और फिर बन गया वर्ल्ड बुक रिकार्ड.. जब 6 लाख लोगों ने लिया..न होंगे.न होनेे देंगे का संकल्प..गृहमंत्री ने दी बधाई

बिलासपुर.–बिलासपुर पुलिस और न्यायधानी की जनता ने  साइबर सुरक्षा का विश्व कीर्तिमान रच दिया है। 8 सितंबर की सुबह 7 बजे से बिलासपुर पुलिस ने न्यायधानी के लोगों से साइबर सुरक्षा का संकल्प पत्र भरवाना शुरू किया। देखते ही देखते 5 लाख से अधिक लोगों ने संकल्प पत्र भरकर संकल्प ले लिया कि अब से न तो वे कभी साइबर फ्रॉड के शिकार होंगें और न ही अपने से जुड़े किसी व्यक्ति को इसका शिकार होंने देंगे। 
 
               पुलिस प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार चंद घंटों में लाखों लोगों का एक साथ साइबर सुरक्षा को लेकर लिए गए संकल्प ने बिलासपुर पुलिस और बिलासपुरवासियों का नाम  वर्ल्ड रिकॉर्ड बुक में दर्ज करा दिया है। साइबर अपराधों को बढ़ते देख एसपी प्रशांत कुमार अग्रवाल ने साइबर मितान अभियान की शुरुआत की थी। ताकि बिलासपुर को साइबर अपराध से मुक्त किया जा सके। धीरे-धीरे अभियान में बिलासपुर की जनता और अन्य लोग भी जुड़ते गए।  देखते ही देखते सब ने मिलकर वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा डाला।
 
 देर रात तक चला संकल्प पत्र अभियान –
 
              मंगलवार की शाम 6 से 7 बजे के बीच पुलिस के पास 5 लाख से अधिक संकल्प पत्र पहुंचे। पढ़कर और भरकर लोगों ने साइबर फ्रॉड का शिकार नहीं होने का संकल्प लिया।  मंगलवार की देर रात तक कई क्षेत्रों से संकल्प पत्र आते रहे। फिलहाल पत्रों की गिनती अभी बाकी है। संकल्प पत्र के आंकड़ें 6 लाख के पार पहुंचने की उम्मीद जताई जा रही है।
 
कैसे हुई शुरुआत और कैसे पहुंचे लक्ष्य तक-
 
                   अभियान की घोषणा 22 अगस्त को एसपी प्रशांत अग्रवाल ने की थी। इस दौरान साइबर जागरूकता पर बनी शार्ट फिल्मों का टीजर भी जारी किया गया था। अभियान को  4 चरणों में चलाय गया। पहले चरण में 22 से 25 अगस्त तक टीमें बनाई गयी। शार्ट अवेयरनेस मूवीज़, पोस्टर्स, ट्रेनिंग मटेरियल तैयार किया गया।  दूसरे चरण में 25 से 30 अगस्त के बीच सभी को ट्रेनिंग दी गई। साइबर अपराध की जानकारी दी गयी।  25 से 31 अगस्त के बीच प्रचार-प्रसार का काम शुरू हुआ। साइबर लीडर्स और साइबर रक्षक तैयार किए गए। पुलिस स्टाफ, एसपीओ और  सामाजिक संगठन शामिल हुए। साइबर रक्षक चौथे चरण के दौरान 1 सितम्बर से 7 सितम्बर तक दिन-रात एक कर लोगों को जागरूक किया। 8 सितम्बर की सुबह महाअभियान में शामिल हुए लोगों ने संकल्प पत्र भरकर साइबर क्राइम से बिलासपुर को मुक्त करने का वादा किया।
 
विश्व साक्षरता दिवस पर साइबर क्राइम जागरूकता
 
  8 सितम्बर को विश्व साक्षरता दिवस मनाया जाता है। पुलिस ने पूरे जिले के लोगों को साइबर अपराध के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी।  ठगी के प्रकरण भी बढ़े थे. 
 
व्यक्ति तक पहुंचे साइबर मितान-
 
                 अभियान को सफल बनाने पुलिस, एसपीओ, सामाजिक संगठनसे साइबर मितान बनाए गए। इस दौरान साइबर रक्षक तैयार किए गए। सभी  रक्षकों ने अपने अधीन 25-25 साइबर मितान बनाया।  इसके बाद सरकारी दफ्तरों, कॉलेज-कोचिंग, जिम, शॉपिंग मॉल, बाजार, होटल-रेस्टोरेंट, कॉलोनी, अपार्टमेंट, टोलप्लाजा, पेट्रोल पंप, वार्ड पार्षद-सरपंच से सम्पर्क कर सभी को जागरूक किया गया।
 
       बिलासपुर पुलिस महानिरीक्षक दिपांशु काबरा ने इस अभियान का लगातार मार्गदर्शन किया। आई जी दिपांशु काबरा और  प्रशांत अग्रवाल ने लोगों को जागरूक करने फेसबुक लाइव भी किया।
 
गृहमंत्री ने की जमकर तारीफ
 
            गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने बिलासपुर पुलिसके अभियान की जमकर तारीफ की। साथ ही पुलिस प्रशासन को शुभकामनाएं भी दी। संसदीय सचिव एवं तखतपुर विधायक रश्मि आशीष सिंह, सांसद अरुण साव, विधायक शैलेश पांडेय, महापौर रामशरण यादव ने भी अभियान की प्रशंसा की है।
loading...
loading...

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...