भाई और पिता ने किया खून का खून

IMG-20151222-WA0005बिलासपुर—चकरभाठा थाना क्षेत्र के चिचिरदा में हर प्रसाद कौशिक के खेत में एक अज्ञात जली लाश पुलिस को मिली थी। युवक के शिनाख्त में जुटी पुलिस को काफी प्रयास के बाद मालूम हुआ की मृतक घुरू निवासी राकेश उर्फ नन्दू प्रजापति है। पुलिस पूछताछ में आरोपी मृतक का पिता और भाई निकला।  जिन्हे गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई की जार रही है।

चकरभाठा के चिचिरदा में 10 दिसम्बर की सुबह खेत में अधजली लाश मिली थी। पुलिस को अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में काफी पापड़ बेलने पड़े हैं। लाश मिलने के एक हफ्ते बाद भी पुलिस मृतक की पहचान नही कर पाई थी । इसी दौरान चकरभाठा पुलिस को मुखबीर से सूचना मिली की घुरू निवासी राकेश उर्फ नन्दू गायब है । शक के आधार पर पुलिस ने राकेश के पिता शिवलाल से संपर्क किया। नन्दू के बारे में आवश्यक जानकारी ली। परिजनो ने फोटो के आधार पर मृतक की शिनाख्त की।

परिजनो के रवैये पर पुलिस को शक हुआ कि बेटा एक सप्ताह से गायब है और परिजनो को इसकी चिंता नही है । जांच को आगे बढाते हुए पुलिस ने शिवलाल और उसके दूसरे बेटे वासुदेव प्रजापति से पुछताछ की तो दोनो के बयान में काफी अंतर पाया गया । लेकिन दोनों के बयान में एक बात मिल रही थी। दोनो ने बताया कि राकेश शराब पीने के बाद गाली गलौच और मारपीट करता था।

पुलिस की सख्ती के आगे दोनो पिता पुत्र टूट गये और हत्या का कारण रोज-रोज की गाली गलौच को बताया। पुलिस पूछताछ में यह भी बात सामने आयी कि राकेश 9 दिसम्बर की रात शराब पीकर घर पहुचा और खाने की बात को लेकर शिवलाल, वासुदेव और अन्य लोगो के साथ गाली गलौच और  मारपीट करने लगा ।

रोज-रोज के गाली गलौच और मारपीट से तंग आकर शिवलाल और वासुदेव ने राकेश की गला दबाकर हत्या कर दी। सबूत मिटाने के लिए राकेश के शव को देर रात चिचिरदा के एक खेत में फेक दिया। इसके बाद चेहरे पर मिट्टी डालकर जला दिया। संदेहियो के जुर्म स्वीकार करने के बाद पुलिस पिता और को आरोपी बना कर गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *