव डाल पाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *