अनिष्ट की आशंका से बचने..गौवंशियों की आत्मशांति के लिए 54000 मंत्र का जाप..1कुंडीय यज्ञ.. हर्षिता समेत भाजपा नेता हुए शामिल

तखतपुर( टेकचंद कारड़ा)— गौ वंश की आत्मा की शांति और क्षेत्र को प्रकोप की आशांका से मुक्त कराने को लेकर   बेलपान में 54000 गायत्री मंत्रो का जाप और  एक कुंडीय यज्ञ का आयोजन किया गया। पुरोहितों ने मंत्र जाप कर गौवंशीयों की आत्मा की शांति की कामना करते हुए अमन चैन का आशीर्वाद मांगा। इस दौरान उपस्थित लोगों ने अप्रत्यक्ष भूल को लेकर पश्चाताप के साथ शांति की कामना की।
 
                  मेड़पार बाज़ार में कुछ दिनों पहल 54 गौ वंश की दुखद मृत्यु की शांति के लिए गुरूवार को बेलपान में नर्मदेश्वर प्रांगण में 54 हज़ार गायत्री मंत्रों का जाप किया गया। यज्ञ कार्यक्रम में पुरोहितों समेत गणमान्य लोग मौजू थे।
 
                    पुरोहितों ने बताया कि गौ माता की हत्या से क्षेत्र को किसी अनिष्ट की आशंका को इंकार नहीं किया जासकता है। वैदिक गंथों में इस बात का जिक्र भी है। इस बात को ध्यान में रखते हुए तखतपुर को किसी भी तरह के अनिष्ट और अमंगल से बचाने यज्ञ का आयोजन किया गया। यज्ञ में स्थानीय नागरिकों ने भी हिस्सा लिया। 
 
    गुरूवार को सुबह से 54000 गायत्री मंत्र का जाप किया गया। साथ ही एक कुंडीय गायत्री यज्ञ गौ माताओं की आत्मा की शांति के लिए किया गया। क्षेत्र को दोष मुक्त  करने यज्ञ में आहुति दी गयी।
 
              जानकारी हो कि मेढ़पार में पंचायत की जर्जर भवन के छोटे कमरे में गायों को ठूंस ठूँस कर भरा गया था। दम घुटने से करीब 54 गौ वंश की मौत हो गयी थी।
 
                     मंत्र जाप और यज्ञ कार्यक्रम में मुख्य रूप  से हर्षिता पाण्डेय, घनश्याम कौशिक,त्रेतानाथ पाण्डेय,संतोष कश्यप,बी आर महोबिया,विश्वनाथपटेल ,प्रदीप कौशिक ,रामचरण वस्त्रकार, दिलीप कोरी, कृष्ण कुमार साहू, एस व्ही गजबे सुरेश पांडेय,  साधु राम कौशिक, सुकदेव कौशिक, नैनलाल साहू, ऋषि पटेल, सुधीर वर्मा, अश्वनी साहू, दिनेश साहू, काशी देवांगन, कोमल सिंह, श्रीमती ललिता कश्यप, दिलीप तोलानी, ज्ञान सिंह, ओंकार सोनी, संजय सोनी, परस राम साहू, विश्वनाथ यादव, दाऊ राम साहू, सुदर्शन गिरी, मूलचंद कौशिक, जितेंद्र साहू, प्रमोद शर्मा, अजय यादव, लवकुमार पांडेय, गोविंद कश्यप, सीताराम यादव और सुनील साहू सहित काफी बड़ी संख्या में क्षेत्रवासियों ने शिरकत किया। इस अवसर पर गायत्री परिवार के वरिष्ठ परिजनों को शाल से सम्मानित किया गया।
 
 
 
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...