पूर्व कुलपति खोखर के घर पहुंची सीबीआई

ggdu campusबिलासपुर–गुरूघासी दास केन्द्रीय विश्वविद्यालय में दूसरे दिन भी सीबीआई की कार्रवाई हुई। भिलाई से पहुंची सीबीआई की 14 सदस्यीय टीम ने समूह में बंटकर  कार्रवाई की। तीनों टीमे जुलाजी विभाग की सीमा राय के घर और कार्यालय समेत आईटी के शैलेन्द्र कुमार के घर में दस्तावेजो की अलग-अलग छानबीन की। जबकि सीबीआई की एक समूह ने तत्कालीन रजिस्ट्रार एंव प्रभारी कुलपति एमएस खोखर के घर पर छापा मारा। जानकारी के अनुसार टीम के कुछ सदस्य अपना काम करने के बाद रात को वापस हो गए। जबकि टीम के कुछ सदस्य आज भी शहर में कागजात खंगालने में लगे रहे।

                  सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार एमएस खोखर के घर से सीबीआई टीम ने दस्तावेज  बरामद करने के अलावा गाडियो की सूची तैयार की है।टीम ने एमएस खोखर के घर से कुछ बेनामी सम्पत्ती के दस्तावेज भी बरामद किये है। बेनामी सम्पत्ति को लेकर रिश्तेदारो से भी पूछताछ होगी। एक दिन पहले कार्रवाई के बाद सीबीआई टीम ने प्राणिशास्त्र और आईटी के प्राध्यापकों से नियुक्ती को लेकर पूछताछ की है।

                     आईटी प्रोफेसर शैलेन्द्र कुमार और जुलाजी प्राध्यापक सीमा राय की नियुक्ती रीडर के रुप में हुई थी। बाद में  प्रमोशन देकर प्राध्यापक बनाया गया। नियमानुसार दोनों प्राध्यापकों को वर्तमान पद के लिए कम से कम  5 साल का अनुभव होना जरूरी है। बावजूद इसके तत्कालिन कुलपति लक्ष्मण चतुर्वेदी के समय दोनों को नियम विरूद्ध रीड़र से प्राध्यापक बना दिया गया।

                                 मामले की शिकायत के बाद सीबीआई की टीम ने गुरूघासी दास केन्द्रीय विश्वविद्यालय जांच कर रही है। एक दिन पहले छापामार कार्रवाई में शैलेन्द्र कुमार के निवास से कुछ दस्तावेज बरामद हुए हैं। सीमा राय के कार्यालय से भी सीबीआई की टीम ने जरूरी दस्तावेजों को जब्त किया है।

नियुक्ति पर विवाद

                     केन्द्रीय विश्वविद्यालय में आईटी विभाग के डायरेक्टर शैलेन्द्र कुमार की नियुक्ती को लेकर शुरू से ही विवाद है। प्रोफेसर की योग्यता में पांच साल का अनुभव महत्वपूर्ण है। लेकिन शैलेन्द्र को रीडर नियुक्त होने के एक माह बाद ही आईटी विभाग का प्रोफेसर बना दिया गया। शिकायत के बाद सीबीआई की टीम ने केन्द्रीय विश्वविद्यालय से शैलेन्द्र कुमार का नियुक्ती पत्र जब्त किया है। स्कूटनी कमेटी ने एनई यानी नॉट एलिजिबल बताया है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...