छात्रा कु.अनिता ने कहा JEE-नीट की परीक्षा देने वाले छात्रों को निःशुल्क परिवहन सुविधा उपलब्ध कराकर सरकार ने दूर की परेशानी

नारायणपुर-कोरोना महामारी के बीच होने वाली जेईई-नीट परीक्षा के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने छात्रों की परेशानी को ध्यान में रखते हुए परीक्षा केन्द्र तक जाने-आने के लिए निःशुल्क परिवहन सुविधा उपलब्ध कराई है। जिससे की जेईई-नीट के परीक्षार्थियों को परेशानी का सामना न करना पड़े और समय पर परीक्षा केंद्र पहुँचकर परीक्षा में सम्मिलित हो सके।जनवरी में जेईई मेंस में 63.48 परसेंटाइल अंक लाने वाली छात्रा कुमारी अनिता कचलाम का कहना है कि उन्होंने कन्या शिक्षा परिसर गरंाजी में 12वीं की पढ़ाई करते-करते जेईई परीक्षा की तैयारी शुरू की। जिला प्रशासन द्वारा उसे जेईई की निःशुल्क कोचिंग भी प्रदान की गयी। पढ़ाई कर परीक्षा की तैयारी में लगी अनिता कहती है कि जब उसे जेईई परीक्षा देने के लिए रायपुर जाना है तथा कोरोना महामारी के चलते बस सुविधा बंद हो जाने से परीक्षा केंद्र रायपुर तक जाना एक बड़ी परेशानी बनी हुई थी।

मध्यम वर्गीय परिवार होने के कारण अनिता के परिवार के लिए यह संभव नहीं था, कि वे किराए का वाहन कर सकें। ऐसे में प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हम छात्रों की परेशानी को समझते हुए निःशुल्क परिवहन सुविधा उपलब्ध कराई है। कुमारी अनिता खुशी खुशी राज्य शासन को धन्यवाद देते हुए कहती है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मेरे जैसे हजारांे परीक्षार्थियों को निःशुल्क वाहन सुविधा उपलब्ध करवाकर हमारी परेशानी को दूर किया है।

लॉकडाउन में बंद हुई वाहनों के कारण मेरी पुत्री मायूस थी। मुझे भी लगता था कि कोरोना से उत्पन्न परिस्थितियों के कारण मैं अपनी पुत्री को रायपुर परीक्षा दिलाने कैसे ले जाऊंगा। किंतु प्रदेश के मुख्यमंत्री ने मुझ जैसे गरीब एवं मध्यम वर्गीय परिवार के बच्चों को निशुल्क वाहन सुविधा उपलब्ध कराकर बच्चों एवं पालको के सपनों को फिर से पंख लगा दिया है। इसके लिए मैं मुख्यमंत्री का जितना धन्यवाद ज्ञापित करू, कम है। नक्सल प्रभावित जिला नारायणपुर से 25 किलोमीटर दूर पानीगांव रहवासी मेहत्तर कचलाम शुक्रवार को शासन द्वारा उपलब्ध कराई गई निःशुल्क वाहन सुविधा के माध्यम से अपनी पुत्री अनिता कचलाम को परीक्षा सेंटर पार्थिवी प्राविंस, सरोना सेंटर, रायपुर जेईई मेंस एग्जाम दिलाने ले जाते समय उक्त बातें कहीं । मेहत्तर कहते हैं कि कोरोना के डर के कारण आज जहां रिश्तेदार अपने रिश्तेदारों को घर में रुकवाना पसंद नहीं कर रहे ह।ैं वहीं मध्यम वर्गीय परिवारों के लिए होटल लेकर बच्चों को एग्जाम दिलाना दूर की बात थी।

ऐसी परिस्थितियों में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं जिला प्रशासन ने जो निशुल्क वाहन सुविधा उपलब्ध कराया है, उसके कारण इस विशेष परिस्थितियों में भी उन जैसे पालकों के लिए अपने बच्चों को रायपुर लेकर जाना और एग्जाम दिला कर वापस अपने घर आ जाना संभव हो सका है ।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...