श्रीराम केयर अस्पताल के दो वार्ड व्वाय ने किया बलात्कार..वेंटिलेटर पर भर्ती है पीड़िता.पिता को बतायी आपबीती..मौके पर पहुंची सिविल लाइन पुलिस

बिलासपुर— शहर के एक नामचीन अस्पताल श्रीराम केयर में भर्ती बीमार युवती के साथ दो वार्ड ने बलात्कार किया है। शिकायत के बाद सिविल लाइन पुलिस अस्पताल पहुंच गयी है। पिछले पांच घंटे से पुलिस लगातार श्रीराम केयर में है। बताया जा रहा है कि लड़की ने एक पन्ने में लिखकर बताया है कि उसके साथ 21 और 22 की दरमयानी रात को दो लोगों ने दुष्कर्म किया है। फिलहाल युवती आक्सीजन मास्क पर है। पिता का कहना है कि उसकी बच्ची को होश में आते ही इंजेक्शन देकर बेहोश किया जा रहा है। ताकि मामले को छिपाया जा सके।सीजीवालडॉटकॉम न्यूज़ के व्हाट्सएप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

                        बिलासपुर के नामचीन अस्पताल श्री राम केयर में आईसीयू में भर्ती महिला मरीज के साथ बलात्कार का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पीड़िता के पिता ने बताया कि अस्पताल के दो वार्ड व्याय  ने बेटी के साथ 21 और 22 मई की दरमियानी रात बारी बारी से रेप किया है। इसके बाद बच्ची सदमें में है। उसने नोट भी लिखा है। मामले की जांच पुलिस कर रही है।

               बच्ची बिलासपुर नगर निगम से लगे एक गांव की है। परिवार खेती किसानी का काम करता है। 18 साल की लड़की प्रथम वर्ष की छात्रा है। 18 मई की सुवह यवती की मां ने बेटी को चाय बनाकर दिया। चाय पीने के बाद वह सोने चली गयी। कुछ ही देर में उसके मुंह से झाग निकलते देखा गया ।  युवती ने बताया कि वह दवाई खायी है। रिएक्शन हो गया है। आनन फानन में पिता युवती को लेकर सिम्स पहुंचा। लेकिन उसकी हालत बिगड़ती चली गयी। परेशान पिता युवती को लेकर अमेरी रोड स्थित श्रीराम केयल अस्पताल में भर्ती कराया। 

                 सीजी वाल को युवती के पिता ने बताया कि 19 और 20 मई को बच्ची धीरे धीरे ठीक होते नजर आयी। इस दौरान बच्ची के चेहरे पर आक्सीजन मास्क लगा हुआ था। पिता के अनुसार  22 मई की सुबह बच्ची ने इशारे में बताया कि दो लोगों ने उसके सीने पर हाथ रखा। साथ ही रेप होने का इशारा किया। जब पिता नही समझा तो बच्ची ने मास्क के अन्दर से पेन और पन्ना मांगा। 

              पिता के अनुसार बच्ची ने पेन से पन्ने पर लिखा कि उसके साथ दो वार्ड व्याय ने बलात्कार किया है। पढ़ते ही बच्ची के पिता की पैर के नीचे से जमीन गायब हो गयी। दिन भर परेशान रहा। इसी बीच बच्ची को कई बार इंजेक्शन देकर बेहोश किया गया। दुबारा जब बच्ची होश में आयी तो उसने लड़खड़ाते जुबान से बताया कि उसके साथ बलात्कार किया गया है। उसे बहुत तकलीफ हो रही है। इतना सुनते ही बच्ची के पिता ने सिविल लाइन थाना को सूचना दिया।

             सूचना के बाद सिविल लाइन पुलिस थानेदार परिवेश तिवारी की अगुवाई में श्रीराम केयर अस्पताल पहुंच गयी। पिछले पांच घंटे से लगातार जांच पड़ताल की जा रही है। वहीं पीडित के पिता ने बताया कि प्रबंधन लगातार मामले को दबाने का प्रयास कर रहा है। और दबाव भी बना रहा है।

 क्या कहती है पुलिस 

             मामले में थानेदार परिवेश तिवारी ने बताया कि फिलहाल जांच पड़ताल कर रहे हैं। जल्द ही सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा।

