शरीयत कानून अल्लाह का बनाया..रिजवी

rijaviरायपुर—-पाठ्य पुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष, इकबाल अहमद रिजवी, प्रदेश कांग्रेस महामंत्री, अब्दुल हमीद हयात, मदरसा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष, हसन खान और प्रदेश अल्पसंख्यक कांग्रेस विभाग के पूर्व अध्यक्ष हाजी शेख नाजिमुद्दीन ने संयुक्त बयान जारी कर विधान सभा में समान नागरिक संहिता के चुपके से पारित संकल्प पर नाराजगी जाहिर की है।

                  नेताओं ने अपने संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि  यह कृत्य प्रदेश की भाजपा सरकार की सत्ता और बहुमत के दुरूपयोग की ओर इशारा करता है।  इसके पीछे मुख्यमंत्री गोपनीय एजेंडा स्पष्ट दिखाई देता है।

                          कांग्रेस नेताओं ने बताया कि संकल्प अव्यवहारिक और वर्ग विशेष की भावनाओं को आहत करने वाला है। देश की एकता और अखंडता के लिए खतरा है। संकल्प भाजपाई और राष्ट्रीय स्वयं संघ की फूट डालों और राज करो की नीति को उजागर करता है। गैर वाजिब संकल्प ने देश में पनप रहे अलगाववादी तत्वों के इरादों को मदद पहुंचाने वाला है। इससे देश के शांत और सौहाद्रपूर्ण वातावरण पर विपरीत प्रभाव पड़ेगा।

                       कांग्रेस नेताओं ने कहा कि प्रस्ताव भाजपा की मानसिकता जाहिर करती है। भाजपा को वर्ग विशेष के विरूद्ध ऐसे प्रस्तावों से केवल थोथी एवं क्षणिक लोकप्रियता की प्राप्ति हो सकती है। भाजपा भली भांति जानती है कि भविष्य में उनके भाग्य से अब छींका टूटने वाला नहीं है। यह पारी भाजपा की अंतिम पारी है। शरीयत कानून अल्लाह का बनाया हुआ कानून है। जिसको कुरान शरीफ प्रमाणित करता है। दुनिया की कोई ताकत बदल नहीं सकती है। मधुमख्खी के छत्ते में पत्थर मारने वाला ही पहला शिकार होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *