कार्रवाई से बचने कांग्रेस नेता ने किया फेसबुक लाइव..खुद को बताया पाक साफ..बनाया था इंस्पेक्टर पर दबाव

रायपुर—- राजधानी के अभनपुर सर्किल में पदस्थ आबकारी दारोगा की तरफ से कांग्रेस नेता  लोकेश वशिष्ठ की शिकायत के बाद मामला तूल पकड़ लिया है। बताया जा रहा है कांग्रेस नेता वशिष्ठ ने देर रात महिला इंस्पेक्टर से वाट्सअप पर थाने में शिकायत को लेकर ना केवल नाराजगी जाहिर की है। बल्कि याद रखने की धमकी भी दी है।  अब आमने सामने की बातचीत को मुद्दा बनाकर कांग्रेस नेता फेसबुक लाइव के माध्यम से खुद को पाक साफ बताने का प्रयास किया है। बताया जा रहा है कि पुलिस जल्द ही अभनपुर शराब दुकान सुपरवाइजर और सर्किल इंस्पेक्टर की शिकायत पर कार्रवाई करने वाली है।

सुपरवाइजर से मारपीट

                             जानकारी हो कि 30 जुलाई को अभनपुर शराब दुकान सुपरवाइजर को कुछ लोगों ने एक ढाबा में बुलाकर जमकर मारपीट की।  मारपीट में करीब 15 लोग शामिल थे। मामले को लेकर आबकारी विभाग की तरफ से सुपरवाइजर को स्थानीय थाना में रिपोर्ट लिखाने को कहा गया। सुपरवाइजर गौरव साहू ने अपने बयान  में बताया कि कांग्रेस नेता के आदमी तीन गाड़ियों में सवार होकर ढाबा पहुंचे। सभी ने मिलकर मारपीट की। किसी तरह जान बजाकर भागा। इस दौरान मारपीट करने वालों ने धमकी दी कि शराब दुकान उनके लोगो के द्वारा संचालित होगी। उसके आदमी ही शराब बेचेंगे। यदि कोई बीच में आया तो उसे जान से हाथ धोना पड़ेगा।

                           मामले में दूसरे दिन सर्किल इस्पेक्टर ने भी थाने में लिखित शिकायत की। साथ ही जानकारी  विभाग को भी दी। अपनी शिकायत में सर्किल इंस्पेक्टर ने नगर पुलिस अधीक्षक,अटल नगर और एसएसपी समेत आबकारी प्रशासन को बताया कि कांग्रेस नेता लोकेश वशिष्ठ ने शासकीय कार्य में बाधा डालते हुए सुपरवाइजर रखते समय उसकी पसंद को विशेष ध्यान रखने को कहा । बताते चलें कि लोकेश वशिष्ठ युवक कांग्रेस,रायपुर जिला ग्रामीण अध्यक्ष है।

कांग्रेस नेता के खिलाफ शिकायत

                       इंस्पेक्टर ने अपनी शिकायत में बताया  कि शराब दुकानों के कामकाज में लोकेश अनावश्यक रुप से हस्तक्षेप करता है। स्टॉफ की ड्यूटी अपने हिसाब से लगाने के लिये दबाव ड़ालता है। .कोरोना पॉजिटिव पाये जाने पर पुराने कर्मचारियों को जब क्वारंटीन भेजा गया तो लोकेश ने शराब दुकानों में ड्यूटी लगाने को लेकर अनावश्यक दबाव बनाया। और नये स्टाफ की भर्ती का ना केवल विरोध किया…बल्कि बिना पूछे नए स्टाफ की नियुक्ति को लेकर नाराजगी जाहिर की। जब  दबाव बनाने में कामयाब नहीं हुआ तो उसके आदमियों ने सुपरवाइजर के साथ मारपीट की घटना को  अंजाम दिया है।

                  जानकारी के अनुसार पुलिस शिकायत से पहले देर रात कांग्रेस नेता लोकेश वशिष्ठ ने सर्किल इंस्पेक्टर को वाट्सएप में लिखा कि मामले को मीडिया तक ना लाया जाए। पुलिस में एफआईआर भी दर्ज नहीं कराएं। इससे उनका काम बिगड़ेगा। बावजूद इसके इंस्पेक्टर ने थाना पहुंचकर शिकायत की। शिकायत के बाद कांग्रेस नेता ने इंस्पेक्टर को वाट्स अप में लिखा कि अच्छा नहीं किया।  जवाब में इंस्पेक्टर ने कहा कि बात आमने सामने करेंगे। इसके बाद नाराज कांग्रेस नेता ने कहा कि इस बात को ध्यान में रखेंगे।

फेसबुक लाइव से बनाया दबाव

                               जानकारी के अनुसार पुलिस और अपने सरपरस्त से सहयोग नहीं  मिलते देख 2 अगस्त को लोकेश ने फेसबुक लाइव के माध्यम से खुद को पाक साफ बताने के साथ ही पूरे आबकारी महकमा पर शराब दुकानों में मिलावट  और ओव्हर रेट करने का आरोप लगाया है। लोकेश ने यह भी कहा कि पूरे प्रकरण में आबकारी विभाग की मिलीभगत है।

                  वही विभाग के आलाधिकारियों का मानना है कि उन्हें अच्छी तरह से मालूम है कि क्या कुछ हो रहा है। फिलहाल लोकेश वशिष्ठ के खिलाफ थाने में दर्ज है। पुलिस अपना काम करेगी। फेसबुक लाइव… कर्मचारियों पर अनावश्यक दबाव बनाने और पुलिस का ध्यान भटकाने के लिए किया जा रहा है।

दबाव में नहीं

                  पुलिस सूत्रों की माने तो लोकेश वशिष्ठ के मामले की जांच होगी। मामले में विभाग से भी सम्पर्क करेंगे। दोषी पाए जाने पर कार्रवाई होगी। फेसबुक लाइव से दबाव में नहीं आने वाले है

 
फेसबुक लाइव से दबाव में दारोगा और विभाग
        
                 कांग्रेस नेता के लाइव के बाद महिला दारोगा और आबकारी महकमा भारी दबाव में है। महिला इंस्पेक्टर ने फोन पर कुछ भी बताने से इंकार कर दिया है। उन्होने कहा कि हमने सारी सच्चाई पुलिस के सामने  रख दी है। इसके अलावा उन्हें कुछ नहीं बोलना है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...