कर्मचारियों के समर्थन में कांग्रेस की चेतावनी

congress- panjaबिलासपुर—108 और 102 कर्मचारी कल्याण संघ के हड़ताल को कांग्रेस ने समर्थन किया है। कांग्रेस ने कर्मचारियों के समर्थन में उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। जीवीके के खिलाफ चौथे दिन नेहरू चौक पर धरना पर बैठे कर्मचारियों के ठिकाने पर पहुंचकर कांग्रेस ने अंतिम समय तक धरने का समर्थन करने की बात कही है।

                             102 और 108 के धरना स्थल पर पहुंचकर कांग्रेसियों ने कर्मचारियों का समर्थन किया है। बर्खास्त कर्मचारियों को फिर से बहाल करने की मांग का समर्थन किया है। मालूम हो कि हैदराबाद की जीवीके ईएमआरआई कम्पनी ने  240 लोगों को कार्य से निकाल दिया है। नाराज कर्मचारियों ने के विरोध में 6 सूत्रीय मांग को लेकर चार दिन से हड़ताल पर हैं। स्थानीय नेहरू चौक पर अनिश्चित कालीन धरने पर बैठे कर्मचारियों के मांग का कांग्रेस ने समर्थन किया है।

                      कांग्रेस के सभागीय प्रवक्ता अभय नारायण राय ने बताया कि कांग्रेस पार्टी कर्मचारियों के मांगों का समर्थन करती है। अभय ने  जीवीकेईएमआरआई कम्पनी को चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि कर्मचारियों के 6 सूत्रीय मांग और बर्खास्त 240 कर्मचारियों को को बहाल नहीं किया जाता है  तो कांग्रेस कंपनी को प्रदेश से भागने को मजबूर कर देगी।

                       कांग्रेस ने स्वास्थ्य मंत्री स्थानीय जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग और भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की भीsanjivaniexpress_30_05_2015 आलोचना की है। 4 दिन से लगातार धरने पर बैठे कर्मचारियों और  मरीजों को हो रही परेशानियों को भाजपा ने गंभीरता से नहीं लिया है। 108 और 102 जैसी आवश्यक सेवाएं यूपीए सरकार के कार्यकाल की है। वर्तमान केन्द्र और राज्य सरकार योजना को लेकर गंभीर  नहीं है। 4 दिनों से सेवाएं ठप होने के कारण मरीज और जनता परेशान है। स्वास्थ्य विभाग जीवीकेईएमआरआई कम्पनी पर दबाव बनाने के वजाय अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे कर्मचारियों पर दबाव बना रहा है।

             हड़तालियों पर एफआईआर की धमकी दी जा रही है।गाड़ियों को अनट्रेन्ड लोगों से चलवाया जा रहा है। गाड़ियों के साथ मेडिकल स्टाप भी नहीं हैं। कांग्रेस ने प्रशासन से मांग की है कि समय रहते कम्पनी पर दबाव डालकर श्रम कल्याण के तहत् हड़ताल समाप्त कर कर्मचारियों की मांग पूरी की जाए। अन्यथा कर्मचारियों के समर्थन मे कांग्रेस उग्र आंदोलन करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *