बरूआ का नया पैंतरा… गुम हुई लॉकर की चाभी

IMG-20160412-WA0014बिलासपुर—एन्टी करप्शन ब्यूरो की टीम मंगलवार को नगर निगम के सहायक अभियंता सुरेश बरुआ के बेटे अभय बरुआ के साथ कर्नाटका बैंक लिमिटेड में लॉकर खोलने पहुची। चाभी नहीं होने के कारण लॉकर नही खोला जा सका है। अभय बरुआ ने एसीबी टीम को बताया कि लॉकर की चाबी उससे कहीं गुम हो गयी है।  बैंक शाखा प्रबंधक ने एक्सपर्ट से लॉकर खोलने की बात कही है।

                       9 अप्रैल को बिलासपुर स्थित पांच अधिकारियों के ठिकानों पर छापामार की। नगर निगम के सहायक यंत्री सुरेश बरुआ के ठिकाने से एसीबी को छापामार कार्रवाई के दौरान अनुपातहीन संपत्ति का होना पाया है। एंटी करप्शन ब्यूरो को छापमार कार्रवाई के दौरान पिता और पुत्र का बैंकों खाता होने  के अलावा बैंक ऑफ कर्नाटका में लॉकर होने की जानकारी मिली।

                      रायपुर से आई एसीबी की चार सदस्यीय टीम अभय बरुआ को लेकर कर्नाटका बैंक पहुंची। बैंक आने के बाद अभय बरुआ ने एसीबी अधिकारियों को बताया कि लॉकर की चाभी गुम हो गयी है। इसलिए वह लाकर नहीं खोल सकता है। एसीबी के अधिकारियों ने बैंक के ब्रांच मैनेजर कृष्ण किशोर से इस मामले में बात की।  ब्रांच मैनेजर ने अधिकारियों को बताया कि कुछ कागजी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद लॉकर को बैंक खोल सकता है।

                         एसीबी अधिकारियों ने अब बैंक की मदद से लॉकर खोलने का निर्णय लिया है। खबर लिखे जाने तक लाकर नहीं खुला था। मालूम हो कि सुरेश बरुआ के बेटे अभय बरूआ के नाम पर काफी बड़ी रकम निवेश है। छापामार कार्रवाई के दौरान एसीबी को जानकारी मिली है।  बरुआ का सिंह इंटरप्राइजेज के नाम से कम्पनी चलता है। कम्पनी का पार्टनर अभय बरूआ का ड्राइवर मनोज यादव है। मनोज यादव के नाम पर सरकंडा में 10 हजार वर्गफीट जमीन है। सभी दस्तावेज एसीबी टीम ने बरामद किया है।

                            सोमवार को एसीबी टीम ने घरघोड़ा नगर पंचायत सीएमओ अरुण शर्मा के सरकंडा स्थित निवास पर तलाशी ली थी। शर्मा के घर से टीम को 300 ग्राम सोना मिला है। अरुण शर्मा की पत्नी अंजली शर्मा के लिंक रोड स्थित एचडीएफसी बैंक में लाकर है। लाकर में एसीबी को 340 ग्राम सोना मिला। इनकी कीमत तकरीबन 18 लाख रुपए बतायी जा रही है। नागरिक आपूर्ति निगम की अतिरिक्त संचालक दयामणि मिंज के स्टेट बैंक के लॉकर से एसीबी को 40 हजार रुपए नगद मिले है। मिंज ने बताया कि उन्होंने लॉकर का इस्तेमाल बंद कर दिया था। बैंक को भी इस बात की जानकारी है। मिंज का अपेक्स बैंक में भी लाकर है लेकिन एसीबी को वहां से कुछ नहीं मिला।

                   एसीबी की टीम ने जांच के दौरान पाया कि मिंज उसके पति और परिवार के सदस्यों के नाम पर करीब 60 लाख रुपए का फिक्स डिपॉजिट हैं। सीएमओ अरुण शर्मा के पास और भी दस्तावेज पुलिस ने बरामद किए हैं। जानकारी के अनुसार अरूण शर्मा का सीपत रोड में 10 एकड़ कृषि भूमि है।  डंगनिया, रायपुर में भी मकान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *