सर्वाेच्च प्राथमिकता वाले कार्यों को पहले पूरा करें,टीएल मीटिंग मे कलेक्टर एल्मा ने दिये निर्देश,लू से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग सक्रिय रहे

नारायणपुर।कलेक्टर पी.एस.एल्मा ने आज साप्ताहिक समय सीमा की बैठक में ज़िला अधिकारियों को कहा कि सर्वाेच्च प्राथमिकता वाले विभिन्न योजनाओं के कार्यों को पहले प्राथमिकता के आधार पर पूरा करें। उन्होंने लोक सेवा गांरटी अधिनियम, वनाधिकार मान्यता पत्र, जल संरक्षण के कार्य, सिंचाई रकबा दुगना करने, वाटर शेड के कार्य, डबरी निर्माण के साथ ही वृहद पैमाने पर वृक्षारोपण, पेयजल, जिला खनिज न्यास निधि, लोक सेवा केन्द्रों के प्रकरणों की स्थिति, नरवा-गरवा घुरवा और बाड़ी कार्यक्रमों सहित अन्य राजस्व प्रकरणों के साथ विभिन्न विभागों की योजनाओं एवं प्रकरण की विस्तार से समीक्षा की।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करे

कलेक्टर पी.एस.एल्मा ने लगातार बढ़ रही गर्मी को देखते हुए लू से बचाव और इसके प्रबंधन के इंतजाम मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को लू से बचाव और उपचार के व्यापक प्रबंध करने के निर्देश दिए गए हैं। ज़िला अस्पताल, उप स्वास्थ्य केंद्रो और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में दवाईयों का पर्याप्त स्टॅाक रखने के साथ ही लू से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया करने कहा है ।कलेक्टर ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी को जिले में स्थापित हैण्डपम्प और नलजल योजनाओं की स्थिति की जानकारी लेते हुए अब तक पेयजल के निवारण के लिए किए गए कार्यों की भी जानकारी ली। कलेक्टर श्री एल्मा ने जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों द्वारा किए गए कार्यों के बारे में जानकारी ली गई। उन्होंने मृदा स्वास्थ्य परीक्षण और मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरण की भी जानकारी ली।

कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से लगातार बढ़ रही गर्मी को देखते हुए लू से बचाव और इसके प्रबंधन के इंतजाम के बारे में भी पूछा। उन्होंने लू से बचाव और उपचार के व्यापक प्रबंध करने के निर्देश दिए। अस्पतालों में दवाईयों का पर्याप्त स्टॉक रखने के साथ ही लू से बचने के लिए लोगों को जागरूक करने कहा। उन्होंने जिले के सभी अस्पतालों में ओ.आर.एस., आई.वी. फ्लूड्स और जरूरी दवाईयों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए है कि वे हेल्थ सुपरवाईजर, सेक्टर मेडिकल आफिसर और एएनएम की जिम्मेदारी तय करें की शत-प्रतिशत प्रसव संस्थागत हो यदि कही पर होम डिलीवरी हुई तो जिम्मेदारी तय कर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने मलेरिया, डेंगू जैसी बीमारियों से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी लोगों को जानकारी देने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश भी दिए हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *