नहीं चाहिए, प्रत्याशी बेचने वाला नेता..अटल

CONGRESS BAITHAK 002बिलासपुर— जिला कांग्रेस कमेटी और प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव ने जोगी के बयान की निंदा की है। अक्रोशित नेताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कहा कि उनकी गलत नीतियों के कारण ही प्रदेश में 12 साल से भारतीय जनता पार्टी की सरकार है। कांग्रेस नेताओं ने एक दिन पहले पत्रवार्ता में पीसीसी अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष के खिलाफ दिये गए जोगी के बयान की जानकारी राष्ट्रीय नेताओं को भेजा है।

                                  मालूम हो कि एक दिन पहले पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने बिलासपुर में पत्रवार्ता में कहा था कि प्रदेश नेतृत्व के पास जितनी बुद्धि है उतना कार्य हो रहा है। जोगी ने वार्ता के दौरान कांग्रेस नेतृत्व के लिए नकारा शब्द का भी प्रयोग किया था। आज जिला कांग्रेस नेताओं ने जोगी के वयान की निंदा की है। पीसीसी महामंत्री अटल श्रीवास्तव ने बताया कि जोगी के बयान की जानकारी अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी तक पहुंचा दी गयी है। उन्होने कहा कि अखबारों और अन्य माध्यमों से जोगी के बयान की जानकारी मिली है। बयान की हम निंदा करते हैं।मिडिया को दिये बयान की कापी राष्ट्रीय कांग्रेस कमेटी को भेजा दिया गया है। साथ ही जोगी प्रकरण पर जल्द निर्णय करने का जिला कांग्रेस ने निवेदन किया है।

                  बयान की कड़ी निंदा करते हुए प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव, जिला अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला, नरेन्द्र बोलर, प्रदेश सचिव महेश दुबे, रामशरण यादव ने संयुक्त बयान में कहा कि प्रदेश का नेतृत्व और नेताप्रतिपक्ष राष्ट्रीय नेतृत्व तय करता है। भूपेश बघेल और टी.एस.सिंहदेव सोनिया और राहुल गांधी के आदेशानुसार अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष बनाए गए हैं। उन्हे नकारा कहना सोनिया और राहुल गांधी के फैसले को चुनौती देना हैं।

                             नेताओं ने कहा कि भूपेश बघेल और टी.एस.सिंहदेव के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं में उत्साह है। प्रदेश सरकार के खिलाफ लगातार घोटालों के उजागर करने, सड़क से लेकर सदन तक की लड़ाई लड़ने में नेतृत्व सफल रहा है। जिसका परिणाम है कि छत्तीसगढ़ की जनता, किसान और आम आदमी से कांग्रेस को लगातार पूरा समर्थन मिल रहा है। इसके परिणाम प्रदेश में हुये त्रिस्तीय पंचायत चुनाव नगरीय निकाय चुनावों में भी दिखाई दिया है।

                        नेताओं ने कहा कि बयान देने वाले पूर्व मुख्यमंत्री को अपना कार्यकाल याद करना चाहिए।  जिनकी वजह से  कांग्रेस पिछले 12 साल से विपक्ष में बैठी है। जहां तक पूर्व मुख्यमंत्री के बयान की बात है तो हम इतना ही कहंगे कि भगवान कम से कम प्रदेश नेतृत्व को ऐसी बुद्धी ना दे जिससे कांग्रेस प्रत्याशी को बेचने पड़े। ऐसी बुद्धी बयान देने वाले को मुबारक हों।  जो लोग पार्टी को नुकसान पहुंचा रहे हैं जिनके कारण कांग्रेस सत्ता में वापस नहीं आ रही है…जो सिर्फ और सिर्फ अपने परिवार के लिए राजनीति कर रहे है…वे लोग प्रत्याशी को बेचते हैं..ऐसे लोग कम से कम प्रदेश नेतृत्व और शीर्ष नेतृत्व की बुद्धी और संविधान ज्ञान की चिंता ना ही करें।

              संभागीय प्रवक्ता अभय ने जोगी के बयान पर चुटकी लेते हुए कहा कि पूरे जिले में कांग्रेस के 26 हजार प्राथमिक सदस्य हैं। ऐसे में अजीत जोगी का कहना है कि मरवाही,गौरेला,पेन्ड्रा में अमित जोगी के स्वागत में 20 हजार कांग्रेस के सदस्य उपस्थित थे। क्या उन्हें भी कांग्रेस से निकाला जाएगा। अभय ने कहा कि बयान देने से पहले जोगी जी को समझना चाहिए कि वह बोल क्या रहे हैं। जानना जरूरी है कि गौरेला, पेण्ड्रा और मारवाही में कांग्रेस के कितने प्राथमिक सदस्य है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...