पिता ने कहा अस्पताल बदलने का बना दबाव

                   पीड़िता के पिता ने बताया कि श्रीराम केयर प्रबंधन मामले को छिपाने अस्पताल बदलने का दबाव बना रहा है। पुलिस का कहना है कि बच्ची का इलाज जांच होने तक इसी अस्पताल में होगा। पुलिस ने निर्देश दिया है कि आईसीयू में रात को बच्ची की मां भी रहेगी। और बाहर एक पुलिस जवान तैनात रहेगा।

             बच्ची की पिता के अनुसार बच्ची की जान को खतरा है। कहीं दोने वार्ड ब्वाय बच्ची की हत्या ना कर दें।

सामने आया दोनों वार्ड ब्वाय का नाम

               खबर लिखे जाने तक दोनों वार्ड ब्वाय का नाम सामने आ गया है। एक वार्ड व्वाय का नाम सुरेन्द्र है।

डाक्टर ने नहीं उठाया फोन

            सीजी वाल संवाददाता ने श्रीराम केयर के डाक्टर और संचालक अमित सोनी से बातचीत का प्रयास किया लेकिन उन्होने फोन नहीं उठाया। अमित सोनी की पत्नी डॉ.नताशा सोनी ने भी जवाब नहीं दिया।

Comments

  1. By Vimal

    Reply

    • By आशु

      Reply

    • By Dr. Sunil sahu

      Reply

  2. By Sandeep Dey

    Reply

    • By smrita

      Reply

  3. By Saurabh

    Reply

  4. By देवांगन

    Reply

    • By जय

      Reply

      • Reply

      • By Raj

        Reply

    • By माइक

      Reply

  5. By Amit Thawait

    Reply

    • By Sanjeev gupta

      Reply

  6. By Shibu khan

    Reply

  7. By Shibu khan

    Reply

  8. By Unknown

    Reply

    • By राकेश गुप्ता

      Reply

  9. By Shainky vadhava

    Reply

  10. By Mohammed rafique

    Reply

  11. By Om Yadav

    Reply

  12. By Anshul

    Reply

  13. By Vishwas Vt

    Reply

  14. By AKASH KUMAR SONI

    Reply

  15. By Soumi

    Reply

  16. By AKASH KUMAR SONI

    Reply

  17. By Sushant

    Reply

  18. By Karan samudre

    Reply

  19. By Harsh

    Reply

  20. By उत्तम सिंह

    Reply

  21. By Rupesh

    Reply

  22. By Firoj

    Reply

  23. By Firoj

    Reply

  24. Reply

  25. By Rupesh Kumar Bajpeei

    Reply

  26. By Aniltiwari

    Reply

  27. By मोमिन रजा

    Reply

  28. By Mahendra tandan

    Reply

  29. By Ak.

    Reply

  30. By Gourav

    Reply

  31. By Charan

    Reply

  32. By Ashish

    Reply

  33. By Rajesh Das

    Reply

  34. By virendra

    Reply

  35. By Bp

    Reply

  36. By Bharat Paikara

    Reply

    • By कृष्णा आज़ाद

      Reply

  37. By Raja

    Reply

  38. By Murtaza khan

    Reply

  39. By Anil kaushik

    Reply

  40. Reply

  41. By Mukesh ratre

    Reply

    • By Samiksha

      Reply

  42. By रंजीत कुमार साहू

    Reply

  43. Reply

  44. By Sameer porte

    Reply

  45. By Dilip porte

    Reply

  46. By कौशल जांगड़े

    Reply

  47. By मनीष सोनी

    Reply

  48. Reply

  49. By Samiksha

    Reply

  50. By Shitbasant Mahant

    Reply

  51. By Rony

    Reply

  52. By ramsaran sahu

    Reply

  53. By Hitesh

    Reply

  54. By Rakesh sahu

    Reply

  55. By राजेश बखला

    Reply

  56. By Tanu

    Reply

  57. By Abc

    Reply

  58. By चंचल प्रकाश साहू

    Reply

  59. By चंचल प्रकाश साहू

    Reply

  60. By Ajay Kumar mishra

    Reply

  61. By Madhu Sahu

    Reply

  62. By SHRIKANT

    Reply

  63. By Raju Bagde

    Reply

  64. By Vidhi

    Reply

  65. By Sultan

    Reply

  66. Reply

  67. By S k rathore

    Reply

  68. By Mukesh

    Reply

  69. By संतराम सिदार

    Reply

  70. By UmEsH KaIwArT

    Reply

  71. By manoj agrawal

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *