भारतीय शिक्षक शिक्षा पोर्टल मे प्रदेश के पाँच जिले

1731रायपुर। छत्तीसगढ़ के पांच जिलों बस्तर, कोरबा, कोरिया, महासमुंद, एवं रायपुर में भारतीय शिक्षक शिक्षा पोर्टल का पायलट प्रोजेक्ट शुरू हो गया है। छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप ने बताया कि पायलेट प्रोजेक्ट के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के पांच जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों द्वारा सफलतापूर्वक डाटा प्रविष्टि भी की गई है। वे आज नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित भारतीय शिक्षक-शिक्षा पोर्टल के औपचारिक शुभारंभ कार्यक्रम में शामिल हुए। कार्यक्रम में केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी, केन्द्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा व प्रो.डा.राम शंकर कठेरिया भी उपस्थित थे।

                    स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा कि भारतीय शिक्षक शिक्षा पोर्टल के माध्यम से देश के सभी जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों (डाईट) का एक केन्द्रीय डाटाबेस तैयार किया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य शिक्षक-शिक्षा की बेहतर मानीटरिंग करना एवं शिक्षक शिक्षा की समस्याओं को जानना है। कश्यप ने बताया कि पोर्टल के माध्यम से शिक्षण प्रशिक्षण संस्थानों की गुणवत्ता संबंधी मानकों पर नजर रखी जा सकेगी एवं शिक्षण प्रशिक्षण संस्थानों हेतु उचित निर्णय लिए जा सकेंगे। साथ ही पोर्टल के पायलट प्रोजेक्ट हेतु सात राज्यों के 35 डाईट का चयन किया गया है। इनमें छत्तीसगढ़ के पांच डाईट शामिल है।

                                कश्यप ने भारतीय शिक्षक शिक्षा पोर्टल (आईटीईपी) पर राज्य की ओर से केन्द्र को महत्वपूर्ण सुझाव देते हुए कहा कि आईटीईपी पोर्टल के माध्यम से 2017-18 के डाईट की वार्षिक कार्ययोजना बनाई जानी चाहिए। आईटीईपी पोर्टल में डाईट के साथ-साथ शिक्षा महाविद्याालय एवं उन्नत अघ्ययन शिक्षण संस्थान, राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद के कार्यक्रमों की भी प्रविष्टि की व्यवस्था होनी चाहिए। शिक्षण प्रशिक्षण संस्थानों द्वारा विकसित किये गये शिक्षक-प्रशिक्षण निर्देशिकाओं व पठन सामग्रियों को भी पोर्टल के माध्यम से साझा किया जाना चाहिए जिससे सभी लाभान्वित हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *