फर्जी कंपनियों ने लूटा सुख चैन..पुलिस निष्क्रिय

CIVIL LINE THANAबिलासपुर— धोखा धडी करने का एक और मामला सामने आया है। सनसाईन इंफ्राबिल्ट कारपोरेशन लिमिटेड हजारो लोगो का रूपया लेकर फरार हो गया है। सुपर मार्केट में तीन साल से संचालित कम्पनी ने हजारो एंजेन्टो से पांच से  6 करोड रूपये का चूना लगाया है। पीडितो ने रायपुर स्थित कंपनी कार्यालय पहुंचकर अपना जमा पूंजी के लिए फेरा लगाया लेकिन वहीं  कम्पनी को कोई भी कर्मचारी नजर नहीं आया।  आखिर में कम्पनी के भागने की शिकायत लेकर पहुचे 20 लोगो ने सिविल लाइन थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई है।

                    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सुपर मार्कैट अग्रसेन चौक स्थित सनसाईन इंफ्राबिल्ट कारपोरेशन लिमिटेंड ने अनेको आकर्षक योजनाओ के तहत छः माह में रूपयो को दुगुना और तीगुना रकम करने का झांसा देकर लोगो  को 5 करोड से अधिक रुपये का चूना लगाया है। कम्पनी के पदाधिकारी ग्राहकों के पैसे लेकर फरार हो गये हैं।

                   पीड़ितों के अनुसार बिलासपुर में कंपनी का संचालन मनोज करता था। कंपनी का वह मेनेजर था उसके पास ही हम लोग पैसा जमा करते थे। लेकिन  पिछले दो साल से वह फरार है। सिविल लाइन पुलिस को मिली शिकायत के अनुसार मनोज यादव ने खुद और अन्य लोगो से कुल 6 लाख रुपये चिंडफंड कम्पनी के खाते में जमा करवाया है। गंगाराम धीवर ने 14 लाख, राजकुमार कुम्भकार 6 लाख, शिव प्रसाद यादव ने 50 हजार, योगेश तिवारी 55 हजार कुमार कौशिक 76 हजार, शुशीला मानिकपुरी 7 लाख 50 हजार, और पथरिया निवासी एक व्यक्ति ने 30 लोगो से 4 लाख रूपये जमा करवाये हैं।

                   शिकायत करने पहुंचे राम अवतार यादव ने बताया कि उसने पांच लाख, जसराम ने 6 लाख रूपये कम्पनी में जमा करवाये है। ठंगी के शिकार एंजेन्टो ने बताया की सन साईन इंफ्राबिल्ट कारपोरेशन लिमिटेंड कम्पनी के संचालक दिल्ली और ग्वालियर में रहते है। संचालकों का नाम वकील सिंह बघेल और बनवारी बघेल है। दोनो रायपुर और अन्य जगहो पर आयोजित सेमीनार में आये थे। उन्होने इस दौरान एंजेन्ट बनने पर अच्छी कमीशन देने की बात कही थी।

               पीड़ितों ने बताया कि स्कीम में रूपये लगाने से रकम दो गुना दिये जाने की बात संचालकों ने की थी। बेरोजगारी की मार झेल रहे पीड़ित अब अपने आपको ठगा महसूस कर रहे हैं। उन्होने बताया कि अपने गांव और रिस्तेदारो से भी रूपये लगवाने का दबाव उन लोगों ने ही बनाया था। लेकिन अब कम्पनी सबको धोखा देकर फरार हो गयी है। मामले में सिविल लाइन पुलिस अपराध दर्ज कर जांच के बाद कार्रवाई करने की बात कह रही है।

एसपी से शिकायत

       चिंडफंड करने वाले कंपनियों के खिलाफ सीजी वाल की टीम ने एक बार कलेक्टर अभिषेक पाठक को मिलकर जानकारी दी थी। सीजी वाल ने बताया कि तारबाहर थाना स्थित कृष्णा कांम्पलेक्स में पन्ना पायनेंस कम्पनी भोले भाले ग्रामीणों को एंजेट बनाकर प्रति महीन दो हजार रूपए जमा करवाता है। कंपनी का काम धाम अंबिकापुर और दुर्ग में भी चलता है। फर्जी वाड़े की सारी जानकारी सीजी वाल ने पुलिस कप्तान को दिया बावजूद इसके अभी तक किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गयी है।

                सीजी वाल की टीम ने पुलिस कप्तान को अंबिकापुर,दुर्ग और बिलासपुर के ठिकानों की जानकारी भी दी। बावजूद इसके पुलिस ने ध्यान नहीं दिया। यदि पन्ना कंपनी करोड़ों का चूना लगाए तो कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *