खोले जाएंगे चालिस प्रदूषण जांच केन्द्र

yatayat sambandhi batak collecter dwaraबिलासपुर—जिले की सड़कों पर चलने वाले दुपहिया-चारपहिया वाहनों में प्रदूषण की जांच सख्ती से की जायेगी। निर्धारित मानकों का पालन नहीं होने पर 500 रूपये जुर्माना लगाया जायेगा। सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।

                 मंथन सभाकक्ष में कलेक्टर की अध्यक्षता में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित की गई। इस मौके पर निर्णय लिया गया कि जिले में 40 प्रदूषण जांच केन्द्र खोले जायेंगे। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी ने बताया कि जिले में 01 लाख 85 हजार वाहनों के आधार पर पूर्व में 7 जांच केन्द्र खोले गये हैं। वर्तमान में गाडि़यों की संख्या 4 लाख 12 हजार हो चुकी है। इन वाहनों में लगभग 30 प्रतिशत बिलासपुर शहर और आसपास चलते हैं। वाहनों की संख्या में तीन गुना बढ़ोत्तरी को देखते हुए प्रदूषण जांच केन्द्रों की संख्या बढ़ाने की जरूरत है।

                    कलेक्टर ने निर्देशित किया कि माह फरवरी तक कम से कम 20 केन्द्रों का संचालन प्रारंभ हो यह सुनिश्चित करें। चार पहिया वाहनों के डीलरों और  पेट्रोल पंम्पों में प्रदूषण जांच केन्द्र खोले जायेंगे। सभी विकासखण्ड मुख्यालय स्थित पेट्रोल पंप में भी खोले जायेंगे। भारी वाहनों में प्रदूषण जांच के लिए मोबाइल केन्द्र संचालित किये जायेंगें।

                  बैठक में स्कूल बस संचालन के संबंध में शासन ने मोटरयान नियम 1994 में किये गये संशोधन की जानकारी समिति के समक्ष सामने रखी।  स्कूल बस अनुज्ञा पत्र के लिए 76 ’ख’ एवं 76 ’ग’ के तहत् नई शर्तें जोड़ दी गई हैं। शर्तों को लागू कर दिया गया है।

                    कलेक्टर ने निर्देशित किया कि स्कूली बच्चों का परिवहन करने वाले आटो रिक्शा एवं वैन की जांच करने पुनः अभियान चलाये और क्षमता से अधिक बच्चे बैठाने वाले वाहनों पर कड़ी कार्यवाही करें। स्कूल बसों में निर्धारित मापदण्डों के अनुरूप ड्रायवर नियुक्त हो, इसकी जांच निरंतर करें। नियोक्ताओं से इस संबंध में शपथ पत्र भी लें।

                    बैठक में सिटी बसों के रूट फार्मेशन के प्रस्ताव भेजने का निर्णय लिया गया। नगर निगम आयुक्त रानू साहू ने बताया कि वर्तमान में 39 बसें 12 रूटों में चल रही हैं। 11 बसें और आयेंगी। बैठक में मांग अनुरूप नये रूटों पर बस चलाने के लिए शासन को प्रस्ताव भेजने का निर्णय लिया गया। कलेक्टर ने कहा कि हाईकोर्ट से राजकिशोर नगर तक सिटी बस की मांग को देखते हुए सुबह और शाम दो समय इन रूटों पर सिटी बस चलाये जायेंगे। इसके साथ ही सिरगिट्टी, दीनदयाल कालोनी मंगला आदि क्षेत्रों में भी सिटी बस चलाने की योजना है।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...