अटल ने दी विकास को नई दिशा-अमर

20151225_120013बिलासपुर– भारतीय जनता पार्टी कार्यालय में नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल आज पत्रकारों से रूबरू हुए। पत्रकारों से सवाल सवाल जवाब के पूर्व मंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी के उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। इस मौके पर उन्होंने बताया कि अटल की अगुवाई में ही भारत को विकास की नई दिशा मिली। केन्द्र में पहली बार भाजपा सरकार के बनने से पहले तक देश में चुनाव जाति और अमीरी गरीबी के आधार पर लड़ा जाता था। लेकिन अटल के प्रधानमंत्री होने के बाद देश का चुनाव का मुख्य मुद्दा केवल और केवल विकास हो गया है। यह भारतीय जनता पार्टी की बहुत बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में प्रधानमंत्री मोदी सबके साथ और सबका विकास को लेकर सरकार चला रहे हैं। अमर ने इस दौरान केन्द्र और राज्य सरकार की उपलब्धियों को भी पत्रकारों के सामने रखा।

                                              अमर अग्रवाल ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी के जन्म दिन को सुशासन दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया है। पत्रकारों को संबोधित करते हुए मंत्री ने कहा कि केन्द्र में जब पहली बार भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी तो भारतीय राजनीति को नई दिशा मिली। इसके पहले जातीय आधार पर लोग वोट मांगते थे। सरकार बनती थी।  लेकिन अटल सरकार बनने के बाद अब सबका मुद्दा विकास हो गया है। उन्होंने बताया कि अटल के ही कार्यकाल में प्रधानमंत्री सड़क योजना,राष्ट्रीय कोरीडोर ,पूर्व की ओर देखो जैसी नीतियां तैयार की गयी। इसका फायदा अब देश को मिलने लगा है। अमर ने बताया कि अल्पमत में होने के बाद भी अटल बिहारी वाजपेयी ने परमाणु धमाका कर विश्व को भारतीय सामरिक शक्ति का परिचय दिया। देश का आर्थिक विकास भी तेजी से हुआ। लेकिन विकास पर 2004 के बाद ब्रेक लग गया।

                              पत्रकारों को संबोधित करते हुए अमर ने कहा कि मोदी सरकार के आने के बाद देश के चहुंमुखी विकास के लिए योजनाओं बनाई गयीं। योजनाओं का असर दिखाई देने लगा है। आने वाले समय में देश में हाई स्पीड ट्रेन चलाने का निर्णय ठोस नीतियों के साथ लिया गया है। देश के किसी गली में अब झुग्गी झोपड़ियां नहीं दिखेंगी। सबके घर पक्के होंगे। अमर ने बताया कि मोदी सरकार का मूल मंत्र है कि विश्व के सबसे युवा देश के हाथों के रोजगार के बेहतर अवसर मिले। इस बात को ध्यान में रखते हुए कौशल विकास योजना को लागू किया गया है। अधिक से अधिक संख्या में लोग रोजगार से जुड़ रहे हैं। रोजगार के नए स्रोत पैदा किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य ने पिछले 12 साल में विकास की नई ईबारत लिखी है। कृषि में विकास दर को सात से आठ प्रतिशत किया है। जब भाजपा ने राज्य की वागडोर को संभाला था उस समय प्रदेश में मात्र पांच प्रतिशत युवा कालेज का मुख देख पाते थे। लेकिन यह आंकड़ा बढ़कर बीस प्रतिशत हो गया है। शिक्षा अधिकार के चलते प्रदेश के 99 प्रतिशत छात्र स्कूल जाने लगे हैं। वर्तमान में उन्हें स्किल डेवलपमेंट योजना से जो़ड़ा जा रहा है।

20151225_114834                                    एक सवाल के जवाब में अमर अग्रवाल ने कहा कि किसानों की मौत भूख से संभव नहीं है। मौत का कारण कुछ और हो सकता है। इसमें कर्ज,बीमारी जैसी बातें शामिल हैं। उन्होंने कहा कि सशक्त पीड़ीएस योजना ने किसानों के पेट को कभी खाली नहीं होने दिया। इस योजना की पूरे देश और विदेश में तारीफ हो रही है। समर्थन मूल्य और बोनस के प्रश्न पर अमर ने बताया कि कुछ आर्थिक कमी है लेकिन किसानों को इसकी कमी नहीं होने दी जाएगी।

                                           सुशासन के सवाल पर अमर ने बताया कि हमें 67 साल पहले स्वराज तो मिला लेकिन सुराज नहीं मिला है। इसका मुख्य कारण कांग्रेस की नीतियां जिम्मेदार हैं। अब लोगों को स्वराज के साथ सुराज भी मिल रहा है। शिक्षा,सुरक्षा,अभिव्यक्ति,विकास हर क्षेत्र में सुशासन का असर भारतीय जनता पार्टी सरकार आने के बाद दिखाई देने लगी है। उन्होने बताया कि नसबन्दी काण्ड में दोषियों को सजा मिली। नान घोटाले के जिम्मेदार लोग अब जेल के पीछे हैं। ईओडब्लू ने सरकार के निर्देश पर कार्रवाई करते हुए आरोपियों को कठघरे के पीछे भेज दिया है।

            सीजी वाल के सवाल पर अमर अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश में आउटसोर्सिंग जैसा कोई मुद्दा है ही नहीं। कांग्रेस को इतनी फिकर थी तो चालिस साल सत्ता में रहने तक शिक्षा के लिए काम क्यों नहीं किया। मंत्री ने जोगी का नाम लिए बिना कहा कि जितने आंकड़े पेश किये जा रहे हैं। सब झूठ है। पत्रकार एक बार संबधित लोगों से संपर्क करेंगे तो दूध का दूथ और पानी का पानी हो जाएगा। अमर अग्रवाल ने कहा कि एमसीआई की रिपोर्ट उचित हो सकती है। लेकिन देश के किस मेडिकल कालेज में थोड़ी बहुत समस्या नहीं है। समस्याएं और शिकायतें जब सामने आती है उसका निदान किया जाता है। अमर ने स्वीकार करते हुए कहा कि थोड़ी बहुत हर जगह समस्या है लेकिन उसका निदान भी हो रहा है। उन्होंने शिक्षा की गुणवत्ता को लेकर चिंता जाहिर की लेकिन जल्द ही दुरूस्त करने की बात भी कही।

                            हाईकोर्ट का खण्डपीठ होना चाहिए या नहीं के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह मामला सुप्रीम कोर्ट का है फैसला भी कोर्ट को करना है। सफाई अभियान सीवरेज की असफलता को इंकार करते हुए अमर ने कहा कि सीवरेज सफल होगा। कुछ समस्याएं है। उसे ठीक किया जा रहा है। सफाई अभियान की असफलता को भी इंकार कर दिया। उन्होंने बिलासपुर निगम प्रशासन में अंडगेबाजी की बात को इंकार कर दिया। अमर ने कहा कि कीर्ति आजाद का मामला केन्द्रीय स्तर का है। लेकिन यह इतिहास है कि कोई मंत्री किसी के खिलाफ मानहानि को लेकर कोर्ट में गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *