विस्थापित हुए 509 परिवार..रविवार को 350 मकानों पर जेसीवी की कहर.. कमिश्नर और SDM ने लिया जायजा

बिलासपुर— गोंडपारा बाल्मिकी चौक स्थित अरपा तट के मकानों पर एक साथ बुलडोजर चला। हाईकोर्ट के निर्देश और दिए गए समय के बाद जिला प्रशासन ने करीब 350 से अधिक मकानों को गिराया। इसके पहले 509 परिवारों को बहतराई स्थित अटल आवास में विस्थापित किया गया। तोड़फोड़ के दौरान पुलिस और जिला प्रशासन की टीम चाक चौबन्द सुरक्षा के बीच पूरी तरह से मुस्तैद नजर आयी।

                                  अरपा तट स्थित गोंडपारा क्षेत्र में निगम का बुलडोडर चला करीब 350 मकानों को तोड़ा गया। इसके पहले यहा रहने वाले करीब 509 परिवार को बहतराई स्थित अटल आवास में शिफ्ट किया गया।

                तोड़फोड़ के दौरान विस्थापित लोगों ने बताया कि इस प्रकार का तोड़फोड़ बिलासपुर के इतिहास में पहली बार देखने को मिला। जबकि ऐसा होना नहीं चाहिए था। इसके पहले पिछली सरकार ने यहां मकान बनाकर देने का वादा किया था। नई सरकार ने भी चुनाव के दौरान मकान नहीं तोड़े जाने की बात कही थी। बावजूद इसके तोड़ा गया। जबकि हम लोग  यहां दो पीढियों से रहते आ रहे हैं। 

                     तोड़फोड़ के दौरान व्यापक क्षेत्र में फैले 9 आरा मिलों को हटाया गया। एक दिन पहले ही तोड़फोड़ कार्रवाई का आरा मिल मालिकों ने विरोध किया। रविवार को कहीं कोई विरोध देखने को नहीं मिला। आरा मिल समेत अरपा तट पर चिन्हांकित सभी निर्माण को निगम ने जमीदोज कर दिया। 

                   तोड़फोड़ के दौरान बड़ी बिल्डिंगो  को भी गिराया गया। मंदिरों को भी हटाया गया। विस्थापित हुए लोग इस दौरान आक्रोश जाहिर करने के साथ ही तोड़कर गिराए गये मकानों में ईट पत्थर और राड को संग्रहित करने नजर आए।

  509 परिवारों को किया गया विस्थापित

      निगम कमिश्नर प्रभाकर पाण्डेय़ ने बताया कि कही किसी प्रकार का विरोध नहीं है। लोगो को पहले से ही मकान आवंटित कर दिया गया है। मकानों को खाली कर दिया था। इसलिए अतिक्रमण हटाने में किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं हुई। प्रभाकर पाण्डेय ने बताया कि कुल 509 परिवार को विस्थापित किया गया है। बाल्मिकी चौक के सामने की तरफ सड़क किनारे दुकानों को नहीं गिराया जाएगा। चूंकि दुकाने निगम की है और निगम की जमीन पर बनी है। 

 पांच बजे तक रपटा तक हटाया जाएगा अतिक्रमण

         अतिक्रमण हटाओ अभियान में पुलिस का सहयोग मिल रहा है। लोगों ने पहले से ही घर खाली कर दिया था। कुछ मकानों से सामान निकाले जा रहे हैं। देश शाम तक अरपा रपटा तक सभी अतिक्रमण को हटा दिया जाएगा। तनाव को देखते हुए पुलिस की बेहतर व्यवस्था है। कहीं किसी प्रकार का विरोध भी नहीं है। एसडीएम ने बताया करीब 350 मकानों को तोड़ा जाना है। कमोबेश सभी मकानों को तोड़ा भी जा चुका है।

 पुलिस की चाक चौबन्द व्यवस्था

          इस दौरान पुलिस की चाक चौबन्द व्यवस्था देखने को मिली। कमिश्नर और एसडीएम ने बस्ती में घूमकर लोगों को घर छोड़ने को कहा। साथ ही तोड़फोड़ के दौरान सभी लोगों को दूर रहने का भी सुझाव दिया। 

मौके पर कर्मचारियों को दिया गया लंच

            इस दौरान पुलिस से लेकर निगम कर्मचारी और अतिक्रमण हटाओ अभियान से जुड़े सभी कर्मचारियों को मौके पर ही लंच का वितरण किया गया।

               अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान गोंडपारा समेत शनिचरी चौक में तमाशबीन को भीड़ देखने को मिली। सबको हटाने में पुलिस को परेशानियों को सामना करना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *