कलेक्टर सारांश मित्तर ने कहा-विस्थापित लोगों के बीच पहुंच मकानों का लूंगा जायजा,समस्याओं को तत्काल किया जाएगा दूर,अब तक एक लाख मजदूर बिलासपुर पहुंचे

बिलासपुर।प्रदेश सरकार की मांग पर आज श्रमिकों को लेकर बेंगलुरु से स्पेशल ट्रेन बिलासपुर रात्रि आएगी।जिला प्रशासन प्रमुख सारांश मित्तर ने बताया कि  के अब तक करीब एक लाख से अधिक श्रमिकों को बिलासपुर लाया जा चुका है। धीरे धीरे बाहर से आने वाले मरीजों की संख्या भी कम हो चुकी है ।सभी मजदूरों को कोरेंटिंन सेंटर में रखने के बाद  घर भेजा जा रहा है।कलेक्टर सारांश मित्तर ने बताया कि श्रमिकों को लेकर स्पेशल ट्रेन बेंगलुरु से बिलासपुर रात्रि 12:30 बजे रात में पहुंचेगी। स्पेशल ट्रेन बिलासपुर में मजदूरों को उतारने के बाद गोरखपुर के लिए रवाना हो जाएगी।सीजीवाल news के व्हाट्सएप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

अब तक एक लाख मजदूर आए–
कलेक्टर ने बताया कि कोरोना कॉल में अब तक देश के विभिन्न राज्यों से करीब 100000 मजदूर बिलासपुर आ चुके हैं । सभी मजदूरों को घर रावण करने से पहले जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया। क्वारेंटिंन सेंटर से करीब दो तिहाई मजदूर स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं । एक डेढ़ सप्ताह के अंदर बचे हुए मजदूर भी घर लौट जाएंगे। कलेक्टर ने बताया कि अब मजदूरों के आने की संख्या कम हो चुकी है ।इक्का-दुक्का ट्रेन मजदूरों को लेकर बिलासपुर पहुंच भी रहे हैं ।लेकिन पहले की तुलना में आने वाले श्रमिको की संख्या बहुत ही कम है।  आज देर रात बेंगलुरु से श्रमिकों को लेकर स्पेशल ट्रेन बिलासपुर पहुंचेगी। अधिकारी हमेशा की तरह पहले से तैनात हैं।
बिलासपुर में उतरने वाले सभी मजदूरों को शॉर्ट लिस्ट कर जगह जगह निर्धारित स्थान पर बनाए गए कैंटीन सेंटर भेजा जाएगा। स्वस्थ होने के बाद सभी उनके घर  किया जाएगा.

रेत के अवैध परिवहन पर प्रशासन की नजर–
जिला कलेक्टर सारांश मित्तर ने बताया कि रेत के अवैध परिवहन पर नकेल कस लिया गया है ।बावजूद इसके हम लगातार अवैध परिवहन की गतिविधियों पर नजर बना के रखे हैं । अब तक के व्यापक अभियान में सैकड़ो लोगो पर करवाई की गई है। अभी भी अभियान चल रहा है।

जल्द ही लूंगा जायजा सारांश मित्तल–
जिला कलेक्टर सारांश मित्तर ने बताया कि अरपा नदी तट से  अतिक्रमण हटाओ अभियान  खत्म हो चुका है । तट पर बसे लोगों को  अलग-अलग  जगह पर सरकार  की तरफ से बनाए गए मकानों में शिफ्ट किया गया है।  कलेक्टर ने कहा  हमने  वादा किया है कि  विस्थापन के बाद सभी को  बेहतर स्थिति में मना  मकान  दिया जाएगा।  इस बात को ध्यान में रखते हुए  जल्द ही  बहतराई, बंधवापारा  और  जहां-जहां  विस्थापित कर लोगों को शिफ्ट किया गया है सभी जगह जायजा लेने जाऊंगा। मकान में  पाई गई  सारी कमियों को दूर किया जाएगा। किसी को परेशान या निराश होने की जरूरत नहीं है।  कलेक्टर ने बताया कि अभी  विस्थापन का काम पूरा हुआ है।  लोग अभी भी शिफ्ट  ठीक से नहीं हुए हैं। दो चार के अंदर मौके का जायजा लेने जाऊंगा। व्यक्तिगत रूप से  लोगो से मिलूंगा भी। एक मकान का जायजा लूंगा।  कमियों को  तत्काल दूर करने का निर्देश भी दूंगा ।

एसडीआरएफ और पंचायत निधि से मजदूरों पर खर्च—
कलेक्टर सारांश मित्तर ने बताया कि कोरेंटिंन सेंटर में रखे गए श्रमिकों को बेहतर व्यवस्था दी गयी। इस दौरान मजदूरों पर एसडीआरएफ और पंचायत निधि के अलावा अन्य कोष से खर्च किया गया। हमने सरकार से राशि की मांग भी की है। जल्द ही भुगतान संबंधी समस्याओं को दूर कर लिया जाएगा।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...