सवा लाख छात्र छात्राओं को राहत..प्रश्न पत्र समेत आनलाइन मिलेंगी कापियां.. विजय ने बताया..टल जाएगा संक्रमण का खतरा..कालेज से मिलेगा छुटकारा

बिलासपुर— अटल विश्वविद्यालय से संबद्ध परीक्षार्थी छात्र-छात्राओं को अब उत्तर पुस्तिकाएं लेने के लिए कालेजों चक्कर नहीं लगाना  पड़ेगा। 16 सितंबर से शुरू होने वाली परीक्षाओं के लिए अटल विश्वविद्यालय से संबद्ध 180 कॉलेजों के छात्र छात्रों को अब घर बैठे उत्तरपुस्तिका और प्रश्नपत्र मिल जाएगा। परीक्षार्थियो के हितों को ध्यान में रखते हुए विश्वविद्यालय ने फरमान भी जारी कर दिया है। सभी परीक्षा का प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिका विश्वविद्यालय मेल से ऑनलाइन भेजेगा। 
 
                   जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष विजय केशरवानी के प्रयास के बाद कुलपति डॉ.गौरीदत्त शर्मा ने परीक्षार्थियों के हितो को ध्यान में रखते हुए नया फरमान जारी किया है। विजय केशरवानी ने बताया कि विश्वविद्यालय से सम्बन्ध सभी कालेजों के छात्र छात्राओं को आनलाइन प्रश्न पत्र भेजा जाएगा। इसके अलावा उत्तर पुस्तिका लेने भी कालेज नहीं जाना पड़ेगा। 
 
             मामले में कांग्रेस नेता विजय केशरवानी ने बताया कि शहर के सभी कॉलेजों में परीक्षार्थियों की लंबी-लंबी कतारें देखने को मिल रही है। लम्बी कतारों के चलते विद्यार्थी ना केवल कोरोना संक्रमण से बल्कि धक्कामुक्की और परिवहन व्यवस्था को लेकर परेशान है। जबकि प्रदेश मुखिया और सरकार का स्पष्ट निर्देश है कि सभी लोग दिशा निर्देशों का पालन करते हुए कोरोना से खुद का बचाव करें।
 
               बताते चलें कि 16 सितम्बर से अटल विश्वविद्यालय से सम्बन्ध कालेजों की परीक्षा शुरू होने वाली है। विश्वविद्यालय प्रबंधन ने सभी छात्रों को फरमान जारी कर सम्बन्ध कालेजों से उत्तर पुस्तिका लेने का निर्देश दिया था। जबकि छात्रों ने फरमान का ना केवल विरोध किया था। बल्कि प्रबंधन को बताया भी कि कोरोना संक्रमणकाल में विश्वविद्यालय का फरमान भारी पड़ सकता है।
 
             छात्रों के आकोश और हितों का ध्यान रखते हुए जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने विश्वविद्यालय के कुलपति से मुलाकात कर वस्तु स्थिति की जानकारी दी। केशरवानी ने कुलपति को बताया कि कोरोना संक्रमण के मद्देनजर छात्रों का उत्तरपुस्तिका लेने कालेज जाना खतरनाक साबित हो सकता है। आदेश के अनुसार छात्र छात्राएं एक बार शहर के विभिन्न का लेजों में उत्तर पुस्तिकाएं लेने जाएंगे। इसके बाद जमा करने पहुंचेंगे। इससे परीक्षार्थियों में संक्रमण का खतरा बढ़ना निश्चित है।
 
            कुलपति से मुलाकात के दौरान विजय केशरवानी ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि 1लाख 25 हजारों छात्रों तक प्रश्न पत्र ऑनलाइन मेल से भी भेजा जा सकता है। उत्तर पुस्तिका के प्रथम पेज जिसमें रोल नंबर  लिखा रहता है और  द्वितीय पृष्ठ को सभी परीक्षार्थियो  को ऑनलाइन मेल से भेजा जा सकता है। ऐसा करने से परीक्षार्थियों को ना केवल आने जाने से छुटकारा मिलेगा। बल्कि संक्रमण की संभावनाओं से बचेंगे।
 
             विजय ने बताया कि कुलपति ने सुझाव को गंभीरता से लिया है। उन्होने प्रबंधन से छात्रों को प्रश्न पत्र की तरह ही उत्तरपुस्तिका का प्रथम और द्वितीय पृष्ठ ऑनलाइन मेल करने को लेकर फरमान भी जारी कर दिया है। केअब परीक्षार्थियों को उत्तर पुस्तिका का पहला और दूसरा पेज छोड़कर बाकी 32 पेज अपनी तरफ से जोड़ना होगा। प्रश्न पत्र हल करने के बाद उत्तर पुस्तिका की पीडीएफ फाइल बनाकर कॉलेजों को भेजना होगा।  मामले में केवल चंद परीक्षार्थियों को ही अपवाद स्वरूप उत्तर पुस्तिकाएं लेने और जमा करने कालेज आना पड़ेगा। ऐसा उन छात्रों को करना होगा। जहां नेटवर्किंग की समस्या है।
 
                 विजय ने जानकारी दी कि अब अटल यूनिवर्सिटी से संबंध्ध 180 कालेजों के लगभग 1लाख 25 हजार परीक्षार्थी छात्र-छात्राओं के सामने 16 सितंबर से शुरू हो रही परीक्षाओं के लिए उत्तर पुस्तिका लेने कॉलेजों का चक्कर नहीं काटना होगा। न ही उत्तर पुस्तिका जमा करने को लेकर परेशान होना पड़ेगा।
loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...