श्रीराम केयर अस्पताल गैंगरेपःअपोलो में भर्ती पीड़िता का मजिस्ट्रियल बयान..रेप की पुष्टि..पुलिस ने कहा.. कल होगी शिनाख्त

बिलासपुर—ओपोलो में भर्ती श्रीराम केयर गैंगरेप काण्ड की पीड़िता का आज दोपहर मजिस्ट्रियल बयान दर्ज किया गया। रेप पीड़िता ने अपने बयान में रेप की पुष्टि की है। बयान की कापी बन्द लिफाफे में सिविल लाइन थानेदार को सौंप दी गयी है। वहीं पीड़िता के बयान के बाद परिजनों ने लगाए गए आरोप को सही बताया है। सिविल लाइन थानेदार परिवेश तिवारी ने बताया कि सर्यास्त होने के कारण शिनाख्त परेड आज नहीं हो सकी। शनिवार को सूर्योदय के बाद आरोपियों की शिनाख्त परेड होगी।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

               बताते चलें कि दो सप्ताह पहले शहर से लगे ग्रामीण क्षेत्र की एक युवती को 18 मई को गंभीर हालत में श्रीरामकेयर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती किया गया।  दो दिन बाद उसकी हालत में सुधार देखने को मिला। लेकिन 22 मई को यकायक लड़की की हालत खराब हो गयी। इस बीच होश आते ही उसने इशारे से अपने पिता माता को बताया कि उसके साथ रेप हुआ है। एक कागज में लिखकर बताया कि 21 की  रात को अस्पताल के दो वार्ड व्याय ने  रेप किया है। युवती ने अपनी मां के हाथ में भई लिखकर रेप की जानकारी दी।

दो वार्ड ब्वाय पर गैंगरेप का आरोप

                             पीड़िता से रेप की खबर के बाद पिता ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। लड़की के हाथों लिखी चिठ्ठी को पिता ने पुलिस के हवाले किया। पुलिस को पीड़िता के पिता ने बताया कि उसकी लड़की के साथ श्रीराम केयर के दो वार्ड व्याय ने 21 मई की रात्रि को गैंग रेप किया है। इसके बाद मामला मीडिया में उछला। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कलेक्टर और रेंज आईजी को जांच का आदेश दिया।

स्वास्थ्य मंत्री ने दिया था निर्देश

                 स्वास्थ्य मंत्री के आदेश के बाद पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए दो दिनों तक लगातार बयान लेने का प्रयास किया। लेकिन लड़की की हालत बिगड़ती ही गयी। स्थानीय विधायक शैलेश पाण्डेय, जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा, कांग्रेस नेता पंकज सिंह और मोनू अवस्थी के प्रयास से पीड़ितों को रेफर किए जाने के बाद अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

             करीब दो सप्ताह तक ल़ड़की बोलने की स्थिति में नहीं थी। इस दौरान पुलिस बयान लेने का प्रयास करती रही। शुक्रवार को लड़की की गंभीर हालत को देखते हुए लड़की का मजिस्ट्रियल बयान दर्ज किया गया। शिनाख्ति के बाद बन्द लिफाफे में रिपोर्ट को सिविल लाइन थाना के हवाले कर दिया गया। 

 सांसद विधायक,भाजपा और कांग्रेस नेता पहुंचे देखने

                           अपोलो में भर्ती होने के बाद पीड़िता को देखने नगर विधायक शैलेश पाण्डेय, मेयर रामशरण यादव, जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा, मोनू अवस्थी और पंकज सिंह देखने पहुंचे। स्वास्थ्य मंत्री की तरफ से सभी कांग्रेस नेताओं ने पीड़ित परिवार को आश्वासन दिया कि गुनहगार को माफ नहीं किया जाएगा। 

               दिल्ली प्रवास और क्वारंटीन से निकलने के बाद सांसद अरूण साव भी पीड़िता को देखने और परिजनों से मिलने अपोलो अस्पताल पहुंचे। इस दौरान जिला भाजपा अध्यक्ष रामुदेव कुमावत समेत भाजपा के कई नेता मौजूद थे। सांसद साव ने परिजनों को आश्वासन दिया था कि दोषी को छोड़ा नहीं जाएगा। साथ ही अपोलों प्रबंधन को बेहतर इलाज किए जाने का निर्देश दिया था।

मजिस्ट्रेट बयान दर्ज

              दोपहर को लड़की का बयान लेने नायब तहसीलदार पहुंची। लड़की ने अपने बयान में बताया कि 21 की रात्रि को श्रीराम केयर के दो वार्ड व्याय ने रेप किया है। मजिस्ट्रेट ने लड़की के बयान को कलमबद्ध किया। लिखित और मौखिक रूप से सिविल लाइन थानेदार को बताया कि लड़की ने रेप की पुष्टि की है।

शनिवार को शिनाख्त परेड

     पीड़िता ने मजिस्ट्रियल बयान में रेप की पुष्टि की है। बयान को दर्ज किया गया है। मजिस्ट्रेट ने पुष्टि की है कि लड़की के साथ 21  की रात्रि को रेप किया गया है। थानेदार परिवेश तिवारी ने बताया कि शुक्रवार को आरोपियों की पहचान होनी थी। लेकिन सूर्यास्त होने के कारण शिनाख्त प्रक्रिया को पूरा नहीं किया जा सका। अब शनिवार को सूर्योदय के बाद आरोपियों की शिनाख्त होगी। शिनाख्ती के बाद कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *