महिलाओं से ज्यादती..बिलासपुर आगे..जोगी

AMIT JOGIरायपुर–राज्य सरकार की पुलिस का महिलाओं के प्रति रवैया कैसा है, यह जवानों के विरूद्ध राज्य भर के थानों में पंजीबद्ध प्रकरणों से स्पष्ट होता है। भाजपा सरकार के राज में छत्तीसगढ़ की महिलाओं की स्थिति काफी दयनीय है। यह बातें मरवाही विधायक अमित जोगी ने गृहमंत्रालय से जानकारी मिलने के बाद पत्रकारों से कही है।

अमित जोगी ने बताया कि राज्य में पिछले दस माह में सभी जिलों में पुलिस जवानों के विरूद्ध पंजीबद्ध प्रकरणों में बिलासपुर जिला सबसे आगे है। दूसरे नंबर पर दुर्ग और मुख्यमंत्री का गृह जिला तीसरे स्थान पर है। गृह मंत्रालय से मिली जानकारी को आधार मानते हुए जोगी ने बताया कि कुल 84 घटनायें महिलाओं के जवानों से जुड़े हैं। लेकिन 30 घटनाओं को ही पंजीबद्ध किया गया है। उसमें से सिर्फ 17 प्रकरणों को न्यायालय में प्रस्तुत किया गया है।  84 में से 54 शिकायतों को जांच में ही रफा दफा कर दिया गया है। 22 मामलों में जांच लंबित है मतलब मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है।

            जोगी ने बताया कि गृहमंत्रालय से मांगी जानकारी और जवाब के अनुसार  दर्ज अपराधों की प्रकृति पर नजर डाले तो तस्वीर भयावह  है। 10 माह में बलात्कार के 16 मामले पंजीबद्ध है। जिसका संबध सीधे पुलिस से है। हत्या प्रयास के 2  और  दहेज प्रताड़ना के 4 मामले दर्ज है।

अमित जोगी ने बताया कि यह वह प्रकरण है जिनमें पीडि़त पक्ष थानों में अपनी शिकायत दर्ज करवाने में सफल रहा है। छत्तीसगढ़ के थानों की हालत से जो लोग वाकिफ है, वे जानते है कि एक शिकायत दर्ज करवाने के लिए प्रार्थी को कितना पापड़ बेलना पड़ता है।यदि शिकायत पुलिसवाले के खिलाफ हो तो.. अपराध  पंजीबद्ध होने का सवाल ही नहीं उठता है।

जोगी ने बताया कि गृहमंत्रालय से मिले दस्तावेज से स्पष्ट है कि भाजपा राज में भय और आतंक का माहौल है। राज्य की कोई महिला सुरक्षित नहीं है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...