‘चीनी ट्वीटर वीबो’ पर था पीएम मोदी का प्रोफाइल,किया गया डिलीट

दिल्ली।हम जानते हैं कि दुनियाभर में सोशल मीडिया के सबसे बड़े प्लेटफार्म माने जाने वाले फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप को चीन में वहां की सरकार ने ऐंटरी नहीं दी है. इसके चलते वहां ट्विटर की तरह चीन में प्रचलित सोशल मीडिया एकाउंट वीबो (Weibo) है. लेकिन क्या आपको मालूम है कि देश के पीएम नरेंद्र मोदी का भी वीबो पर आधिकारिक अकॉउंट था. जी हां पीएम मोदी का चीनी ट्विटर पर प्रोफाइल बुधवार तक तो था लेकिन बुधवार को वह पूरी तरह से ब्लैंक हो गया और उनके इस हैंडल से फोटो, पोस्ट्स और कमेंट्स हटा दी गई है.CGWALL NEWS के व्हाट्सएप न्यूज़ ग्रुप से जुडने यहाँ क्लिक कीजिये

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जैसे ही भारत में चीनी 59 ऐप्स को हटाने का निर्णय लिया गया, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फैसला किया कि वे वीबो (Weibo) से अपना प्रोफाइल हटा देंगे जिसे उन्होंने कुछ साल पहले ज्वॉइन किया था. सूत्रों ने बताया कि वीआईपी खातों के लिए वीबो छोड़ने की एक जटिल प्रक्रिया है, यही वजह है कि आधिकारिक प्रक्रिया शुरू की गई. वीबो पर प्रधानमंत्री मोदी के 115 पोस्ट थे. मैन्युअल रूप से उन्हें हटाने का निर्णय लिया गया और बहुत प्रयास के बाद 113 पोस्ट्स हटा दिए गए.

वीबो पर प्रधानमंत्री मोदी से संबंधित सभी सूचनाएं हटाने का यह वाकया उस घटना के करीब 10 दिन बाद आया है जब इससे पहले पोपुलर सोशल मीडिया एप वीचैट से पीएम मोदी समेत कम से कम तीन भारतीय अधिकारियों को बयानों को भारतीय दूतवास के ऑफिशियल एकाउंट से डिलीट किया गया था.

इसके प्रक्रिया के चलते पीएम मोदी का वीबो प्रोफाइल बुधवार को ब्लैंक था. ये ऐसे वक्त पर हुआ है जब भारत ने सोमवार को सुरक्षा और डेटा को लेकर 59 चीनी ऐप को बैन कर दिया है. बुधवार को पीएम मोदी वीबो एकाउंट से उनकी प्रोफाइल फोटो समेत सभी जानकारियां हटा दी गई हैं. पीएम मोदी का वीबो एकाउंट साल 2015 में बतौर प्रधानमंत्री उनके पहले चीन दौरे के वक्त बनाया गया था.

2 लाख से ज्यादा थे फॉलोअर्स

उसके बाद से एकाउंट से 2 लाख 44 हजार फॉलोअर्स हो चुके थे, जिनमें ज्यादातर चीन के लोग थे. साल 2015 से पीएम मोदी 15 जून को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं देते आ रहे थे, इस साल को छोड़कर. उन्होंने भारत-चीन संबंध खासकर शी के साथ उनकी बैठकों के बाद के संदेशों को इस पर देते रहे हैं. पीएम मोदी के वीबो एकाउंट पर पोस्ट्स चीनी भाषा में होती थी.

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...