कांग्रेस विधायक ने कहा..विष्णु देव आदिवासियों के नहीं..भाजपा के नेता. आदिवासी भी बन सकता है सीएम.. प्रधानमंत्री हैं कोरोना संक्रमण के दोषी ..तब कर रहे थे नमस्ते ट्रंप

बिलासपुर—- रामानुजगंज विधायक बृहस्पति सिंह ने कहा कि काबिल लोग ही मुख्यमंत्री बनते हैं। जरूरी नहीं कि आदिवासी ही मुख्यमंत्री बने। यदि कोई योग्य है तो आदिवासी मुख्यमंत्री क्यों नही बन सकता। बृहस्पति सिंह ने बताया कि विष्णु देव साय रिमोट की तरह करना होगा। क्योंकि वह आदिवासियों के नहीं बल्कि भारतीय जनता पार्टी के नेता है। उनका काम ही बोलना है। बोलने के लिए ही उन्हें अध्यक्ष बनाया गया है। आदिवासी नेता है तो उन्हें मालूम होना चाहिए कि नरवा गरूआ घुरवा बारी योजना का दैनिक जीवन में क्या महत्व है।

                  निजी प्रवास पर बिलासपुर पहुंचे कांग्रेस के रामानुजगंज विधायक और सरगुजा विकास प्राधिकरण के चैयरमैन ने कहा कि विष्णु देव साय आदिवासियों के नहीं। बल्कि भाजपा के नेता हैं। उन्हें सिर्फ बोलने के लिए भाजपा ने प्रदेश अध्यक्ष बनाया है। उन्हें रिमोट पर बोलना ही होगा। बृहस्पति सिंह ने बताया कि विष्णु देव साय यदि आदिवासियों के नेता होते तो पता चलता कि भूपेश सरकार ने आदिवासी समाज के लिए क्या कुछ नहीं किया है। पन्द्रह साल से आदिवासी समाज का भाजपा शोषण कर रही थी। जाहिर सी बात है कि उन्हें आदिवासियों की प्रगति अच्छी नहीं लगेगी। क्योंकि वह भाजपा के नेता हैं।

                              क्या प्रदेश का मुखिया आदिवासी नहीं होना चाहिए के सवाल पर बृहस्पति सिंह ने कहा कि होना चाहिए..और क्यों नहीं हो सकता है। दरअसल प्रदेश का मुखिया बनने के लिए सबको साथ लेकर चलने की योग्यता होना जरूरी है। मुख्यमंत्री बघेल अच्छा काम कर रहे हैं।

               विष्णु देव साय ने नरवा गरवा घुरवा बारी पर उंगली उठा रहे है। सवाल के जवाब में बृहस्पति सिंह ने कहा कि हमने हरित क्रांति देखा। जमकर यूरिया फास्फेट का उपयोग हुआ। पंजाब हरियाणा में फसलों की बम्पर पैदावार हुई। दुष्परिणाम अब सामने आ रहा है। हम केमिकल का उपयोग कर रहे हैं। कैंसर, जैसे घातक रोग का शिकार हो रहे हैं। इससे बचने का सही उपाय केमिकल खाद का कम उपयोग हो। नरवा घुरवा गरवा बारी इसमें सहायक साबित होगा। हम पैदावार भी लेंगे। स्वस्थ्य रहते हुए जीविकोपार्जन भी करेंगे।

कोरोना संक्रमण के लिए प्रधानमंत्री जिम्मेदार

           कोरोना काल में प्रदेश की हालत जर्जर है। विकास पूरी तरह से ठप हो गया है। विपक्ष भी आरोप लगा रहा है। सवाल के जवाब में रामानुजगंज विधायक ने कहा कि सारी स्थितियों के देश के प्रधानमंत्री जिम्मेदार हैं। जब दिसम्बर में कोरोना संक्रमण को लेकर दुनिया भर के देश बचाव के उपाय कर रहे थे। उस समय प्रधानमंत्री नमस्ते ट्रंप की तैयारी कर रहे थे। दुनियाभर में कोरोना को नियंत्रित कर लिया गया है। लेकिन हम प्रधानमंत्री की गलतियों का खामियाजा भुगत रहे हैं। नमस्ते ट्रंप के बाद मध्यप्रदेश की सरकार गिराने तक देश में लाकडाउन नहीं लगाया गया। सरकार गिरते ही देश में लाकडाउन वह भी बिना तैयारी के थोप दिया गया। यदि इसी बीच मजदूरों आम जनता को घर लौटने की व्यवस्था कर दी गयी होती तो जनता को इतनी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता। दरअसल देश के प्रधानमंत्री बिना सोचे समझे और पार्टी हित में काम किया। जिसका खामियाजा पूुरा देश भुगत रहा है। 

 विकास पर जीतेंगे मरवाही चुनाव

             सवाल के जवाब में बृहस्पति सिंह ने कहा कि विकास कार्य पर जीतेंगे मरवाही चुनाव। जनता देख रही है। और वोट कांग्रेस प्रत्याशी को देंगी।  हमरा मुकाबला भाजपा से है। भाजपा को यहां  एक बार फिर जीत होगी। मरवाही चुनाव में हार और डर का सवाल ही नहीं उठता है।

                   रामानुजगंज विधायक ने कहा कि रेणु जोगी हमारी ही पार्टी की नेता रही है। लेकिन इस समय स्थानीय पार्टी की नेत्री हैं। लेकिन यह जानकारी हो कि प्रदेश में स्थानीय दलों का कोई प्रभाव नहीं है।

          बृहस्पति सिंह ने बताया कि एनईई और जेईईटी की परीक्षा का आयोजन उचित नहीं है। कोरोना काल में प्रतिभागियों को बहुत खतरा है। जब यात्रा की सुविधा नहीं है। हाटल अभी खुले नहीं है। रूकने का कहीं स्थान नहीं है। ऐसे में परीक्षा का आयोजन उचित नहीं है। हमने अपना विरोध जाहिर कर दिया है। हां डंडा लेकर थोड़ी पीछे पड़ेंगे।

 

            

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...