अंतागढ़ काण्ड भाजपा का पायलट प्रोजेक्ट-भूपेश

IMG_20160210_113426बिलासपुर—- अंतागढ़ चुनाव भाजपा का पायलट प्रोजेक्ट था। यदि इसका खुलासा नहीं होता तो छोटे राज्यों में सत्ता परिवर्तन का विभत्स खेल सबके सामने आता। अंतागढ़ चुनाव में प्रत्याशी खरीद फरोख्त हुआ है। इसकी जानकारी हमें थी। हमने इसकी शिकायत चुनाव आयुक्त से भी की। इस प्रकार का खेल लोकतंत्र के लिए बहुत घातक है। खासकर ऐसे राज्य जहां सीटों की संख्या कम है। अंतागढ़ में लोकतंत्र की हत्या हुई है।

              लोगों को समझाने के लिए ही कांग्रेस ने संभागीय मुख्यालयों में नुक्कड़ नाटक का मंचन कर सरकार का चेहरा बेनकाब करने का निर्णय लिया है। 8 फरवरी को रायपुर में 9 फरवरी को अंबिकापुर में आज बिलासपुर और 16 फरवरी को जगदलपुर में नुक्कड़ नाटक और आमसभा का निर्णय लिया है। यह बातें कांग्रेस कार्यालय में पत्रकारों से जवाब सवाल के दौरान पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कही। उन्होने कहा कि अंतागढ़ चुनाव टेपकाण्ड में ड़ा.गुप्ता, जोगी राजेश मूणत का नाम आया है। मुख्यमंत्री की भूमिका भी है।

            पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि कांग्रेस की राष्ट्रीय इकाई ने चुनाव आयोग से पत्र लिखकर अंतागढ़ चुनाव और उत्तरप्रदेश के संत कबीर नगर चुनाव की सीबीआई को सौंपने की मांग की है। भूपेश बघेल ने बताया कि अंतागढ़ चुनाव टेपकाण्ड को यदि कांग्रेस पार्टी सामने नहीं लाती भाजपा का पायलट प्रोजेक्ट साबित होता। यदि भाजपा अपने मंसूबों में कामयाब हो जाती तो। छोटे राज्यों में लोकतंत्र की हत्या हो जाती। उन्होने कहा कि सरकारी तंत्र का अंतागढ़ चुनाव में जमकर उपयोग किया गया। दस प्रत्याशियों को डराकर बैठा दिया गया। कांग्रेस प्रत्याशी को लालच देकर रास्ते हटाया गया। इससे लोकतंत्र को गहरा धक्का लगा है।

               भूपेश बघेल ने सीजी वाल के सवाल पर बताया कि बस्तर में नक्सलियों के नाम पर स्थानीय लोगों को परेशान किया जा रहा है। पुलिस के प्रति लोगों में गहरा आक्रोश है। समर्पण के नाम पर जमकर नोट बांटे जा रहे हैं। पत्रकारों को सही खबर लिखने के नाम पर प्रताडित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि समर्पण के नाम पर ठोंग की राजनीति चल रही है। किसी को भी गिरफ्तार कर कुख्यात नक्सली बताया जा रहा है। सरकार और पुलिस पहले बताए तो सही कि कौन व्यक्ति किस घटना में शामिल था।

                     एक प्रश्न का उत्तर देते हुए भूपेश ने कहा कि कांग्रेस के लगातार आंदोलन कर सरकार को झुकने के लिए विवश किया है। चाहे संपत्ति कर मामला हो या राशन कार्ड मामला। धान खरीदी समय बढ़ाने की बात हो या फिर मुआवजा राशि की बात हो। कांग्रेस ने सरकार तो जनता हित में झुकने के लिए मजबूर किया है। उन्होने कहा कि कांग्रेस के लगातार विरोध के बाद ही मनरेगा का एक बार फिर शुरू हुआ है।

IMG_20160210_113426

                           अनिल टूटेजा के मार्मिक पत्र के सवाल पर भूपेश ने कहा कि जब उन्हें पता चल गया है कि बचने की कोई गुंजाइश नहीं रही तो तो अब मार्मिक पत्र का ढोंग किया जा रहा है। उन्हें पहले लगता था कि मुख्यमंत्री बचा लेंगे अब ऊपर से ही कार्यवाही का आदेश हो गया है तो अनिल टूटेजा पत्र लिखकर लोगों को इमोशनल करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होने यदि ऐसा किया ही नहीं होता तो शायद पत्र लिखने की जरूरत नहीं होती।

               भूपेश बघेल ने कहा कि अजीत जोगी को निष्कासित किया गया है। अजीत जोगी पर कार्यवाही की प्रक्रिया राष्ट्रीय कमान के हाथ में है। मुझे स्पष्टीकरण के लिए पत्र मिला है। उसका जवाब भी दूंगा। अमित जोगी का मरवाही में नागरिक अभिनंदन के सवाल पर भूपेश ने बताया कि उनका स्वागत कौन कर रहा है इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। भूपेश ने कहा कि कांग्रेस में कोई गुट नहीं है।

             नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने भी पत्रकारों के सवालों का जवाब दिया । भूपेश ने कहा कि इस बार बजट सत्र मात्र 19 दिन का होगा। पहला दिन गवर्नर के संबोधन के साथ खत्म होगा। बचे अठारह दिन बजट सत्र के लिए पर्याप्त नहीं है। सिंह देव ने कहा कि मुख्यमंत्री बहुमत के चलते विपक्ष की किसी बात को सुनने के लिए तैयार नहीं है। कांग्रेस पार्टी सदन में मुआवजा,संपत्तिकर,बिजली दर में बृद्धि, फसल बीमा,मनरेगा समेत कई मुद्दों को संजीदगी के साथ उठाएगी।

         सिंहदेव ने बताया कि अंतागढ़ टेपकाण्ड पर भी जवाब मांगा जाएगा। बोनस और किसान आत्महत्या जैसे गंभीर मुद्दों को प्रमुखता के साथ उठाया जाएगा। टीएस बाबा ने कहा कि बस्तर में नक्सल सुरक्षा के नाम पर पत्रकारों के साथ हो रही ज्यादती को भी सदन में रखा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *