कोरोना से निपटने सात सूत्रों पर काम शुरू,अधिक ग्राहकों की आवाजाही वाले दुकानदारों की भी सैंपल जांच

दुर्ग।कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे ने निगम, स्वास्थ्य अमले एवं कोविड कंट्रोल से जुड़े अधिकारियों की अहम बैठक बुधवार देर शाम ली। उन्होंने कहा कि हम लोग लगातार आरोग्य सेतु पर नजर रख रहे हैं। इसमें जो संभावित हाटस्पाट और इमर्जिंग हाटस्पाट दिखा रहे हैं। वहां पर कोरोना संक्रमण की आशंका से निपटने के लिए रणनीतिक रूप से और दक्षतापूर्ण काम होना चाहिए। कलेक्टर ने कहा कि इसके लिए सात सूत्रों पर सतत रूप से और प्रभावी कार्य करना है।CGWALL NEWS GROUP से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

होम क्वारंटीन की सख्त मानिटरिंग – इनमें सबसे पहला है क्वारंटीन सेंटर पर और होम क्वारंटीन पर रह रहे लोगों की स्ट्रिक्ट मानिटरिंग। इसके लिए लगे लोगों से लगातार फीडबैक प्राप्त करें। इस संबंध में किसी भी तरह की शिकायत होने पर त्वरित कार्रवाई करें।विदेशों से लौट रहे और ईपास से लौट रहे लोगों की मानिटरिंग- दूसरी प्रमुख बात पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि अभी बड़ी संख्या में लोग बाहर से आ रहे हैं। विदेशों में बसे लोग भी अपने घरों में लौट रहे हैं। इनके क्वारंटीन की स्ट्रिक्ट मानिटरिंग आवश्यक है। यह मानिटरिंग उनके रायपुर में लैंड करते ही शुरू हो जानी चाहिए। बाहर से आ रहे किसी भी व्यक्ति की जानकारी में चूक नहीं होनी चाहिए। जो लोग ई पास के माध्यम से आ रहे हैं उनके क्वारंटीन पर भी प्रभावी नजर रखें।

सारे नगरीय क्षेत्र में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता करेंगी सर्वे- पूरे नगरीय क्षेत्र में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर सर्वे किया जाएगा। इसमें बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी के साथ ही सर्दी-बुखार आदि लक्षणों की जानकारी वाले लोगों को चिन्हांकित किया जाएगा। कलेक्टर ने कहा कि यह काम हर दिन ज्यादा से ज्यादा होना चाहिए। जितने लोगों को बेहतर तरीके से ट्रेस कर पाएं, उतना ही कोरोना को रोक पाने में सफलता मिलेगी।आरोग्य सेतु पोर्टल के इतिहास रिपोर्ट में दिखाये पिंक एरिया पर रहे विशेष नजर- कलेक्टर ने कहा कि इतिहास रिपोर्ट के अनुसार पिंक एरिया, कंटेनमेंट जोन, पूर्व में कंटेनमेंट रह चुके जोन में नगरीय प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर सर्वे करे। जिन मरीजों में भी लक्षण मिलते हैं उनके सैंपल ले। उन्हें घर में रहने की हिदायत दें और ऐसा करना सुनिश्चित भी करें।कंटेनमेंट जोन से लगे नजदीकी क्षेत्रों में रैपिट टेस्ट किट से सैंपल- कंटेनमेंट जोन से लगे नजदीकी क्षेत्र में इस तरह के लक्षण वाले लोग मिलते हैं तो रैपिड टेस्ट किट से इनके सैंपल की जांच करें।

अधिक जोखिम वाली सैलून जैसी दुकानों के दुकानदारों की होगी सैंपल जांच- कलेक्टर ने कहा कि ऐसी दुकानें जिनमें ग्राहकों की आवाजाही काफी ज्यादा होती है जो भीड़भाड़ वाले इलाकों में हैं और ग्राहकों से संपर्क काफी होता है। ऐसे दुकानदारों की आरटी-पीसीआर सैंपलिंग की जाएगी। उन्होंने कहा कि सैलून में काफी संख्या में ग्राहक आते हैं और सीधे संपर्क होता है। उसी प्रकार ट्रांसपोर्ट से जुड़े क्लीनर, ड्राइवर आदि की भी सैंपलिंग कराई जाएगी।फीवर क्लीनिक में लक्षण होने पर रैपिड टेस्ट- फीवर क्लीनिक में लक्षण वाले मरीजों के आने पर रैपिड टेस्ट किए जाने की बात उन्होंने कही।

इसके अलावा इस पर भी जोर- उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए आवश्यक है कि लोग सुरक्षा उपाय करें। इसके लिए मास्क का प्रयोग अनिवार्य है। जहां भी इसका उल्लंघन होता पाया जाता है वहां पर जुर्माना करें। निगम की टीम विशेष रूप से दुकानों का निरीक्षण करें। यहां पर मास्क पहना जाना सुनिश्चित करें।

हाटस्पाट फोरकास्ट, यहां के निवासी रखें सुरक्षा का खास ध्यान- आरोग्य सेतु ने जिले में हाटस्पाट फोरकास्ट चिन्हांकित किये हैं। रिपोर्ट 30 जून को अद्यतन की गई है। इसके मुताबिक भिलाई वेस्ट (490009), सुपेला भिलाई (490023), उरला (490025), अहिवारा (490036), दुर्ग कचहरी (491001), नेवई (491107), चंदखुरी (491221), सुरदोनगर (491993) पिंक एरिया है। एंबर एरिया में आईबीएसबी (490001), दुर्ग (491001), पिसेगॉव (491001) बलोदा (491226) है।
इमरर्जिंग  हाटस्पाट – यहॉ भी सुरक्षा का रखें ध्यान – भेंडसर (491001), कपसदा (490042), रौंदा (491331), घोटा (491331), पिसेगॉव (491001), देवरी (491331), नंदकट्टी (491001), अहिवारा (490036), मुरमुंदा (490036), बरहापुर (491331), तर्रा (491111), नंदिनी खुंदिनी (490036) नरधा (490024), हिर्री (491001), पेंड्रावन (491331), दारगॉव (491332) सुरडुंग (490024), रिसामा (491221), उरला (490025), करंजा भिलाई (490024), कुम्हारी (490042), नेवरा (493114), धौर (490024), राजपुर (491331), गिरहोला (490036), सेमरिया (491332) है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...