टूट रहा प्रकृति से रिश्ता..गुणा भाग से हुआ नुकसान.. सभापति और विधायक ने कहा..पेड़ पौधों से बनाना होगा पारिवारिक सम्बन्ध

बिलासपुर—-प्रदेश के साथ ही बिलासपुर में भी हरियर अभियान युद्धस्तर पर चल रहा है। निजी प्रयास के साथ ही शासन स्तर पर पौध रोपण अभियान जनप्रतिनिधि बढ़ चढ़कर हिस्सेदारी कर रहे हैं। साथ ही जनसमुदाय के बीच पेड़ों को बचाने शपथ भी ले रहे हैं।
 
                      इसी क्रम में जिला पंचायत संभापति अंकित गौरहा और बेलतरा विधायक रजनीश सिंह विधानसभा क्षेत्र में लोगों को पौधरोपण को उत्साहित कर रहे हैं। गांव पंचायत से लेकर जनपद पंचायत प्रतिनिधियों को  अपने अपने क्षेत्र में पौधरोपण के लिए प्रेरित कर रहे हैं। लोगों को पौधे की उपयोगिता की जानकारी भी दे रहे हैं। 
 
        एक दिन पहले जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा और विधायक रजनीश सिंह ने पौंसरा और खैरा ग्राम पंचायत में पौधरोपण किया। दोनों ही जगह स्थानीय लोगों ने भी पौधरोपण का संकल्प लिया।
 
                        पौधरोपण अभियान के दौरान दोनों जगह उपस्थित ग्रामीणों के बीच अंकित ने कहा कि हमारा देश अनंत काल से प्रकृति पूजक रहा है। हमारे आचार विचार में पेड़ों का अहम स्थान है। पीपल से हमें सर्वाधिक प्राण वायु मिलती है.। .इसलिए हम उसकी पूजा करते हैं। पूजा का अर्थ संरक्षण से है। इसलिए हमने पीपल में अपने ईष्ठ को स्थापित किया। इसका अर्थ हमने पेड़ों के संरक्षण देवता का सहारा लिया।  नीम के पेड़ों में औषधीय गुण होता है। नीम को पूजना शुरू कर दिय़ा। आंवला का आयुर्वेद में अहम स्थान है। हमने आंवला के महत्व को देखते हुए इच्छा नवमी मनाना  शुरू कर दिया। सरई में सरना देवी स्थापित कर जंगल को बचाया।  फल वाले पौधों को जीवन में संतान की तरह स्थान दिया। लेकिन दुख की बात है कि  पढ़े लिखे होने के बाद भी आज तक हम नहीं जान पाए कि  पेड़ पौधों से हमारी एक एक सांस है।फिर भी हम उसे काट रहे हैं।
 
     गौरहा ने ग्रामीणों को बताया कि हम हर साल पौधे लगाते हैं..लेकिन संरक्षण करने से चूक जाते हैं। हमें स्वार्थी बनना होगा। सरकार सिर्फ उत्साहित कर सकती है। लेकिन पेड़ पौधों का संरक्षण हम सबको मिलकर ही करना है। क्योंकि पेड़ से  हवा और पानी है। हवा और पानी से हमारी ही नहीं बल्कि एक जीव की जिन्दगी है। जाहिर सी बात है कि यदि पेड़ नहीं होंगे..तो हम भी नहीं होंगे। इसके पहले दुनिया का दम घुटे..हम ना केवल पौधे लगाए और संरक्षित करें। बल्कि लोगों को भी पेड और जिन्दगी के बीच के गुणा भाग को अच्छी तरह से समझाएं।
        
               विधाय़क रजनीश सिंह ने लोगों से कहा सनातन काल से पेड़़ों से हमारा गहरा नाता है।  नाता हमने नहीं..बल्कि प्रकृति ने स्थापित किया है। आजकल हमारे रिश्ते पेड़ पौधों से टूट रहे हैं। वह दिन दूर नहीं जब बिना पेड़ पौधों के हम ना केवल टूटेंगे बल्कि विखर भी जाएंगे। तब हमारे पास समय नहीं होगा। इसलिए पेड़ पौधों के महत्व को समझते हुए आज से ही सरकारी और निजी जमीनों पर ज्यादा से ज्यदा पौधे लगाएं। खासकर युवा और किसान इस बात पर विशेष ध्यान दें। क्योंकि पेड़ का सम्बन्ध सीधे मानसून से है। यदि मानसून बेहतर चाहिए तो पेड़ों का संरक्षण देना ही होगा।
        
                          ग्राम पंचायत खैरा और पौंसरा में पौधरोपण अभियान के दौरान अंकित गौरहा के साथ विधायक रजनीश सिंह और जनपद पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी बीआर वर्मा विशेष रूप से मौजूद थे। इस दौरान अंकित,रजनीस और वर्मा ने स्थानीय लोगों के साथ पेड़ पौधों को बचाने का संकल्प लिया। साथ ही पंचायत प्रतिनिधि और सरपंचों ने एलान किया कि ग्राम पंचायत के सभी गांवों में पचास-पचास पौधे  ना केवल रोपेंगे। बल्कि सभी पौधों का परिवार के सदस्यों की तरह संरक्षण भी करेंगे।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...