पूर्व मंत्री अजय चन्द्राकर ने खोया मानसिक संतुलन..खाद्य मंत्री ने कहा..समझ सकता हूं..

बिलासपुर—- खाद्य एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत शनिवार को अल्प प्रवास पर बिलासपुर पहुंचे। छ्त्तीसगढ़ भवन में कार्यकर्ताओं से मिलने के बाद कुछ देर रवाना हो गए। इस दौरान मंत्री भगत ने पत्रकारों से चर्चा की। और कांग्रेस नेताओं से जिले की वस्तुस्थिति से परिचित हुए।
 
             प्रदेश खाद्य एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत अल्पप्रवास पर बिलासपुर पहुंचे। इसके बाद रायपुक के लिए रवाना हो गए। मंत्री भगत इस दौरान कांग्रेस पदाधिकारियों और जिला प्रशासन के अधिकारियों से बातचीत की। 
 
         पत्रकारों से बातचीत करते हुए भगत ने भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री अजय चंद्रकार के ट्विट पर जोरदार प्रहार किया। भगत ने कहा कि सत्ता हाथ से जाने और कोरोना के कारण पूर्व मंत्री अजय चन्द्राकर मानसिक संतुलन खो चुके हैं। 
 
               भगत ने बताया कि चन्द्राकर की मानसिक हालत ठीक नही है। सत्ता और मंत्री पद के जाने से अजय चंद्राकर बहुत विचलित हो गए हैं। कोरोना संकट से भी जूझ रहे हैं। इसलिए इसलिए उलजुलूल बयान बाजी कर रहें है।
 
                          मंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ की संस्कृति में गाय गोबर की पूजक है। हमारी संस्कृति में गाय और गोबर का बहुत सम्मान है। कही भी अनुष्टान के समय गाय की पूजा होती है। और गोबर का प्रयोग होता है। जमीन को पवित्र करने हम घर से लेकर बाहर तक गोबर से लिपाई करते हैं। शायद मंत्री पद जाने के बाद चन्द्राकर भूल गए हैं। इससे जाहिर होता है कि अजय चन्द्राकर की मानसिक हालत ठीक नहीं है। 
 
                किसानों की मदद के सवाल पर मंत्री अमरजीत ने कहा कि भूपेश सरकार अगर कोई अच्छा काम करती है तो भाजपा नेताओं के पेट में दर्द स्वभाविक है। क्योंकि हमेशा ऐसा ही देखने को मिला है। कोई अच्छा काम शुरू हुआ नहीं कि भाजपा नेताओं  का  पेट में दर्द शुरू हो जाता है। ऐसा क्यों अब वही लोग जाने।
 
            अमरजीत ने कहा कि अगर अपने आप को छत्तीसगढ़िया मानते हैं तो सरकार का सपोर्ट करो। यह मेरा अजय चन्द्राकर से सलाह और प्रश्न दोनों है। क्योंकि छत्तीसगढ़िया को गाय और गोबर का महत्व अच्छी तरह से पता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *