नेता प्रतिपक्ष के घड़ियाली आंसू…अमित

AMIT JOGI--BITE--EXCLUSIVEबिलासपुर—नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव के चक्काजाम कार्रवाई को अमित जोगी ने दिखावा बताया है। अमित जोगी ने कहा कि टीएस कुछ ऐसा ही कर रहे हैं जैसे कोई पहले घाव दे फिर मरहम लगाए। अमित जोगी के अनुसार नेता प्रतिपक्ष का समर्थकों के नाम से अलग.अलग ट्रांसपोर्ट कंपनियां हैं। अडानी समूह के साथ ऊनका व्यापारिक नाता है। अब तक लगभग 350 से ज्यादा ग्रामीण की मौत हो चुकी है। इनमे से कई ट्रकें नेता प्रतिपक्ष के समर्थकों और स्थानीय भाजपाई नेताओं की है। आज तक किसी ने हिम्मत नहीं दिखाई रिपोर्ट लिखाने की। पूरे सरगुजा क्षेत्र में अडानी और पैलेस का राज चलता है।

                                   अमित जोगी ने बताया कि मृतकों को 10 लाख का मुआवज़ा देने की मांग पर चक्का जाम कर नेता प्रतिपक्ष जताने की कोशिश कर रहे हैं कि वह ग्रामीणों के साथ हैं। सच्चाई इसके विपरीत है…नेता प्रतिपक्ष को मारे गए लोगों की इतनी ही चिंता है तो अपनी अरबों की संपत्ति से कुछ पैसे क्यों नहीं दे देते। अमित जोगी ने नेता प्रतिपक्ष से सवाल किया है कि क्या वह 350 से ज्यादा लोगों के मरने का इंतज़ार कर रहे थे। आज चक्का जाम कर घड़ियाली आँसूं बहा रहे हैं।

                            अमित जोगी ने सरकार की भूमिका पर सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार और अडानी के बीच हुए करार में साफ़ उल्लेखित है कि गाँवों के बीच से जाने वाली सड़क को केवल तीन वर्ष तक लिए उपयोग किया जाना चाहिए। इस दौरान अडानी को बाईपास बनाना होगा जिससे ट्रकें गाँवों  में न आये। गाँव के बाहर से सड़क बनाने अडानी को दिए तीन वर्ष अब पांच साल से उपर हो गये हैं। अब तक अडानी ने सड़क नहीं बनाई है । प्रशासन और पैलेस का अँधा समर्थन अडानी को मिल रहा है।

                             अमित जोगी ने सड़क दुर्घटनाओं की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। जोगी ने कहा कि रफ़्तार नियंत्रित करने सभी ट्रॉलों में डिवाइस लगाकर चेक पॉइंट्स बनाना चाहिए। नियम तोड़ने पर परमिट निरस्त होनी चाहिए।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...