LISTEN LIVE-PM मोदी के ‘मन की बात’,अनलॉक पर कर सकते है बात

दिल्ली। मोदी सरकार 2.0 (Modi Government 2.0) का एक साल पूरा हो चुका है. बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) मोदी सरकार की उपलब्धियों को ऑनलाइन लोगों के बीच पहुंचे. जेपी नड्डा ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए पीएम मोदी ने ‘पीएम केयर फंड’ बनाया. लोगों ने इसमें बहुत योगदान दिया. पीएम मोदी के एक आह्वान पर देश की जनता तन, मन धन से सेवा देने को तैयार हो जाते हैं. जेपी नड्डा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के करोड़ों-करोड़ों हमारे कार्यकर्ता बंधु आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में देश के चहुंमुखी विकास के लिए काम कर रही केंद्र सरकार के दूसरे कार्यकाल का सफल एक वर्ष पूरा हो रहा.रविवार को अपने मन की बात मे पीएम मोदी ने कहा कि- दो गज की दूरी का नियम हो, मास्क लगाने की बात हो, घर में रहना हो, ये सारी बातों का पालन करें, उसमें जरा भी ढिलाई नहीं बरतें। तमाम सावधानियों के साथ स्पेशल ट्रेनें चल रही हैं, हवाई जहाज उड़ने लगे हैं, धीरे-धीरे उद्योग भी चलना शुरू हुआ है, ऐसे में हमें और ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है, दो गज की दूरी का नियम हो, मुँह पर मास्क लगाने की बात हो, ये सारी बातों का पालन करें।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

उन्होने कहा कि ”हमारे डॉक्टर्स, नर्सिंग स्टाफ, सफाईकर्मी, पुलिसकर्मी, मीडिया के साथी ये सब जो सेवा कर रहे हैं, उसकी चर्चा मैंने कई बार की है। मन की बात में भी मैंने उसका जिक्र किया है। सेवा में अपना सब कुछ समर्पित कर देने वाले लोगों की संख्या अनगिनत है।” मोदी ने कहा कि ”देशवासियों की संकल्पशक्ति के साथ एक और शक्ति इस लड़ाई में हमारी सबसे बड़ी ताकत है और वो है- देशवासियों की सेवाशक्ति।”

”मैं सोशल मीडिया में कई तस्वीरें देख रहा था। कई दुकानदारों ने दो गज की दूरी के लिए, दुकान में बड़े pipeline लगा लिए हैं, जिसमें, एक छोर से वो ऊपर से सामान डालते हैं, और दूसरी छोर से ग्राहक अपना सामान ले लेते हैं।” ”एक और बात जो मेरे मन को छू गई, वो है संकट की इस घड़ी में innovation, गांवों से लेकर शहरों तक, छोटे व्यापारियों से लेकर startup तक, हमारी labs कोरोना से लड़ाई में, नए-नए तरीके इज़ाद कर रहे हैं, नए innovation कर रहे हैं।”

अपने मन कि बात मे नरेंद्र मोदी ने कहा कि ”देश के सभी इलाकों से महिला Self Help Group के परिश्रम की भी अनगिनत कहानियां इन दिनों हमारे सामने आ रही हैं। गांवों, कस्बों में, हमारी बहनें-बेटियां, हर दिन मास्क बना रही हैं। तमाम सामाजिक संस्थाएं भी इस काम में इनका सहयोग कर रही हैं।”

loading...

Comments

  1. By Bhyri Subrahmanyam

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...