देखिए वीडियो – श्री राम केयर हॉस्पिटल रेप कांड : पीड़िता के पिता ने रो-रो कर कहा मुझे न्याय चाहिए … मामला दबाने के मैनेजमेंट पर एमएलए शैलेश पांडे ने कहीं यह बात…

बिलासपुर।शहर के नामचीन अस्पताल श्रीराम केयर हॉस्पिटल में कथित बलात्कार कांड को लेकर सरगर्मी बढ़ गई है । पीड़िता को आगे के इलाज के लिए अपोलो अस्पताल शिफ्ट कर दिया गया है । इस मामले में बच्ची के पिता ने कैमरे के सामने रो – रो कर कहा कि उसकी बच्ची दुष्कर्म का शिकार हुई है । पुलिस का कहना है कि बच्ची का बयान लेने के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।  उधर बिलासपुर विधायक शैलेश पांडे ने साफ कहा कि मामले को दबाने के लिए किसी तरह का मैनेजमेंट नहीं चलेगा और जांच पूरी होने के बाद जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।  जबकि श्रीराम केयर हॉस्पिटल के डॉक्टर अमित  सोनी ने कहा की पीड़िता जहर खाने के बाद इलाज के लिए अस्पताल लाई गई थी।  जिसकी सूचना कोनी पुलिस को पहले ही दे दी गई थी । उन्होंने यह भी कहा कि वह जांच में पूरी तरह से सहयोग कर रहे हैं और सत्य जानना चाहते हैं। सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

 शनिवार की रात इस बलात्कार कांड का खुलासा होने के बाद दूसरे दिन रविवार को मामले में सरगर्मी काफी बढ़ गई । सुबह होने के बाद बड़ी संख्या में मीडिया कर्मी, पुलिस अफसर और जनप्रतिनिधि भी श्रीराम केयर हॉस्पिटल पहुंचे  । पीड़िता को आगे के इलाज के लिए अपोलो अस्पताल शिफ्ट कर दिया गया है । इस मामले में अस्पताल परिसर में सभी पक्षों से अलग-अलग बात हुई । पीड़िता के पिता ने कैमरे के सामने रोते हुए कहा कि उसकी बच्ची ने इशारा करके अपने साथ हुए दुष्कर्म के बारे में बताया था । बाद में उसने लिख कर भी दिया कि 2 वार्ड बॉय ने उसके साथ बलात्कार किया है।  उसने यह भी बताया कि बच्ची ने पुलिस के सामने दोनों आरोपी वार्ड बॉय की पहचान भी करा दी है।

 इस मामले में सीएसपी आर एन यादव ने बताया कि लड़की के पिता ने शिकायत दर्ज कराई है कि दो अज्ञात वार्ड बॉय ने उनकी बच्ची के साथ बलात्कार किया है ।  जिस पर एफ आई आर दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है । बच्ची अभी बताने की स्थिति में नहीं है कि उसके साथ क्या हुआ है । उससे जैसे ही बात हो पाएगी  पूरी स्थिति स्पष्ट होने के बाद दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी । यह पूछे जाने पर कि मामले में अब तक क्या किसी को हिरासत में लिया गया है….?  इस पर सीएसपी ने कहा कि पुलिस सभी पर नजर रखे हुए हैं । बच्ची का बयान होने के बाद जो भी आरोपी होगा उसे गिरफ्तार किया जाएगा ।

इस मौके पर बिलासपुर के विधायक शैलेश पांडे ने बताया कि पीड़िता के पिता और मां से उनकी बात हुई है । उन्होंने बच्ची के साथ दुष्कर्म की शिकायत दर्ज कराई है । मामले की जांच शुरू कर दी गई है । जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी । एक सवाल के जवाब में शैलेश पांडे ने कहा कि मामले को दबाने के लिए कोई मैनेजमेंट नहीं हो सकता । जांच पूरी होने के बाद दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी ।

उधर श्री राम केयर अस्पताल के डॉ. अमित सोनी ने मामले की सिलसिलेवार जानकारी मीडिया को दी । उन्होंने बताया कि बच्ची को गंभीर स्थिति में अस्पताल में भर्ती कराया गया था । परिजन ने उस समय बताया था कि लड़की ने चाय पी और उसकी तबीयत बिगड़ गई।  लेकिन जब इलाज शुरू किया गया तो जांच के दौरान जहर खाने की आशंका नजर आई ।  पाइप लगाने के दौरान स्मेल आने के बाद शक हुआ तो उनके परिजन से फिर पूछा गया । उनके परिजन ने जहर खाने की बात से इनकार किया । जब उन्हें बार-बार कहा गया तो परिजन ने घर जाकर देखा । करीब 6 घंटे बाद वापस लौटे और अपने साथ 1 सीसी भी लाई थी । यह सीसी कीटनाशक दवाई की थी और तब उन्होंने जहर खाने की बात स्वीकार की ।

डा. सोनी बताते हैं कि मरीज का इलाज अस्पताल में चलता रहा और उसमें सुधार भी नजर आया ।  उसके जहर खाने की सूचना उस समय ही कोनी थाने में दे दी गई थी । जिसकी प्रतिलिपि अब भी उनके पास है । डॉ. सोनी का कहना है कि बच्ची की सेहत में सुधार आ रहा है । लेकिन वह अभी खतरे से बाहर नहीं है । कल से उसने आंखें खोलना शुरू किया । लेकिन वह वेंटिलेटर पर है ।  उसके हाथ पैर में भी हलचल है।  कल उसने अपनी मां को पहले लिख कर दिया कि …. घर पर बलात्कार ………।इसके बाद उसने लिखा कि श्रीराम केयर हॉस्पिटल में वार्ड बॉय ने बलात्कार किया है । लड़की ने 2 दिन पहले घटना की बात कही है । इसका मतलब यह घटना 21 या 22 मई की हो सकती है । इसकी सूचना सिविल लाइन थाने में दी गई । वहां से सब लोगों ने आकर विवेचना की और जांच शुरू की।  डॉ. अमितसोनी बताते हैं कि सिविल लाइन थाने को सीसीटीवी के पूरे फुटेज दे दिए गए हैं और जांच में पूरा सहयोग किया जा रहा है । उन्होंने कहा कि अस्पताल के आईसीयू में 7 मरीज रहते हैं । वहां पर ड्यूटी में हमेशा डॉक्टर, सिस्टर ,आया ,वार्ड बॉय की उपस्थिति रहती है । ऐसे में बलात्कार की घटना असंभव है।  उन्होंने यह भी बताया कि मरीज को एट्रोपिन का इंजेक्शन लगाया जा रहा है । जिसके लगने से साइकोसिस और हेलोसीनेशन होता है । कहीं ऐसा तो नहीं कि हेलोसिनेशन में लड़की ऐसी बातें कर रही है । साथ ही यह भी जानना पड़ेगा कि जहर खाने का कारण क्या था और वह क्यों भर्ती हुई थी ….?  क्या उसके साथ पहले भी कोई घटना हुई है  क्या,? इसकी भी जांच होनी चाहिए।बहर हाल बिलासपुर शहर में हुई इस घटना को लेकर सरगर्मी बढ़ती जा रही है । अब जांच के बाद भी यह पूरी तरह से सामने आ सकेगा कि पूरा मामला क्या है और इसमें दोषी कौन है.? 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *