प्राइवेट स्कूल शिक्षकों को मार्च से नहीं मिली तनख्वाह,भूखे मरने की नौबत,तीन स्तरीय कमेटी गठित करने ज्ञापन सौपेगा संगठन

Money, Rupees, Income, Saving, Investment, Limited Income, Saving News, Coronavirus, Lockdown, Covid-19,

बिलासपुर।कोरोना काल के चलते करीबमार्च माह से स्कूलों में ताला लगा हुआ है।शिक्षकीय कार्यपूर्ण रूप से बंद है।लॉकलाडन में स्कूलों के बंद होने से खासकर प्राइवेट स्कूल शिक्षकों को मार्च से तनख्वाह नहीं मिली है। उनके भूखे मरने की नौबत आ गई है। छत्तीसगढ़ गवर्नमेंट टीचर वेलफेयर एसोसिएशन ने तीन स्तरीय कमेटी गठित करने को लेकर जिलाधीश को सोमवार को ज्ञापन सौंपने जा रहा है। एसोसिएशन ने प्रेस रिलीज जारी कर बताया कि प्राइवेट स्कूल के शिक्षकों की सैलरी संबंधी समस्या के निराकरण के लिए जिलाधीश के माध्यम से प्रधानमंत्री और मानव संसाधन विकास मंत्रालय, मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़,शिक्षा मंत्री छत्तीसगढ़ और राज्यपाल को ज्ञापन सोपेगा।CGWALL NEWS के व्हाट्सएप न्यूज़ ग्रुप से जुडने यहाँ क्लिक कीजिये  

एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश दिवाकर ने कहा कि मार्च महीने से शिक्षकों को ठीक से तनख्वाह न मिलने के कारण प्रदेशभर के शिक्षकों की हालत बद से बदतर हो गई है। शिक्षक भूखे मरने की कगार पर खड़े हुए हैं। इसलिए सभी शिक्षकों की समस्या का त्वरित निराकरण के लिए प्रदेश के प्रत्येक जिले में एसोसिएशन के पदाधिकारी ज्ञापन सौंपेंगे।सुरेश दिवाकर ने शिक्षकों की समस्या के समाधान के लिए शिक्षक संघ,अभिभावक संघ और स्कूल प्रबंधन संघ की एक त्रिस्तरीय कमेटी गठित करने की मांग,अपने ज्ञापन के माध्यम से करेंगे।

loading...

Comments

  1. By Sanjay kumar verma

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...