प्रभारी मंत्री का कांग्रेसियों ने किया घेराव

IMG_20151207_132307बिलासपुर– बिल्हा के तात्कालीन एसडीएम का मामला अभी शांत होता नजर नहीं आ रहा है। कांग्रेसे विधायकों ने आज मंथन सभागार के सामने मरवाही विधायक अमित जोगी की अगुवाई में घंटो धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदेश सरकार और स्थानीय शासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक मस्तूरी विधायक दिलीप लहरिया समेत जोगी समर्थक युवा कांग्रेसी मौजूद थे। नारेबाजी और धरना प्रदर्शन के दौरान प्रभारी मंत्री अजय चन्द्राकर आयुष और जीवन दीप पर अधिकारियों की बैठक ले रहे थे।

                                   राजेन्द्र तिवारी मामले को लेकर आज आज बिल्हा के तात्कालीन एसडीएण अर्जुन सिसोदिया के खिलाफ मंथन सभागार के सामने कांग्रेस विधायक और जोगी समर्थकों ने मरवाही विधायक की अगुवाई में मंथन सभागार के सामने गांधीगिरी का प्रदर्शन किया। इस दौरान मंत्री अजय चन्द्राकर अधिकारियों की बैठक ले रहे थे। आक्रोशित कांग्रेसियों ने मंत्री,सरकार और स्थानीय प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

                      मरवाही विधायक अमित जोगी ने सीजी वाल को बताया कि संवेदनहीनता की हद हो गयी एक व्यक्ति आत्मदाह करता है। स्थानीय प्रशासन भीड़ के सामने शाम होने तक एसडीएम को निलंबित करने की बात कहता है। बाद में खुद एसडीएम के निलंबन को रोक देता है। हमारी मांग है कि प्रभारी मंत्री बताएं क्या सिसोदिया को निलंबित किया गया था। यदि किया गया था तो उसे किसने बचाया। अमित जोगी ने बताया कि रमन सरकार में प्रशासनिक तानाशाही का बोलबाला है। लोगों का जीना हराम हो गया है। मंत्री को बताना होगा कि आखिर अर्जुन सिंह सिसोदिया के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं हुई। जोगी ने बताया कि तिवारी के परिजनों को अभी तक सरकारी सहायता नहीं मिली है। उन्होने कहा कि इस मामले को विधानसभा में भी उठाया जाएगा। आखिर सिसोदिया को किसने बचाया और क्यों बचाया।

                                सीजी वाल ने जब प्रश्न को प्रभारी मंत्री के सामने उठाया तो उन्होने स्पष्ट कुछ बोलने से इंकार करते हुए कहा कि कार्रवाई चल रही है। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

           बैठक के बाद कांग्रेसी नेताओं से रूबरू होते हुए सियाराम और मरवाही विधायक जोगी ने अजय चन्द्राकर का घेराव किया। उन्होने मृतक राजेन्द्र तिवारी को न्याय में हो रही देरी का जबाव मांगा। इस दौरान बिल्हा विधायक और प्रभारी मंत्री के बीच जमकर बहस हुई। प्रभारी मंत्री ने बताया कि दण्डाधिकारी जांच हो रही है। जांच में देरी की मुख्य वजह अन्य कुछ महत्वपूर्ण कार्यों का होना है। जल्द ही जांच पूरी हो जाएगी। कलेक्टर को आदेश दिया गया है। कारणों की जानकारी भी ली गयी है। जैसे ही रिपोर्ट सामने आएगी दोषी कितना भी रसूखदार हो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

                                  कांग्रेसी कार्यकर्ताओं से घिरे अजय चन्द्राकर ने बिल्हा विधायक और मरवाही विधायकों से बताया कि एफआईआर दर्ज होने में देरी नहीं लगेगी। जैसे नाम दोषी का सामने आएगा उसे छोड़ा नहीं जाएगा। चन्द्राकर ने बताया कि एफआईआर दर्ज होने से दण्डाधिकारी जांच पर प्रभाव पड़ेगा। गोपनीयता भंग होगी। जांच के बाद दोषी का नाम बाहर आते ही उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

                 चन्द्राकर ने जोगी को बताया कि निलंबन को किसी ने प्रभावित नहीं किया है। यदि सिसोदिया दोषी है तो जांच के बाद सब पता चल जाएगा। एफआईआर भी दर्ज होगा। इस दौरान कांग्रेसी नेताओँ ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए राजेन्द्र तिवारी अमर रहे के नारे लगाये। उपस्थित नेताओं ने जीवनलाल मनहर के लिए भी चन्द्राकर से न्याय की मांग की।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...