कांग्रेसियों ने साधा केंद्र पर निशाना,कहा-सरकार गरीबों की जेब में डाल रही डाका,पेट्रोलियम पदार्थ मूल्य वृद्धि के खिलाफ करेंगे राष्ट्रव्यापी आंदोलन

बिलासपुर-पेट्रोल डीजल मूल्य वृद्धि के खिलाफ आज कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने नेहरू चौक पर लगातार 2 घंटे तक धरना प्रदर्शन किया।इसके बाद सभी नेता रैली की शक्ल में जिला कार्यालय पहुंचे और प्रशासन को राष्ट्रपति के नाम मूल्य वृद्धि के खिलाफ शिकायत पत्र दिया। कांग्रेसियों ने पत्र के माध्यम से राष्ट्रपति से निवेदन किया सरकार की मूल्य वृद्धि को को जल्द से जल्द वापस लिया जाए।इसके पहले नेहरू चौक में कांग्रेस के जनप्रतिनिधि पदाधिकारी नेताओं ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। काग्रेस नेताओं ने कहा लॉकडाउन के पिछले 3 माह के दौरान पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले केंद्रीय उत्पाद शुल्क और कीमतों में बार-बार की गई अनुचित बढ़ोतरी ने नागरिकों को परेशान कर के रख दिया है।CGWALL WHATSAPP NEWS GROUP से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहते हैं देश स्वास्थ्य व आर्थिक महामारी से लड़ रहा है वहीं दूसरी ओर पेट्रोल और डीजल की कीमतों में वृद्धि कर जनता को गुमराह कर रहे हैं।बार-बार उत्पाद शुल्क बढ़ाकर मुनाफाखोरी को बढ़ावा दे रहे हैं।कांग्रेस वक्ताओं ने बताया 2014 में जब मोदी सरकार केंद्र में आई पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क ₹9 प्रति लीटर थी। डीजल पर साढ़े 3 रुप्रति लीटर। पिछले 6 सालों में केंद्र की भाजपा सरकार ने पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क ₹24 प्रति लीटर और डीजल पर ₹29 प्रति लीटर कर दिया है।चौंकाने वाली बात है पिछले 6 सालों में भाजपा सरकार ने डीजल के उत्पाद शुल्क में बढ़ोतरी की है जबकि पेट्रोल के उत्पादन शुल्क में भी इजाफा किया है।

कांग्रेस नेताओं ने कहा केवल पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले उत्पाद शुल्क में बार बार वृद्धि कर मोदी सरकार ने पिछले 6 सालों में 18 लाख करोड़ रुपए की कमाई की है।3 महीने पहले लॉकडाउन लगाए जाने के बाद पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क को बार-बार बढ़ाकर मुनाफाखोरी और जबरन वसूली की जा रही है।जनता खून के आंसू रोने को मजबूर है महंगाई आसमान छूने को लगा है।

कांग्रेस नेताओं ने कहा साढे 3 सालों में भाजपा सरकार ने डीजल पर मूल्य और उत्पाद शुल्क साढ़े ₹26 प्रति लीटर और पेट्रोल उत्पाद शुल्क साढ़े ₹21 प्रति लीटर बढ़ा दिया है। जिसके चलते सरकार अप्रत्यक्ष रूप से देशवासियों की आर्थिक शोषण कर रही है।देश के नागरिकों से छल किया जा रहा है।गाढ़ी कमाई को लूटा जा रहा है जबकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्रूड ऑयल की कीमत में निम्न उत्तर कमी देखी जा रही है।

कांग्रेसियों ने कहा जब UPA सरकार केंद्र में थी। तो कच्चे तेल का दाम 108 अमेरिकी डालर प्रति बैरल था। बावजूद इसके तेल की कीमत बहुत ही कम थी लेकिन आज मोदी सरकार को जनता से स्पष्ट करना चाहिए कि जब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेल का भाव निम्न से निम्न स्तर स्तर पर है। तो डीजल पेट्रोल का दाम ₹80 के पार कैसे गया। कांग्रेसियों ने कहा यदि सरकार ने मूल्य वृद्धि को वापस नहीं लिया, तो राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस पार्टी जनता के साथ मिलकर संसद से सड़क तक उग्र आंदोलन करेगी।

धरना प्रदर्शन को राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ,विधायक शैलेश पाण्डेय, तखतपुर विधायक रश्मि सिंह , प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव ,रामशरण यादव, ,सभापति शेख नजरुद्दी,अभय नारायण राय, बिल्हा पूर्व विधायक सियाराम कौशिक, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आशीष सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान, जिला कांग्रेस अध्यक्ष ग्रामीण विजय केशरवानी, जिला अध्यक्ष कांग्रेस शहर प्रमोद नायक, शहर महिला कांग्रेस अध्यक्ष सीमा पांडे समेत वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं ने भाषण के दौरान जमकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *