ग्रामीणों ने बताया..जबरदस्ती तोड़ा गया मकान..वन अधिकारियों ने जीना किया मुश्किल..घर बनाने की मिले छूट

 बिलासपुर—- केन्दा के ग्रामीणों ने आज जिला कार्यालय पहुंचकर विस्थापित किए गए जमीन पर आवास निर्माण की अनुमति मांगी है। ग्रामीणों ने बताया कि हम पिछले चालिस साल से केन्दा गांव स्थित बंधवापारा में मकान  बनाकर निवास करते हैं। पिछले दिनों सरपंच और स्व सहायता समूह के लोगों ने वन अधिकारियो के साथ मिलकर मकान को तोड़ दिया। आज हम बेघर हो चुके हैं। हम लोगों को हटाए गए स्थान पर घर बनाने की अनुमति दी जाए।

                  अच्छी खासी संख्या में कोटा तहसील के केन्दा बंधवापारा के लोगों ने कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर मकान बनाए जाने की फरियाद की है। ग्रामीणों ने बताया कि केन्दा के बंधवापारा स्थित खाली जमीन पर हम पिछले चालिस साल से मकान बनाकर रहते हैं। पिछले दिनों गांव की सरपंच कल्याणी देवी और स्व सहायता समूह के लोगों ने मकान तोडवा दिया है। वन अधिकारियों से मिली भगत कर जमीन से बेदखल भी कर दिया है। हम लोग मौके पर खेती भी करते हैं। खड़ी फसल को भी वन अधिकारियों ने नष्ट कर दिया है।

               ग्रामीणों ने बताया कि वन अधिकारी लगातार जमीन खाली करने का दबाव बना रहे है। ग्रामीणों के अनुसार वन अधिकारी और सरपंच ने मकान तोड़ने से पहले जानकारी भी नहीं दी। अब पुलिस बल का प्रयोग कर सबको हटाया जा रहा है।

            जिला प्रशासन को ग्रामीणों ने बताया कि बेघर हो चुके हैं। हमारे पास जमीन भी नहीं है। ना ही पेट भरने का कोई साधन ही है। ऐसे में हम लोगों पर शासन रहम करे।

               बरसात में हम परिवार के साथ झोपड़ी बनाकर रहने को मजबूर है। हम लोगों को विस्थापित किए गए स्थान पर मकान बनाने की अनुमति दी जाए।

loading...
loading...

Tags:,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...