ताली थाली बजाना उत्सव का हिस्सा.. नेता प्रतिपक्ष ने कहा..मजदूर घर जाने लगे तो मांग रहे सुझाव..सरकार से नहीं मिला एक रूपया..सब पंचायत भरोसे

बिलासपुर— छत्तीसगढ़ विधानसभा नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि  मोदी सरकार ने दूसरे कार्यकाल के एक साल बहुत शानदार रहा। इस एक साल सरकार ने देशहित और राष्ट्रनिर्माण की दिशा में मजबूत कदम उठाए हैं । सालो साल पुराने विवादों को खत्म किया है। खासकर कोरोना काल में मोदी सरकार ने आत्मनिर्भर अभियान पर जोर देते हुए नया भारत निर्माण की दिशा में सार्थक प्रयास किया है। 

                  मोदी सरकार के दूसरे काल के एक साल पूरे होने पर नेता प्रतिपक्ष छत्तीसगढ़ विधानसभा धरमलाल कौशिक ने पत्रवार्ता में केन्द्र की उपलब्धियों को गिनाया। उन्होने बताया कि पिछले 6 सालो में भारत की गरिमा देश दुनिया में बढ़ी है। भारत विश्वगुरू बनने जा रहा है। कौशिक ने कहा कि इन एक साल के अन्दर मोदी सरकार ने पुराने कई मामलों को शांति के साथ सुलझाया है। राम मंदिर निर्माण,तीन तलाक से लेकर धारा 370 और 35 ए की समस्या को दूर किया है।

              धरम ने कहा कोरोना काल में मोदी के कुशल नेतृत्व में जंग को ना केवल जीता है। बल्कि दुनिया को आश्चर्यचकित करते हुए मदद के लिए हाथ भी बढ़ाया है।

नए भारत के निर्माण का पैकेज

                       केन्द्र सरकार के राहत पैकेज में कितना लोन राहत और कितना राहत पैकेज है। धरम ने कहा कि राहत पैकेज में गरीबों के लिए विशेष ध्यान दिए जाने के साथ आत्मनिर्भर भारत बनाने पर जोर दिया गया है। मनरेगा,जनधन, पेंशन से लेकर एमएसएमई के माध्यम  से गरीबों को राहत दी गयी है। साथ ही लोन के माध्यम से उद्योग व्यवसाय शुरू करने कम ब्याज दर पर लोन का एलान किया गया है।

राज्य सरकार ने नहीं दिया सहयोग

              लाकडाउन लागु करने से पहले विचार विमर्श नही किया गया। जिसके चलते लाखों मजदूरों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा है। इसके लिए जिम्मेदार कौन है। सवाल पर धरम ने कहा कि पहले लाकडाउन के समय उम्मीद थी कि राज्य सरकारें गरीबों और मजदूरों के लिए सार्थक कदम उठाएंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इसके बाद केन्द्र सरकार को कदम उठाना पड़ा। तब कहीं जाकर मजदूरों को राहत मिली है। 

               इस दौरान मजदूरों की मौत हुई। उसके लिए जिम्मेदार कौन है के सवाल पर धरमाल कौशिक ने टाल दिया।

ताली थाली बजाना उत्सव का हिस्सा

              ताली,थाली बजाने और मोमबत्ती जलाने से कितने प्रतिशत कोरोना संक्रमण में कमी आयी। सवाल के जवाब में धरम ने कहा कि ताली थाली बजाना सामान्य प्रक्रिया है। इससे जाहिर हुआ है कि देश मोदी सरकार के निर्णय के साथ है। वैसे भी हमारे देश में ताली थाली बजाना उत्सव का हिस्सा होता है।  लेकिन धरम ने यह नहीं बताया कि कोरोना कितने प्रतिशत कम हुआ है।

अब मांग रहे सुझाव..सेन्टर सरपंचो के भरोसे

               स्वास्थ्य मंत्री ने क्वारंटीन सेन्टरों के सुधार को लेकर सूझाव मांगे है। सवाल के जवाब में धरम ने कहा कि यह हास्यास्पद स्थिति है। जब मजदूर घरों को जाने लगे तो सुझाव मांगा जा रहा है। सच तो यह है कि क्वारंटीन सेन्टरों की हालत बद से बदतर है। खान-पीन की व्यवस्था भी ठीक नहीं है। लोग भूखे मरने को मजबूर हैं। हमने सेन्टर का भ्रमण किया है। वहां  मजदूरों की स्थिति बहूुत ही नाजुक है। सरपंचों के दम पर सेन्टर को चलाया जा रहा है। सरकार ने एक रूपए भी खर्च नहीं किए गए है। 

            कौशिक ने कहा कि आने वाले नए प्रवासियों को भी पुराने प्रवासियों के साथ रखा जा रहा है जिनका क्वारंटीन खत्म हो चुका है। ऐसे में कोरोना को भला कैसे नियंत्रित किया जा सकता है।

        पत्रवार्ता में  धरमलाल कौशिक के अलावा, विधायक रजनीश सिंह, विधायक कृष्णमूर्ति बांधी, राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य हर्षिता पाण्डेय, प्रदेश भाजपा प्रवक्ता और जिला अध्यक्ष मौजूद थे।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...