23 साल सेवा के बाद भी आखिर क्यों नही मिला सहायक शिक्षको को क्रमोन्नत वेतन का लाभ,फेडरेशन ने कहा-नियुक्ति नियम में 7 साल में पदोन्नति व 10 साल में क्रमोन्नत वेतन देने की बात स्पष्ट

रायपुर।रायपुर छ ग सहायक शिक्षक फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष मनीष मिश्रा ने कहा कि वे सहायक शिक्षक जो पदोन्नति से वंचित थे उनको 10 वर्ष की सेवा अवधि पूर्ण करने के बाद आखिर क्यों नही मिला क्रमोन्नति का लाभ जबकि 2013 से पहले तक मिलता था इसका लाभ शिक्षा विभाग और पंचायत विभाग की गलत नीतियों के परिणाम स्वरूप हजारो सहायक शिक्षको के वेतन में विसंगति पैदा हुई जिसका निराकरण जरूरी है।राज्य सरकार से सहायक शिक्षक कोई अतिरिक्त लाभ नही मांग रहे है वे अपना अधिकार मांग रहे है।प्रदेश अध्यक्ष ने जारी बयान में कहा कि अगर जिस प्रकार विज्ञान और गणित समूह के सहायक शिक्षको को पदोन्नति का लाभ पंचायत विभाग ने दिया ठीक उसी प्रकार समय पर पर्याप्त योग्यता रखने वाले सहायक शिक्षको को क्रमोन्नति वेतन का लाभ दे दिया जाता तो सहायक शिक्षको के वेतन में इतनी बड़ी विसंगति पैदा नही होती।CGWALL NEWS के व्हाट्सएप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

मनीष मिश्रा ने कहा सहायक शिक्षको के साथ जो न इंसाफी हुई है उसके लिए पंचायत विभाग दोषी है राज्य सरकार को इस सम्बंध में आवश्यक पहल करने की जरूरत है आज प्रदेश का हर वह सहायक शिक्षक जो एक नियुक्ति नियम के तहत 23 साल पहले अपनी सेवा शुरू किया था वह मायूस हो गया है एक साथ सेवा शुरू करने वाले सहायक शिक्षको में अधिकांश गणित विज्ञान और अंग्रेजी समूह के सहायक शिक्षक आज व्यख्याता बन गए जबकि कला समूह का सहायक शिक्षक आज भी सहायक शिक्षक के पद पर कार्य करने को मजबूर है।

अगर पंचायत विभाग पदोन्नति से वंचित सहायक सहायक शिक्षको 10 साल की सेवा अवधि पूर्ण होने पर क्रमोन्नति वेतन प्रदान कर दिया होता तो आज अधिकांश सहायक शिक्षक को उच्च वर्ग शिक्षक को जो वेतन मिल रहा है उसी वेतन में उनके वेतन का निर्धारण होता परन्तु पंचायत विभाग की लापरवाही का नतीजा सहायक शिक्षको को झेलना पड़ रहा है।पंचायत विभाग ने एकतरफ तो 14 साल की सेवा अवधि में गणित और विज्ञान विषय के सहायक शिक्षको को 2 पदोन्नति प्रदान कर दी परन्तु पदोन्नति से वंचित रहने वाले सहायक शिक्षको को एक क्रमोन्नती भी प्रदान करना उचित नही समझा।जो समझ से परे है।

23 साल की सेवा करने के बाद आज भी उम्मीद लगाए बैठे है कि सरकार सहायक शिक्षको की इस अहम समस्या का निराकरण करेगी।एक तरफ राज्य सरकार 2 वर्ष की सेवा अवधि का सम्मान करते हुए संविलयन का आदेश जारी की वही 23 साल की सेवा अवधि वाजिब हक देने में आना कानी कर रही है।प्रदेश अध्यक्ष मनीष मिश्रा ने कहा कि छ ग सहायक शिक्षक फेडरेशन लगातार सरकार से सहायक शिक्षको की वेतन विसंगति को दूर करने की अपील कर रही है इसी कड़ी में सहायक शिक्षक बहने मुख्यमंत्री को राखी भेज कर अपनी समस्याओं का निराकरण करने की मांग कर रही है।

आगामी चरण में स्कूल खुलने के बाद फेडरेशन पालक समुदाय से सहयोग लेकर सर्वप्रथम शाला प्रबन्ध समिति से प्रस्ताव पारित करा कर राज्य सरकार व शिक्षा विभाग को भेजेगा,जिसमें इस बात का उल्लेख होगा कि अमुक सहायक शिक्षक जो 23 साल से एक ही पद पर कार्य कर रहा है उसको सरकार उसका अधिकार दे.नियम अनुसार सहायक शिक्षको को क्रमोन्नती प्रदान करे।

इस प्रकार का प्रस्ताव प्रबन्ध समिति से पास कराने की मुहिम चलाएगा फेडरेशन-फेडरेशन के प्रदेश उपाध्यक्ष शिव मिश्रा प्रदेश, सचिव सुखनंदन यादव, प्रदेश कोषाध्यक्ष अजय गुप्ता, कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष सी डी भट्ट, बलराम यादव, सिराज बक्श, प्रदेश महासचिव दिलीप पटेल, कौशल अवस्थी, श्रीमती प्रेमलता शर्मा, रवि लोहसिह, प्रदेश प्रवक्ता श्रीमती उमा पांडेय, हुलेश चन्द्राकर ,बसन्त कौशिक, विकास मानिकपुरी, अनुशासन समिति प्रभारी अस्वनी कुर्रे, शरण दास टिकेस्वर भोय रणजीत बनर्जी, शिव सारथी, प्रदेश महामंत्री छोटे लाल साहू, आदित्य गौरव साहू, बी पी मेश्राम श्रीमती खिलेस्वरी शांडिल्य, श्रीमती बनमोती भोई, श्रीमती आशा पांडेय, राजकुमार यादव जलज थवाईत चन्द्रप्रकाश तिवारी राजेश प्रधान श्रीमती दुर्गा वर्मा, तरुण वैष्णव, नोहर चन्द्रा श्रीमती इंदु यादव, महेश कुमार सेठी, श्रीमती राजकुमारी भगत, अजय साहू, मनोज कुमार अम्बष्ट, दीप्ति बिसेन गायत्री साहू शैलेश कुमार सहित समस्त पदाधिकारीगणो ने राज्य सरकार से सहायक शिक्षको की 23 साल की सेवा का वाजिब हक देने की मांग की है ।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...