चावल घोटालाः कांग्रेसियों ने आईजी से की गिरफ्तारी की मांग..केशरवानी ने कहा..भ्रष्ट नगरपालिका अध्यक्ष को बचाने भाजपा नेताओं ने झोंकी ताकत.. बताया रात्रे ने छीना गरीबों का निवाला

बिलासपुर—-बुधवार को दिन के पहले पहर..भाजपा के दिग्गज नेताओं ने आईजी से मिलकर रतनपुर नगरपालिका अध्यक्ष के खिलाफ दर्ज एफआईआर को राजनीतिक बताया। पीडीएस चावल घोटाले में निष्पक्ष जांच की मांग की । दिन के दूसरे पहर जिला ग्रामीण और शहर अध्यक्ष समेत रतनपुर नगर पालिका के भाजपा और कांग्रेस पार्षदों ने अध्यक्ष घनश्याम रात्रे  के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। कांग्रेस नेताओं ने आईजी को बताया कि घनश्याम रात्रे ने गरीबों के चावल की ब्लैकमेलिंग के साथ ही पार्षद निधि में भ्रष्टाचार किया है। जांच में सारी बात सामने आ चुकी है। रात्रे पर सख्त धाराओं के तहत कार्रवाई के अलावा जल्द से जल्द गिरफ्तारी हो। 

                जानकारी हो कि लाकडाउन के दौरान छत्तीसगढ़ सरकार ने गरीबों और बिना राशन कार्डधारियों के बीच निशुल्क चावल वितरण का फरमान दिया था। रतनपुर नगरपालिका में पार्षदों से चंदा भी किया गया। घनश्याम रात्रे के निर्देश पर टेन्डर निकाला गया। टेन्डर पास होने के बाद भी चावल नहीं खरीदा गया। इसी बीच कांग्रेस नेताओं ने घनश्याम रात्रे के कार्यालय से 72 बोरी पीडीएस चावल को जब्त किया। बरामद चावल की बोरियों पर कोटा राइस मिल का लाट नम्बर भी लिखा था।

           कांग्रेस नेताओं और स्थानीय पार्षदों की शिकायत के बाद कलेक्टर के आदेश पर एसडीएम कोटा ने जांच रिपोर्ट पेश किया। मामले में नगरपालिका अध्यक्ष घनश्याम के खिलाफ रतनपुर पुलिस ने एफआईआर भी दर्ज किया है। एफआईआर लिखे जाने के खिलाफ बुधवार की सुबह धरमलाल कौशिक,अमर अग्रवाल, अरूण साव,कृष्णमूर्ति बांधी , रजनीश सिंह और हर्षिता पाण्डेय ने आईजी से मिलकर एफआईआर को राजनीति से प्रेरित बताया। भाजपा नेताओं ने कहा कि  मामले में निष्पक्ष जांच हो। 

                  शाम होते विजय केशरवानी, प्रमोद नायक, समेत रतनपुर के भाजपा और कांग्रेस पार्षदों ने भी आईजी से मुलाकात की। खासकर भाजपा पार्षदों ने आईजी से बताया कि  जांच सही हुई है। लेकिन अपराध दर्ज होने के बाद भी घनश्याम रात्रे को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है। रात्रे ने पीडीएस का चावल चोरी कर अपने कार्यालय में रखवाया था। इस बात का पुख्ता सबूत भी है। घनश्याम रात्रे के खिलाफ 420 का मामला दर्ज किया जाना चाहिए

नगरपालिका अध्यक्ष को गिरफ्तारी की मांग.

               जिला ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने बताया कि हमने नगर पालिका रतनपुर अध्यक्ष घनश्याम रात्रे के खिलाफ दर्ज एफआईआर में 420 की धारा शामिल करने की मांग की है। विजय ने बताया कि एसडीएम जांच में साबित हो चुका है कि घनश्याम रात्रे ने पीडीएस चावल घोटाला किया है। बावजूद इसके भाजपा के बड़े नेता भ्रष्टचार के आरोपी को बचाने आईजी से गुहार लगा रहे हैं। इससे जाहिर हो चुका है कि भाजपा नेताओं ने पिछले पन्द्रह साल से गरीबों के साथ अन्याय किया है। अब इन्ही भ्रष्ट को बचाने भाजपा नेता आईजी से एफआईआर निरस्त करने की मांग कर रहे है।भाजपा नेताओं को मालूम होना चाहिेए कि  खुद भाजपा पार्षदों ने ही घनश्याम रात्रे पर पीडीएस और पार्षद निधि फण्ड में घोटाले का आरोप लगाने के साथ ही एफआईआर दर्ज किए जाने की मांग की है। 

भाजपा नेताओं ने दिया भ्रष्टाचार को बढ़ावा

                     दुख की बात है कि भ्रष्ट नगर पालिका अध्यक्ष को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। हमने आईजी को घनश्याम रात्रे के काले कारनामों का चिट्ठा आईजी को सौंप दिया है। रात्रे पर 420 की धारा लगाने के साथ ही जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग की है। केशरवानी ने बताया कि घनश्याम रात्रे का साल 2012 का एक मामला आज भी एसडीएम कार्यालय में लंबित है। बावजूद इसके भ्रष्टाचार के आरोपी को बचाने का प्रयास करने वालों का असली चेहरा सामने आ गया है। उन्हे मालूम होना चाहिए कि कोरोना काल में घनश्याम रात्रे ने गरीबों के साथ विश्वासघात किया है। 

भाजपा पार्षद निशा सिंह ने कहा..घनश्याम रात्रे ने दिया गरीबों से धोखा

                  रतनपुर नगर पालिका भाजपा पार्षद निशा सिंह ने बताया कि घनश्याम रात्रे ने गरीब जनता और पार्षदों के साथ विश्वासघात किया है। पहले तो चावल वितरण के लिए पार्षद निधि से लाखों रूपए लिए गए। इसके बाद पीडीएस से ब्लैकमेलिंग कर चावल लाया गया। बताया गया कि पार्षद निधि से चावल की खरीदी हुई है। अब सब कुछ उजागर हो चुका है। हम लोगों ने आईजी से घनश्याम रात्रे को गिरफ्तार करने की मांग की है। 

जांच का दिया गया आदेश..दोषी के खिलाफ होगी कार्रवाई..दीपांशु काबरा

                             आईजी दीपाशु काबरा ने बताया कि सुबह भाजपा नेताओं ने मिलकर मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है। शाम को कांग्रेस नेता विजय केशरवानी पार्षदों के साथ पहुंचे। उन्होने जांच के दौरान दिए गए दस्तावेजों को पेश किया है। दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। पूरे प्रकरण को एसपी के संज्ञान में लाया गया है। मामले को गंभीरता से लिया जा रहा है। निष्पक्ष जांच के बाद दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।    

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...